Connect with us

बलिया

बलिया- पिपरा कलां गांव में मारपीट वाली घटना में आया नया मोड़, घायल शख़्स की बेटी ने लगाया बड़ा आरोप !

Published

on

बलिया डेस्क: नरही थाना क्षेत्र के पिपरा कलां गांव में चुनावी रंजिश में कहासुनी के बाद ईंट पत्थर चलने के साथ ही फायरिंग होने वाली घटना में एक नया मोड़ सामने आया है, इस मामले में घायल चंद्रभान सिंह की पुत्री ने बलिया के एसपी को पत्र लिखकर दूसरे पक्ष पर गंभीर आरोप लगाया है साथ ही अपने जीवन की सुरक्षा की भी मांग की है।

दरअसल चंद्रभान सिंह की पुत्री अमृता सिंह ने बलिया एसपी को पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा कि दूसरे पक्ष के लोगों ने हमारे घर वालों के ऊपर लाठी-डंडों के साथ गोलीबारी, फरसा से हमला किये। जिससे मेरे पिता चंद्रभान सिंह बुरे तरीके से घायल हो गये। जिनका इलाज बीएचयू के ट्रामा सेंटर में चल रहा है, जो जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे हैं।

इसके साथ-साथ उन्होंने आरोप लगाया कि मेरे पिताजी जब घायल हुए थे तो, उनके एंबुलेंस को  विपक्षियों के द्ववारा रोका गया और एंबुलेंस में तोड़फोड़ की गई। उन्होंने आगे अपनी सुरक्षा की मांग करते हुए कहा, कि मेरे घर में अभी कोई पुरुष इस वक्त मौजूद नहीं है , उन्होंने पत्र में पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि थाना नरही को लेकर विपक्षी हमारे घर आते हैं और अश्लील हरकत हम बच्चियों के साथ करते हैं घर में तोड़फोड़ और अपमान भी करते हैं।

एसपी को लिखे पत्र में आरोप लगाते हुए कहा कि छत के ऊपर से लोग घर में प्रवेश करते हैं और तोड़फोड़ करते हैं उन्होंने यह भी कहा कि मेरे घर में मेरी बहन के बक्से को तोड़कर ₹35000 की नगदी एवं ज्वेलरी भी चुरा ले गए हैं, पुलिस की उपस्थिति में इस कार्य के होने से मेरे परिवार के औरतों का जीवन जीना दुर्लभ हो गया है इसके साथ ही उसने यह भी आरोप लगाया कि इस चुनाव से दूरी बनाने हेतु उनसे सभी कारगुजारी भी कर रहे हैं। जिससे मेरे जीवन को भी खतरा है ऐसी स्थिति में उन्होंने पुलिस से न्याय संगत जांच करने की मांग करती हैं।

मामला क्या था?

विकासखंड सोहांव में ब्लाक प्रमुख पद इस बार अनारक्षित है। इसको लेकर सम्भावित प्रमुख पद के प्रत्याशी क्षेत्र पंचायत सदस्य (BDC) का चुनाव जीतने को अपने क्षेत्र में डटे है। दावतों का भी दौर चल रहा है। इसी कड़ी में पिपरा कलां गांव में शुक्रवार की रात क्षेत्र पंचायत सदस्य पद के दो दावेदारों की पार्टी अलग-अलग चल रही थी। दोनों दावेदार क्षेत्र पंचायत सदस्य की एक ही सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं। दोनों का घर पास में ही है।

एक पक्ष के आकाश सिंह की दावत रात के 9:00 बजे खत्म हो गई, जबकि दूसरे पक्ष के मनीष सिंह धीरज की दावत विक्रमा सिंह के दरवाजे पर चल रही थी। आरोप हैं कि उसी दौरान मनीष सिंह धीरज की तरफ से छींटाकशी की गई, जिसका प्रतिरोध आकाश सिंह के समर्थकों ने किया तो दोनों पक्ष में कहासुनी होने के बाद ईंट पत्थर चलने लगे। इसमें आकाश सिंह के पिता चंद्रभान सिंह को सिर पर गंभीर चोटें आई। इसके बाद हो-हल्ला मचने पर फायरिंग शुरू हो गई। सूचना मिलते ही नरही थाना प्रभारी योगेंद्र बहादुर सिंह मौके पर पहुंच गये। तब तक चितबड़ागांव और फेफना थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। इसी समय पुलिस अधीक्षक विपिन टाडा भी मौके पर पहुंच गए।

पुलिस ने रात में ही दबिश देनी शुरू कर दी। इसमें दोनों पक्षों से 7 लोगों को हिरासत में लिया गया। इसमें प्रथम पक्ष से विजय सिंह उर्फ बागी पुत्र परमात्मा सिंह, रविशंकर सिंह उर्फ सीटू पुत्र हरिशंकर सिंह, धर्मेंद्र नाथ सिंह पुत्र स्व. प्रसिद्ध नाथ सिंह निवासी पिपरां कलां तथा दूसरे पक्ष से लक्ष्मण सिंह पुत्र स्व. रामचंद्र सिंह, संतोष सिंह पुत्र स्व. गुप्तेश्वर सिंह, दिग्विजय सिंह पुत्र स्व. चंद्रबली सिंह निवासी पिपरा कला एवं संजय सिंह यादव पुत्र रामराज सिंह यादव निवासी खैराबारी थाना भांवरकोल गिरफ्तार किए गए।

featured

बलिया- जानिए कौन है प्रभावती देवी? जो जिले के कद्दावर नेता के खिलाफ चुनावी मैदान में हैं

