पूर्वमंत्री बोले जिला अस्पताल बना लूटपाट का अड्डा, सीएमओ व सीएमएस ने साधी चुप्पी

0

बलिया। जिला अस्पताल में व्याप्त दु‌र्व्यवस्था व भ्रष्टाचार के खिलाफ समाजवादी पार्टी द्वारा पूर्व मंत्री नारद राय के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन के दौरान सीएमओ पर कई तरह के आरोप लगाए। सवाल किया कि पूर्व सरकार में पांच जनपदों में ट्रामा सेंटर शुरू कराने के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति हुई थी। इसमें बलिया ट्रामा सेंटर के लिए 16 कर्मचारियों लिए नियुक्ति हुई थी। वर्षों से चेंबर नहीं बनने के कारण अभी तक डायलिसिस मशीन नहीं लग पाया। चार मशीन स्वीकृत हैं। सभी सवालों पर सीएमओ ने चुप रहना ही बेहतर समझा। इस दौरान जब पूर्व मंत्री ने अधिकारियों से ट्रामा सेंटर की फाइल दिखाने को कहा तो सीएमओ व सीएमएस ने इस पर भी कोई जवाब नहीं दिया।

पूर्व मंत्री नारद राय ने कहा कि जिला अस्पताल लूटपाट का अड्डा बनकर रह गया है। जनता की सुविधाओं का तनिक भी ख्याल नहीं है। इस सरकार में लोग पढ़ाई-लिखाई व दवाई के लिए जूझ रहे हैं।

पूर्व मंत्री जिला अस्पताल परिसर में अव्यवस्था के खिलाफ चल रहे धरने के दूसरे दिन सभा को संबोधित कर रहे थे। कहा कि जिला अस्पताल पूरी तरह दलालों के मकड़जाल में फंस गया है। सफाई व दवाई के नाम पर लूट हो रही है। दूर दराज व गांवों आने वले मरीजों का शोषण हो रहा है। योजनाओं का क्रियान्वयन भी ठीक से नहीं हो रहा है। केवल कमीशन का खेल हो रहा है। ट्रामा सेंटर बनकर तैयार है इसके बाद भी उसमें सुविधा का नदारत रहना सरकार की कार्यप्रणाली को दर्शाता है। सरकार पूरी तरह से संवेदनहीन हो गई है। कहा ट्रामा सेंटर व उसमें लांबित पड़ी सुविधाओं की स्वीकृति पत्र, नक्शा सहित आया।

सिटी मजिस्ट्रेट डा. विश्राम यादव के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल सीएमओ से वार्ता करने गया लेकिन बात नहीं बन पाई। सिटी मजिस्ट्रेट डा. विश्राम ने ट्रामा सेंटर पहुंचकर सीएमओ व सीएमएस से वार्ता की। साथ ही यहां तमाम तरह की सुविधाओं का जायजा भी लिया। पूर्व मंत्री नारद राय से भी बात की लेकिन ट्रामा, सिटी स्कैन, डायलिसिस सहित अन्य सुविधाओं को शुरू करने के बाद ही पूर्व मंत्री ने प्रदर्शन को खत्म करने की बात कही। डा. विश्राम के निरीक्षण के दौरान ट्रामा सेंटर के द्वितीय तल पर करोड़ों के उपकरण वर्षों से धूल फांकते मिले। इन मशीनों के बारे में पूछने पर सीएमओ व सीएमएस चुप्पी साध गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here