Connect with us

Uncategorized

भोजपुरी एक्टर यश कुमार ने बलिया में मनाया होली का जश्न

Published

on

बलिया डेस्क: भोजपुरी फिल्म के एक्शन किंग कहे जाने वाले अभिनेता यश कुमार ने अपने पैतृक गांव चैनपुर गुलौरा मे पहुच होली का जश्न मनाया। यश ने सुबह से ही ग्रामीणों, मित्रों, शुभचिंतकों को अबीर-गुलाल से सराबोर करते हुए गले मिल होली की शुभकामनाएं दी। इस दौरान यश के आवास पर लोगों का तांता लग गया। ग्रामीणों ने तथा बच्चों ने अभिनेता यश को अपने बीच पाकर गदगद हो गए।

होली की मस्ती में डूबे यश ने ग्रामीणों संग पूरे गांव में घर-घर जाकर टोली संग फाग गीतों की धुन में रंग जमा दी। पारंपरिक गीत-संगीत के बीच यश ने होली गीतों से समां बांधा। भोलेबाबा की नगरिया,कृष्णा बृज में खेले होली, होली खेले रघुवीरा, रंग बरसे भीगे चुनरवाली, फाग खेलन निकली घर से ब्रज बनिता, बालू रेतवा में झौवा अजब चमके आदि होली के गीतों पर गांव के युवकों ने जमकर ठुमके लगाए।

खुशगवार मौसम के बीच यश के साथ ग्रामीणों ने होली का जमकर लुत्फ उठाया। इस दौरान अभिनेता यश के साथ सेल्फी लेने वालों की भारी भीड़ जमा हो गयी।इस मौके पर प्रसिद्ध नारायण मिश्र, तारकेश्वर मिश्र, अभय कुमार, धनंजय, निखिल मिश्र, सुशील मिश्र, अजीत मिश्र,राजेश शर्मा, मानवेंद्र, पंकज,महेंद्र गुप्ता,राजेश मिश्र,प्रवीण मिश्र,अजित,पमपम यादव,श्यामलाल ठाकुर आदि भारी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

Uncategorized

Corona Update- बलिया में पिछले 24 घंटे में 102 नए मामले सामने आए

Published

on

बलिया । बलिया में कोरोना मरीजों की संख्या काम होने का नाम ही नहीं ले रही है । पिछले 24 घंटे में 102 मरीज आए हैं, वहीं जिले में अबतक कुल 113 की जान इस बीमारी से चली गई।

जिले में अब कुल कोरोना केसों का नंबर 8501 हो गया है।  कुल केसों में से 2042 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं।   569 केस फिलहाल ऐक्टिव हैं।

वहीँ जिले में बढते कोरोना मामले के बीच जिला प्रशासन अलर्ट मोड में आ गया है। बलिया में नाइट कर्फ्यू का आदेश जारी कर दिया गया है। इसी के मद्यनज़र जिला प्रशासन ने शनिवार को  ये बड़ा फैसला लिया गया।

 

Continue Reading

Uncategorized

बलिया- सीएचसी सोनबरसा में 24 घण्टे इमरजेंसी सेवा शुरू

Published

on

बलिया डेस्क: सीएचसी सोनबरसा में 24 घण्टे इमरजेंसी सेवा शुरू हो गई है। गुरुवार को सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त व सीएमओ डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने इमरजेंसी सेवा का निरीक्षण किया। फिलहाल इमरजेंसी सेवा में एनेलाइजर, ऑक्सीजन व अन्य प्राथमिक सुविधाएं उपलब्ध हो गयी हैं। ईसीजी मशीन व कुछ अन्य जरूरी उपकरण भी जल्द पहुंचने की उम्मीद है। सीएचसी में इमरजेंसी सेवा शुरू होने से क्षेत्रीय लोगों में खुशी है।

सांसद की पहल पर स्वास्थ्य विभाग की टीम इसकी तैयारी में पहले से ही जुट गयी थी। इमरजेंसी सेवा का निरीक्षण करने पहुंचे सांसद ने बहुत कम समय में ही सेवा शुरू करने पर सीएमओ व सीएचसी के चिकित्सकों को बधाई दी। सांसद ने बताया कि 24 घण्टे इमरजेंसी सेवा शुरू होने से गम्भीर रोगियों का इलाज इस अस्पताल पर शुरू हो जायेगा तथा उनकी जान बचाई जा सकती है। सीएमओ ने बताया कि जल्द ही सभी जरूरी स्वास्थ्य उपकरण उपलब्ध करा दिया जायेगा।