Published

on

बलिया डेस्क: जिले में त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव की सरगर्मियां काफी तेज हो गई हैं। प्रत्याशियों के नामांकन के बाद अब चुनाव चिन्ह भी मिल चुके हैं। जिसको लेकर जनता के बीच प्रत्याशियों की पहुंचने की होड़ लगी है। आपको इस कड़ी में जिले के बांसडीह वार्ड नंबर 10 जिला पंचायत के एक सदस्य के बारे में बताते है। जिनकी दावेदारी ने इस सीट पर काफी दिलचस्प मुकाबला बना दिया है।

बांसडीह वार्ड नंबर 10 से सपा की उम्मीदवार प्रभावती देवी पत्नी रामजी यादव “बढ़ाइए कदम विकास की ओर” के नारे के साथ चुनावी मैदान में हैं। प्रभावती देवी लगातार तीन बार से चांदपुर ग्राम सभा की प्रधान भी है।

प्रभावती देवी महिला सशक्तिकरण को तो बल दे ही रही है इसके साथ-साथ उनका वादा यह भी है कि समाज के हर तबके का विकास जीतने के बाद सुनिश्चित किया जाएगा।जिससे क्षेत्र का चौमुखी विकास हो सके। वहीँ इस सीट को लेकर राजनैतिक विशेषज्ञों का दावा है कि ये सपा का गढ़ है। इस सीट पर दुसरे दल के प्रत्याशी की राह आसान नहीं होने वाली है।

वहीँ इस सीट से भाजपा के कद्दावर नेता और जिले के भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष देवेंद्र यादव मैदान में है ।  जिससे इस सीट पर मुकाबला और भी दिलचस्प हो गया है। जातिगत आकड़ों के हिसाब से भी इस सीट पर लड़ाई काफी क्लोज होने वाली है।

आपको बता दें कि  सबसे ज्यादा इस वार्ड से वार्ड से विधानसभा के प्रभारी सपा के वरिष्ट नेता वेद प्रकाश सिंह की भी प्रतिष्ठा दाव पर लगी है। जो इलाके में समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता माने जाते हैं। बहरहाल, अब तो आने वाला वक्त ही बताएगा कि इस सीट पर जनता किस प्रत्याशी को  अपना सिकंदर बनाती है।

एक बात जरूर है कि जिले में पंचायती चुनाव के लिए महिलाओं ने जिस प्रकार से बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी दिखाई हैं। वह महिलाओं के प्रति बदलते दौर के सोच को जरूर प्रदर्शित करता है।

Continue Reading

बलिया

बलिया – पंचायत चुनाव में गाड़ी नहीं देने पर होगी एफआईआर

Published

on

बलिया : त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन को संपन्न कराने के सैकड़ों वाहनों को चुनाव ड्यूटी में लगाया गया है। जिनका एकत्रीकरण करने के लिए  पुलिस परेड ग्राउंड में 19 अप्रैल की सुबह 8 बजे तक बुलाया गया था, उनमें करीब 50 की संख्या में वाहन अब तक नहीं आए।

इस पर एआरटीओ (प्रशासन) राजेश्वर यादव ने कोतवाली पुलिस को तहरीर दे दी है। उन्होंने बताया कि अगर शेष वाहन 19 अप्रैल को सुबह 8 बजे तक परेड ग्राउंड में नहीं आए तो निर्वाचन में बाधा डालने के आरोप में वाहन मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

आरटीओ ने कहा कि निर्वाचन कार्य को सफलता पूर्वक संपन्न कराने में अपना योगदान दें। वाहन नहीं भेजने पर लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

 

 

Continue Reading

बलिया

बलिया- पूर्व जिलाधिकारी (IAS) सच्चिदानंद दूबे का हृदय गति रुकने से निधन

Published

on

बलिया डेस्क: प्रदेश के कई जिलों में जिलाधिकारी के रुप में अपनी सेवाएं दे चुके पूर्व आईएएस सच्चिदानंद दूबे का लखनऊ में शुक्रवार को हृदय गति रुकने से निधन हो गया। इसकी खबर मिलते ही उनके पैतृक गांव बेरुआरबारी में शोक संवेदना व्यक्त करने वालों की भीड़ लग गयी।

आपको बता दें कि आईएएस सच्चिदानंद दूबे के दो पुत्र है। एक पुत्र इंकम टैक्स कमिश्नर गोवा है, जबकि एक पुत्र पीएफ कमिशनर लखनऊ है। उनका अंतिम संस्कार लखनऊ में ही किया गया। इधर, आईएएस सच्चिदानंद दूबे के निधन की सूचना मिलते ही उनके पैतृक आवास पर पहुंचे लोगों ने उनके अनुज शिवानंद दूबे से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त की।

इसमें भाजपा नेता विनोदशंकर दूबे, पूर्व ब्लाक प्रमुख अनिल सिंह, गोपालजी दुबे, संजय दुबे, दिलीप दुबे, पुनीत पाठक, भासपा प्रदेश प्रवक्ता सुनील सिंह, जनार्दन उपाध्याय, प्रधानाचार्य आशीष सिंह, अमित सिंह आदि रहे।

Continue Reading

TRENDING STORIES