मो. अयूब ने कायम की देशभक्ति की मिशाल

0

बलिया। ‘हुबुल वतने मिनल इमान’ (वतन से मोहब्बत करना इमान का हिस्सा है)। इस पंक्ति को मूलमंत्र मानते हुए मो. अयूब ने कुछ ऐसा कर डाला है जो देशभक्ति की मिशाल है।

बलिया-लखनऊ मार्ग पर मोटर वर्कशाप चलाने वाले अयूब ने वाहनों के पुर्जों से तोप-टैंक व मिसाइल का प्रतिरूप बनाया है। अहिंसा के पुजारी बापू का चरखा और अशोक स्तम्भ को इस अदाकारी से आकार दिया है कि जो देखे बस देखता ही रह जाए।

राष्ट्र के प्रति प्रेम को प्रदर्शित करते इन उपकरणों को बकायदा एक खुली जीप पर सजा उन्होंने गणतंत्र दिवस ​पर शहर में झांकी निकाली। जिस रास्ते से भी यह अनोखी जीप गुजरी, देखने वालों की भीड़ जमा हो गयी। सबने राष्ट्रप्रेम के इस जज्बे को खुले दिल से सराहा।

शहर से सटे परमंदापुर निवासी मो. अयूब की राजधानी मार्ग पर बहेरी में ‘यूपी मोटर वर्क्स’ नाम से दुकान है। उनके इस वर्कशाप में चार पहिया वाहनों का काम होता है। करीब दो साल पहले उन्होंने राष्ट्र के प्रति अपना प्रेम प्रदर्शित करने के लिए कुछ नया करने की सोची और मिशन को अंजाम तक पहुंचाने में जुट गए।

वाहनों से निकलने वाले बेकार पुर्जों को अयूब ने जुटाना शुरू किया और उसे तोप, टैंक व मिसाइल का आकार देने लगे। एक जीप पर उन्होंने बकायदा इन उपकरणों को करीने से सजा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here