Continue Reading

Uncategorized

बलिया- जानिए किस लिये जारी हुआ आधा दर्जन सचिवों को कारण बताओ नोटिस

Published

on

बलिया डेस्क: भारत सरकार की महत्वाकांक्षी कायाकल्प योजना से पंचायत भवनों की मरम्मत में उदासीनता बरतने पर जिला पंचायत राज अधिकारी अजय श्रीवास्तव ने आधा दर्जन ग्राम विकास अधिकारी (पंचायत) को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

यही नहीं उन्होंने इसके साथ ही साथ स्पष्टीकरण मांगने और समय से लक्ष्य के हिसाब से पंचायत भवनों के मरम्मत व वहां समुचित संसाधन हर हाल में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। डीपीआरओ ने अपनी रिपोर्ट मंडलायुक्त, डीएम, सीडीओ व बीडीओ को भेज दी है। जिला पंचायत राज अधिकारी के सख्त रूख से सचिवों में खलबली मची हुई है।

गौरतलब है कि शासन के कायाकल्प योजना के तहत पंचायत भवनों की मरम्मत कर वहां पेयजल, शौचालय, बिजली आदि की व्यवस्था करने का आदेश दिया था। साथ ही इसकी जिम्मेदारी जिला पंचायत राज विभाग को सौंपी गयी थी।

विभाग ने सचिवों को पंचायत भवनों को ब्लॉकवार लक्ष्य निर्धारित कर कायाकल्प कराने का निर्देश दिया था। अब जबकि वित्तीय वर्ष 2021 समाप्ति की ओर है, आधा दर्जन सचिवों द्वारा काम में उदासीनता बरते जाने से लक्ष्य के हिसाब से काफी कम कार्य हो सका है।

विभागीय आंकड़ों के अनुसार किस ब्लॅाक में कितने गांव में काम हुआ हैं?

हनुमानगंज ब्लॉक में 30 पंचायत भवनों की मरम्मत करानी थी। इसके इसके मुकाबले में सिर्फ 5 की ही मरम्मत करायी गयी है। इसी प्रकार से

नगरा ब्लॉक- 50 पंचायत भवनों के परंतु 22 पंचायत भवनों की ही मरम्मत हो पायी हैं।

सोहांव ब्लॉक – 24 पंचायत भवनों में से सिर्फ 10 पंचायत भवनों की ही मरम्मत हो पायी हैं।

रसड़ा ब्लाक – 25 पंचायत भवनों में से सिर्फ 8 पंचायत भवनों की ही मरम्मत हो पायी हैं।

बांसडीह ब्लॉक – 32 पंचायतों में से 10 पंचायत भवनों की ही मरम्मत हो पायी हैं।

रेवती ब्लॉक – 24 पंचायत भवनों की मरम्मत के मुकाबले में सिर्फ 6 की ही मरम्मत करायी गयी।

कायाकल्प योजना क्या हैं?
भारत में सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में स्वच्छता और साफ-सफाई सुनिश्चित करने के लिये 15 मई, 2015 को एक राष्ट्रीय पहल ‘कायाकल्प’ की शुरुआत की। इसका उद्देश्य ऐसी सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं को प्रोत्साहित कर उनकी पहचान करना जो कि स्वच्छता और संक्रमण पर नियंत्रण के लिये मानक प्रोटोकॉल का पालन कर अनुकरणीय कार्य करते हैं, साथ ही सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में स्वच्छता, साफ-सफाई और संक्रमण नियंत्रण प्रथाओं को बढ़ावा देना है। स्वच्छता और साफ-सफाई से संबंधित प्रदर्शन के सतत् मूल्यांकन और सहकर्मी समीक्षा की संस्कृति विकसित करना। सकारात्मक स्वास्थ्य परिणामों से जुड़ी सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार से संबंधित स्थायी प्रथाओं के निर्माण और उन्हें साझा करना।

Continue Reading

TRENDING STORIES