बलिया में प्रेमी-प्रेमिका को अपनी मर्जी से शादी करना पड़ा भारी, पंचायत ने किया तड़ीपार

बलिया में प्रेमी-प्रेमिका को अपनी मर्जी से शादी करना भारी पड़ गया। दोनों की शादी होना लड़की के पक्ष वालों को रास नहीं आया है। इस दौरान लड़की पक्ष वाले ने पंचायत बुलाकर दोनों को जिले में ना रहने का फैसला सुनाया है।

मामले बलिया जिले के इंदरपुर गड़वार थाना क्षेत्र के दो गांवों सिकरियां खूर्द निवासी एक युवक का पड़ोस के गांव की एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इन दोनों ने मंदिर में शादी कर ली। लड़की के परिजनों ने थाने में तहरीर दी कि लड़का, लड़की को भगा ले गया। पुलिस मामले की जांच और दोनों प्रेमी युगल की बरामदगी मे जुटी थी।

इसी को लेकर मंगलवार को थाना परिसर में एक पंचायत हो गई। पंचायत में फरमान सुनाया गया कि युवक और युवती बलिया जिले में कभी नहीं आएंगे, जबकि दोनों ही बालिग हैं और खुद की मर्जी से शादी कर सकते हैं। पंचायत के नव दंपती को गृह जनपद ना आने देने के लिखित फरमान से सभी सकते में आ गए।

इस संदर्भ में प्रभारी थानाध्यक्ष शिवजी कुंवर ने बताया कि घटना को लेकर क्षेत्र में काफी तनाव था। इस स्थिति को संभालने के लिए इस पंचायत में उन्हें शामिल होना पड़ा। वहीं बताया जाता है कि सुलह नामे को लेकर लड़के पक्ष वाले राजी नहीं थे। वे चाहते थे कि यदि लड़का, लड़की को साथ लेकर आता है तो वह उसे अपने घर में रख लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here