Connect with us

रसड़ा

बलिया- सरकारी आवास में घुसकर फार्मासिस्ट की पत्नी व पुत्री पर चाकू से हमला

Published

on

बलिया डेस्क: जिले में बदमोशों का हौसला इतना बुलंद हो चुका है कि लोग अब अपने घर में भी सुरक्षित नहीं है दरअसल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नगरा में तैनात फार्मासिस्ट की पत्नी व पुत्री को एक युवक ने अपने मां और दो बहनों के साथ सोमवार की सुबह उनके घर में घुसकर चाकू से हमला कर घायल कर दिया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने मौका मुआयना करने के साथ ही आरोपित महिला व एक युवती को हिरासत में ले लिया। पीड़ित ने थाने में तहरीर दे दी है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात फार्मासिस्ट गुलाब चंद अस्पताल परिसर में ही सरकारी आवास में अपने परिवार के साथ रहते है। सोमवार की सुबह करीब 7.30 बजे फार्मासिस्ट की पत्नी रेणु बाला (45) अपनी पुत्रियों के साथ खाना बना रही थी। आरोप है कि इसी बीच, सरकारी आवास से कुछ दूरी पर रहने वाला एक युवक अपनी मां और दो बहनों के साथ लाठी डंडे व चाकू के साथ आवास में घुस गया। रेणुबाला जब तक कुछ समझती, उन पर चाकू से हमला कर दिया, जिससे वो घायल होकर गिर पड़ी।

फार्मासिस्ट की छोटी बेटी ऋतुबाला (16) के शोर मचाने पर उसे भी डंडे व चाकू से घायल करने के बाद हमलावर धमकी देते हुए भाग गए। घटना की सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने पीड़िता से घटना की जानकारी ली। पुलिस ने आरोपी युवक के मां व एक बहन को हिरासत में ले लिया, जबकि युवक व एक बहन फरार चल रहे हैं। आपको बता दें कि इससे पहले भी 13 जनवरी 2021 को युवक ने फार्मासिस्ट व उनकी पत्नी के साथ घर में घुसकर मारपीट की थी, लेकिन पुलिस ने आरोपी युवक को शांतिभंग में चालान कर कोरम पूर्ति कर ली थी। अब सवाल यह उठ रहा है कि क्या अगर पुलिस समय रहते ही इस प्रकरण पर गंभीरता से एक्शन ली होती तो, क्या यह घटना दुबारा होती?

बलिया स्पेशल

बलिया : नगरा में बस अड्डा न होने से यात्री परेशान, वर्षों से की जा रही है रोडवेज बस स्टेशन की मांग

Published

on

बलिया डेस्क: नगरा में आम जनता के लिए जल्द से जल्द बस स्टेशन शुरू करने की मांग यहां के लोगों ने प्रशासन से की है। वहीं नगरा में बस स्टेशन के मांग अब मीडिया के जरिए भी की जा रही है।

आपको बता दे कि नगरा से होकर ही रोजाना गोरखपुर, बेल्थरा रोड, देवरिया, रसड़ा, अउरी घोषी के लिये सारी प्राइवेट बसें गुजरती हैं। अब यात्री सुविधाओ को ध्यान में रखते हुये इसकी जरुरत महसूस की जा रही हैं। जिसको लेकर मांग लगातार जोर पकड़ती ही जा रहीं हैं।

इसके लिये लोग सोशल मीडिया के साथ-साथ वहां के जनप्रतिनिधि और मुख्यमंत्री जी से इसकी मांग अलग-अलग मंचों पर कर रहे हैं । अब देखना दिलचस्प होगा कि कब तक जनप्रतिनिधि इस पर ध्यान दे रहें है। जिससे कि यात्री कि इसके लिये असुविधाओ का समना न करना पड़े।

Continue Reading

featured

रसड़ा रेलवे स्टेशन के बाहर घरना, प्रदर्शनकारियों ने पैसेंजर ट्रेनों को चालू करने की मांग की

Published

on

बलिया डेस्क । रसड़ा में पैसेंजर ट्रेनें चालू न किए जाने व रेलवे के निजिकरण के विरोध में स्थानीय लोगों ने मंगलवार को विरोध प्रदर्शन किया। ये प्रदर्शन रेल संषर्ष समिति के तत्वाधान में रसड़ा रेलवे स्टेशन के बाहर किया गया।

दरअसल, रसड़ा के लोगों को पैसेंजर ट्रेनें न चालू किए जाने के चलते काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में यहां के लोग चाहते हैं कि रसड़ा रेलवे स्टेशन से पैसेंजर ट्रेनें चालू की जाएं।

अपनी इसी मांग को लेकर स्थानीय लोगों ने राघवेंद्र कुमार के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने रेल मंत्री को संबोधित करते हुए स्टेशन मास्टर रसड़ा को एक ज्ञापन भी सौंपा।

ज्ञापन में रसड़ा रेलवे स्टेशन से पैसेंजर ट्रेनें जल्द से जल्द चालू किए जाने के साथ ही रेलवे का निजीकरण बंद करने, सागरपाली व रेवती स्टेशन को हाल्ट न बनाकर पूर्व जैसी सुविधाएं बहाल करने, यात्री सुविधाओं तथा रेलवे कर्मियों एवं बेरोजगारों की सुविधा पर ध्यान रखने की मांगे भी रखी गईं। प्रदर्शन के दौरान सत्यप्रकाश सिंह, बैजनाथ सिंह, जेपी वर्मा, सुरेश राम, मुन्ना शर्मा, सर्वदेव भगत, सीताराम आदि मौजूद रहे।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

विधायक उमाशंकर सिंह ने हजौली में पीएचसी बनाए जाने की मांग की

Published

on

बलिया डेस्क : विधानसभा रसड़ा के ग्राम सभा हजौली में मंज़ूरी मिलने के बाद भी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण कार्य शुरु नहीं हुआ है। इसके निर्माण को लेकर लंबे समय से मांग उठ रहे ही है। अब रसड़ा से विधायक उमाशंकर सिंह ने भी सदन में इसे जल्द से जल्द बनवाए जाने की मांग की है।

विधायक ने नियम 51 के तहत सरकार का ध्यान ख़ींचते हुए बताया कि हजौली उनकी विधानसभा के अंतर्गत आने वाले चिलकहर ब्लॉक का सबसे बड़ा गांव है। इतनी बड़ी आबादी वाले इस गांव में अभी तक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नहीं बना है। जिसके चलते लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के लिए दूर जाना पड़ता है।

उन्होंने बताया कि काफी समय पहले यहां एक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बनाए जाने को मंज़ूरी दी गई थी। लेकिन इतना समय बीत जाने के बाद भी उसका निर्माण नहीं हुआ। उमाशंकर ने कहा कि अगर यहां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बनता है तो इससे हजौली के अलावा आसपास के 25 से अधिक गांवों को लाभ मिलेगा और यहां के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा करीब में ही मुहैया होगी।

इस दौरान विधायक ने अपने क्षेत्र में जर्जर हो चुकी सड़कों को भी ठीक किए जाने की मांग की। उन्होंने नियम 301 के तहत कहा कि जो सड़क सलेमपुर डिहवां वाया वड़सडा नहर की पटरी नगरा-सिकंदरपुर मार्ग में मिलती है, वो बेहद जर्जर हो चुकी है। जिसके चलते आए दिन यहां सड़क दुर्घटनाएं होती हैं। इसे रोकने के लिए सड़क को ठीक किया जाना बेहद ज़रूरी है।

Continue Reading

TRENDING STORIES