Connect with us

featured

बलिया : छेड़खानी के मामले में पुलिस पर लगा दलित युवकों की पिटाई और जबरन बयान बदलाने का आरोप !

Published

on

बलिया डेस्क़: बलिया जिले में छेड़खानी  की शिकायत लेकर थाने पहुचे दलित की पुलिस हिरासत में पिटाई का मामला सामने आया है।परिजनों ने पुलिसकर्मियों पर बदूक की बटों से बेरहमी से पिटाई किए जाने का आरोप लगाया है।

भारत समाचार की खबर के मुताबिक सिकंदरपुर थाने इसारपीथा पट्टी  का है जहाँ छेड़खानी की शिकायत सुनने की जगह इंस्पेक्टर बालमुकुंद और कांस्टेबलों ने दलित युवकों को थाने के अंदर दलित युवकों को जमकर लात घूसों और बंदूक के कुंडे से पीटा। जिसमें 2 दलित युवको को को गम्भीर चोटे आई  हैं।

वहीँ एक युवक की आँख फूटते फूटते बची और दूसरे को रीढ़ की हड्डी में काफी चोटे बताई जा रही है।  पीड़ितों को गम्भीर अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सिकंदरपुर इंस्पेक्टर पर यह आरोप है वो पीड़ितों से लागातार बयान बदलने का दबाव बना रहा था। जब पीड़ितों ने ऐसा करने से इनकार किया तो इंस्पेक्टर बालमुकुंद और उसके साथ कांस्टेबल ने थाने में ले जाकर पिटाई की।

वहीँ पुलिस के मुताबिक मामला दो पक्षों में विवाद का था जिसमें पुलिस पर आरोप है, सम्पूर्ण प्रकरण की जाँच क्षेत्राधिकारी सिकन्दरपुर को दी गयी है जिसके पूर्ण होने पर अग्रिम कार्यवाही की जायेगी।

खबर मीडिया में सामने के आने बाद  भीम आर्मी के चीफ चन्द्रसेखर आज़ाद ने यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि  “उत्तर प्रदेश के बलिया में पुलिसवालों ने छेड़खानी की शिकायत दर्ज कराने गए दलितों पर बेरहमी से हमला किया है। प्रदेश में रक्षक खुले तौर पर भक्षक का काम कर रहे हैं। सोए हुए समाज को जागना होगा। वर्ना हम ऐसे ही रोज रोज मारे जाते रहेंगे। दोषी पुलिस अधिकारियों को तत्काल अरेस्ट किया जाए।”

featured

डीएम ने 4 अपर मुख्य चिकित्साधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया, एक का रोका वेतन

Published

on

बलिया: कोरोना काल में लापरवाही पर जिलाधिकारी अदिति सिंह ने चार अपर मुख्य चिकित्साधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

कोविड-19 की समीक्षा बैठक से गायब रहने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए तीन दिनों के अंदर जवाब मांगा है। अन्यथा की स्थिति में विभागीय प्रतिकूल कार्यवाही की बात कही है। दरअसल, 14 अप्रैल की बैठक में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी विजय यादव अनुपस्थित थे,​ जिसकी वजह से एल-1 कोविड अस्पताल फेफना के कार्यों की जानकारी नहीं हो सकी। इस पर जिलाधिकारी ने डॉ यादव को कारण बताओं नोटिस जारी करने के साथ ​अग्रिम आदेश तक वेतन पर रोक लगाने का आदेश सीएमओ को दिया है। इसी प्रकार 15 अप्रैल की बैठक से एसीएमओ डॉ आरके सिंह, एसीएमओ डॉ राजनाथ व एसीएमओ डॉ जेआर ​तिवारी गायब थे। इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए जिलाधिकारी ने कहा है कि इस महामारी की स्थिति में यह लापरवाही ठीक नहीं है।

निजी चिकित्सालय में पॉजिटिव केस मिलने पर कंट्रोल रूम को सूचना देना अनिवार्य

जिलाधिकारी अदिति सिंह ने निर्देश दिया है कि निजी चिकित्सालय में जांच के दौरान अगर कोई पॉजिटिव मिलता है तो उसकी सूचना इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर को जरूर दें। कंट्रोल रूम का नम्बर 0549822082, 05498221856, 05498223918 या 9454417979 है।

जिलाधिकारी ने कहा है कि ऐसा संज्ञान में आया है कि बिना कमाण्ड सेंटर को अवगत कराए पॉजिटिव मरीज को अन्य बड़े अस्पताल में रेफर कर दिया जाता है। उन्होंने सीएमओ को निर्देशित किया है कि सभी निजी चिकित्सालयों को इस सम्बन्ध में दिशा-निर्देश जारी कर दें। अगर सूचना नहीं देते हैं तो उन अस्पतालों पर कार्रवाई सुनिश्चित कराएं।

Continue Reading

featured

पूरे यूपी में रविवार को लॉकडाउन का एलान, ग्रामीण क्षेत्रों में भी रहेगी बंदी

Published

on

लखनऊ: कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।  उत्तर प्रदेश में रविवार को लॉकडाउन का एलान किया गया गया है।

इसके साथ ही मास्क नहीं लगाने पर पहली बार एक हजार का जुर्माना और दूसरी बार में दस हजार का जुर्माना भरना होगा।  पूरे उत्तर प्रदेश में रविवार को वीकएन्ड लॉक डाउन, यूपी में सभी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में रविवार को बंदी रहेगी, आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी बाज़ार दफ़्तर बंद रहेंगे इस दिन व्यापक सेनेटाइजेशन अभियान चलेगा

Continue Reading

featured

बलिया में कोरोना का क़हर, सिकंदरपुर के व्यापारियों ने लगाया अपना लॉकडाउन !

Published

on

सिकंदरपुर । बलिया में बढ़ते कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पूरे बलिया जिले में नाइट कर्फ्यू लागू है। इसके उलट दिन में बाजार खुल रहे हैं और खरीदारों की भीड़ भी उमड़ रही है। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग कायम नहीं रह पाती और काफी लोग मास्क भी नहीं लगाते। इससे संक्रमण तेजी से फैलने का खतरा बरकरार है। इन हालात में जिले के सिकंदरपुर व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने बाजार बंदी का फैसला किया है।

सिकंदरपुर व्यापार मंडल ने बताया है कि शुक्रवार को दिन में 1:00 बजे से लेकर सोमवार तक दुकानें तथा अन्य प्रतिष्ठान पूरी तरह से स्वैच्छिक बंदी का फैसला किया है।

वहीँ इस मामले पर उप जिलाधिकारी अभय कुमार सिंह ने बताया कि व्यापार मंडल का यह निर्णय स्वागत योग्य है। उन्होंने बताया कि शाम को 4:00 बजे से लेकर 7:00 बजे तक आवश्यक सामग्रियों की दुकानें जैसे सब्जी व किराना की दुकान खुली रहेंगी साथ ही चिकित्सा से संबंधित दुकानें खुली रहेंगी।

इस दौरान उपजिलाधिकारी ने कहा कि बिना वजह कोई भी घरों से बाहर न निकले. बहुत आवश्यक होने पर मास्क के साथ ही बाहर निकले। बता दें की जिले में गुरुवार को 24 घंटे में 298 नए केस मिले हैं।

 

Continue Reading

TRENDING STORIES