बलिया- एक ही परिवार के तीन ज्वैलरी शोरूम पर आयकर विभाग का छापा, मिली करोड़ों की गड़बड़ी

0

बलिया के एक सराफा कारोबारी के तीन प्रतिष्ठानों पर मारे गए आयकर के छापे में 20 करोड़ का माल रिकार्ड से अधिक पाया गया। मंगलवार को शुरू हुई आयकर विभाग की जांच पड़ताल गुरुवार को दोपहर में पूरी हुई। टीम को इस दौरान अधिकांश खरीद फरोख्त कागजों में की गई मिली। रिकार्ड के अनुसार हर दुकान में ढाई से तीन करोड़ का माल होना चाहिए था।

वहीं बिना रिकार्ड के मिले 27 लाख रुपये सीज कर दिए गए हैं। छह करोड़ रुपये टैक्स जमा कराने का निर्देश दिया गया है। जनपद में आयकर के बड़े पैमाने पर की गई कार्रवाई से नगर के व्यापारी हलकान रहे। वहीं दूसरी ओर ओर टीम के जाते ही दो दिन बंद पड़े तीनों ज्वैलरी शोरुमों में पहले की तरह खरीदारी शुरू हो गई।

नगर के स्टेशन चौक रोड स्थित डीपी ज्वैलर्स, बलभद्र राम दशरथ प्रसाद तथा आर्यसमाज रोड स्थित स्वर्णकला केंद्र के शोरूमों में टीम के सदस्यों ने मंगलवार से लेकर गुरुवार की दोपहर तक गहनता से छानबीन की।

रिकार्ड के मुताबिक एक-एक जेवरात एवं डायमंड का वजन कराया गया। सूत्रों की माने तो तीनों प्रतिष्ठानों को मिलाकर लगभग 20 करोड़ का माल पेपर रिकार्ड से अधिक पाया गया। जिसमें ज्यादा खरीद-फरोख्त कच्चे बिल पर ही की गई है।

इसका हिसाब-किताब न तो सेवा कर में है और न ही आयकर में। खरीद-फरोख्त में करोड़ों के राजस्व का चूना लगाया जा रहा था। जांच के बाद टीम रिकार्ड भी साथ लेकर गई है। आयकर विभाग के अपर निदेशक (जांच) अभय ठाकुर ने बताया कि तीनों प्रतिष्ठानों को मिलाकर स्टाक में लगभग 20 करोड़ का अंतर पाया गया है।

वहीं टैक्स के रूप में लगभग छह करोड़ रुपये जमा कराने का निर्देश दिया गया है, जबकि बिना किसी रिकार्ड के मिले 27 लाख रुपये सीज करते हुए बैंक में जमा करा दिए गए। सारी कार्रवाई की रिपोर्ट लखनऊ स्थित प्रधान निदेशक आयकर को भेज दी गई है।

साभार अमर उजाला

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here