पैडमैन का असर: अब बलिया में ग्रामीण महिलाओं की ‘पैडमैन बनीं ग्राम प्रधान

BALLIA SPECIAL

ऐसे वक्त में जब देश में पीरियड्स (मासिक धर्म) से जुड़ी भ्रांतियों को खत्म करने के प्रयास जारी हैं, वही बलिया जिले के रतसरकलां की ग्राम प्रधान स्मृति सिंह अनोखी पहल से हर तरफ वाह वाही लुट रही हैं.

गांव की महिलाओं को आसानी से सेनेटरी पैड उपलब्ध कराने के लिए उन्होंने एक ‘सेनेटरी पैड बैंक स्थापित किया है.  उन्होंने फसबुक पेज पर कुछ तस्वीरें पोस्ट करते हुए लिखा है ” आज पहली  रतसर कला गांव में “भारत के प्रथम ग्रामिण सेनेटरी पैड बैंक” का निव रखा गया.

किशोरी बालिकाओं व महिलाओं को बेदाग नारी व पैड वुमन कार्यक्रम के तहत, सुरक्षा, स्वच्छता,माहवारी या मासिक धर्म ,साफ सफाई की समस्या व महिलाओं मे झिझक को कम करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम व निशुल्क सेनटरी पैड्स दिया गया। उनके मुताबिक अपने इस बैंक से महिलाओं को सिर्फ दो रुपये में पैड उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही बेहद गरीब महिलाओं के लिए यह पूरी तरह फ्री भी होगा.

उनके दावों के मुताबिक भारत के ग्रामीण क्षेत्र मे ये पहला कार्यक्रम है. उन्होंने कहा अगर पुरूष ( पैड मैन ) एक महिला के लिए ऐसा कर सकता है तो हम महिला (पैड वुमन /गर्ल ) क्यों नहीं कर सकतीं हैं.

महिलाओं के सामने ऐसी बहुत सारी स्वास्थ्य समस्याएं हैं। सुरक्षा और स्वच्छता की स्थिति को सर्वाधिक महत्व दिया गया है. उन्होंने कहा मैं स्वयं एक महिला हूँ और मुझे गर्व है कि मुझे आप सबकी बहन व बेटी होने का सौभाग्य प्राप्त है,मै अपनी बहनों को इस माध्यम से जागरूक कर उन्हें बेहतर निदान का मार्गदर्शन करुं जिससे हमारा परिवार, गांव व समाज भी स्वस्थ,स्वच्छ व सुरक्षित रहे. और मेरी सरकार से भी गुजारिश है की सेनिट्री पैड को टैक्स फ्री करे ताकी माहिलाये 20% की जगह 100%इसका उपयोग कर सके और स्वस्थ रह सके.

जानकारी के लिए बता दें की  पैडमैन’ के निर्देशक आर बल्कि ने  इसकी कहानी अच्छे से पर्दे पर उतारी है. फिल्म में अक्षय कुमार, अरुणाचलम की भूमिका निभा रहे हैं लेकिन उनके किरदार का नाम लक्ष्मी है. ‘पैडमैन’ की कहानी मध्यप्रदेश की पृष्ठभूमि पर आधारित है और इसमें दिखाया गया है कि देश में महज 12% महिलाएं ही पैड का उपयोग करती हैं और जबकि बाकि महिलाएं गंदे कपड़े, पत्ते और राख का इस्तेमाल करती हैं.

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *