Connect with us

बेल्थरा रोड

बेल्थरा रोड में साइबर ठगी: बचत बैंक खातों से लगातार हो रहा फ्राड, ठग कुछ यूं लगा रहे लोगों को चूना !

Published

on

बेल्थरारोड डेस्क :  बलिया के बेल्थरा रोड में बैंकिग फ्रॉड (Banking Fraud) के मामले हर दिन बढ़ते जा रहे। पिछले दिनों में ऐसे ही ठगी के कई मामले सामने आए, जिसके बाद लोगों के बैंक खाते खाली हो गए। स्टेट बैंक शाखा से जुड़े खाताधारकों  ने इसकी शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई न होने पर सोमवार को पीड़ितों ने पुलिस को न्याय के लिए लिखित तहरीर दी। लोगों की शिकायत पर पीड़ितों के साथ सोमवार को सीयर चैकी इंचार्ज आरके सिंह ने एसबीआई बैंक प्रबंधक से मुलाकात की और लोगों के बैंक खाते से निकल रहे पैसे की तकनीकी जानकारी ली।

एसबीआई प्रबंधक नंदलाल ने पुलिस को बताया कि बैंक खाताधारकों की शिकायत संबंधित सूचना उच्चाधिकारियों को ईमेल से दे दी गई है। जल्द ही आवश्यक कार्रवाई होगी। वहीं चैकी इंचार्ज आरके सिंह ने बताया कि नगर के तीन लोगों के स्टेट बैंक बिल्थरारोड में संचालित बचत खाता से पिछले एक पखवारे में करीब 24 हजार रुपया निकाला गया है।

सभी पैसे आनलाइन एईपीएस यानि आधारा कार्ड लिंक के जरीए निकाला गया है। बैंक खाते से फ्राड के शिकार सभी पीड़ित स्टेट बैंक के ही खाताधारक है। जिसकी जांच की जा रही है। मालूम हो कि बिल्थरारोड नगरपंचायत वार्ड नं. तीन निवासी श्रीमन नारायण के बचत खाते से एईपीएस द्वारा दस हजार रुपया निकाल लिया गया।

जबकि अमित वर्मा  के बैंक खाते से चार हजार पांच सौ रुपया एवं नगर के ही रविकिशोर जायसवाल के बचत खाते से नौ हजार पांच सौ रुपया निकाला गया है। जिससे सभी परेशान है। स्टेट बैंक खाताधारकों में पैसे को लेकर असुरक्षा की स्थिति बनी हुई है।

ठगी के ये पांच तरीके, इनसे रहें सावधान

1सोशल साइट्स पर सस्ते ऑफर के लिंक भेजते हैं। क्लिक करने पर फोन हैक कर उसमें ऑनलाइन पेमेंट करने वाली एप से पैसे ट्रांसफर कर लिये जाते हैं।
समाधान – फोन पर आने वाले किसी भी लिंक को क्लिक न करें। अगर किसी नंबर से कोई लिंक आता है तो नंबर ब्लाॅक करने के बाद मैसेज को डिलीट कर दें।

2.पेटीएम का केवाईसी के नाम 10 रुपए पेटीएम के जरिए मांगते हैं। जिसे शेयर करने पर पेटीएम के खाते से सारे पैसे निकल जाते हैं।  समाधान – केवाईसी के लिए कंपनी लिंक नहीं भेजती। कंपनी का मुलाजिम आकर डिटेल्स जुटाता है और अपनी आईडी भी वो साथ लेकर आता है। जिसे आप चेक कर सकते हैं।

3.ओएलएक्स पर सस्ते वाहन, फर्नीचर बेचने के नाम पर दस्तावेज भेजकर ठग पहले यकीन बनाते हैं, फिर एडवांस पैसे लेकर सामान नहीं भेजते। 12 दिसंबर को फौजी बन फर्नीचर बेचने के नाम पर 30 हजार ठगे। समाधान – समान और शख्स की असलियत पता चलने पर ही पैसा ट्रांसफर करें। किसी दूसरे राज्य के बेचने वाले से संपर्क न बनाएं।

.4.पेंशन लगवाने, निकलवाने में मदद के नाम लोगों के दस्तावेजों को आॅनलाइन इकट्ठा कर लेते हैं। उसके बाद उन्हीं का इस्तेमाल साइबर ठगी में करते हैं। समाधान – अपना कोई भी दस्तावेज आॅनलाइन किसी के साथ शेयर न करें।

.5. मोबाइल सिम और नेट की स्पीड बढ़वाने के लिए एप डाउनलोड कराते हैं। उस एप को गूगल पे से कनेक्ट करवा 1 रुपए का रिचार्ज करने को कहा जाता है। जिसके बाद खाते से पैसे गायब हो जाते हैं। समाधान – कंपनी आॅनलाइन आपकी डिटेल नहीं मांगती और न पैसे शेयर करने को कहती है। वो अपनी डिटेल्स उनके आॅफिस में जमा करवाने को कहते हैं।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बलिया स्पेशल

बलिया में 24 घंटे में मिले 298 नए मरीज, बिल्थरारोड में टुटा रिकॉर्ड !

Published

on

बलिया :  बलिया में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। केस बढ़ने के साथ-साथ संक्रमितों के मौत की संख्या भी बढ़ रही है।   बुधवार गुरुवार को एक बार फिर 24 घंटे में 298 नए केस मिले हैं।

जिले में 719 केस मिलने के बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 10272 हो गई है। संक्रमितों में अब तक 121 लोगों की मौत हो चुकी है। जिले में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा 1659 पहुंच गया है।

वहीँ बिल्थरारोड में गुरुवार को रिकॉर्ड 91 केस सामने आया है। जिससे यहां अब कोरोना मरीजों की संख्या 191 हो गई है। नए कोरोना मरीजों में आरटीपीसीआर के एक फार्मासिस्ट भी शामिल है। इसके साथ ही सीयर अस्पताल के चार डाक्टर और दो फार्मासिस्ट समेत छ स्वास्थ्यकर्मी कोविड 19 पॉजिटिव हो गए है।

अधिकांश स्वास्थ्यकर्मी यहां अब भी बुखार और सर्दी की दवा लेकर ड्यूटी पर जमे है। सीयर सीएचसी अस्पताल अधीक्षक डॉ तनवीर अहमद ने बताया कि गुरुवार की 91 लोगों की कोविड19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जबकि बुधवार को भी 28 नए कोरोना मरीज मिले थे। नए मरीजों का कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के तहत शुक्रवार को संधिग्धो की जांच की जाएगी। इसके बावजूद बिल्थरारोड में लोग एकदम नहीं डर रहे हैं। बिना मास्क  ही लोग बाजारों देखे जा रहे हैं।

Continue Reading

बेल्थरा रोड

बलिया- कोटेदार पत्नी ने सप्लाई इंस्पेक्टर पर लगाया दुष्कर्म के प्रयास का आरोप !

Published

on

बलिया डेस्क: बिल्थरारोड में पहले से ही विवादित चल रहे आपूर्ति निरीक्षक राहुल भारती और लिपिक विनोद यादव पर अब कोटेदार पत्नी ने दुष्कर्म का प्रयास करने का गंभीर आरोप लगाया है और न्याय के लिए बलिया न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। जिससे उनकी समस्या और बढ़ सकती है। पीड़िता के अनुसार घटना 18 अगस्त 2020 की बताई जा रही है।

जब उक्त अधिकारी द्वारा दोपहर में घर पहुंचे और उनके कोटेदार पति को ढूंढते हुए जबरन घर में घुस गए। घर में कोटेदार के न होने की जानकारी मिलते ही राशन दुकान निरस्त करने और फर्जी मामले में फंसाने का धौंस दिखाकर छेड़खानी करने लगे और विरोध करने जबरन दुष्कर्म का प्रयास भी किया। हो हल्ला करने पर आसपास की महिलाओं और लोगों के इकट्ठा होने पर दोनों अधिकारी मौके से फरार हो गए।

पीड़िता के अनुसार देर रात घर लौटने पर जब उसने घटना की जानकारी अपने पति को दी तो दोनों तत्काल उभांव थाना पहुंचे और मामले में कार्रवाई की गुहार लगाते हुए लिखित तहरीर सौंपा किंतु महीनों तक कोई कार्रवाई नहीं हुआ। जिसके कारण 26 मार्च को पीड़िता ने बलिया न्यायालय में न्याय की गुहार लगाई है।

इस बीच थाना व कोर्ट में शिकायत करने से खफा आपूर्ति निरीक्षक ने फर्जी आरोप लगाकर उनका राशन दुकान को निलंबित कर दिया है। मालूम हो कि उक्त आपूर्ति निरीक्षक पर भ्रष्टाचार, सुविधा शुल्क वसूलने और राशन दुकानदारों के प्रताड़ित करने संबंधित शिकायत के मामले की ही डिप्टी कमिश्नर आजमगढ़ द्वारा जांच भी चल रही है।

 

Continue Reading

featured

बेल्थरारोड मार्केट में लगी आग के बीच शहर में देखने को मिली हिन्दू-मुस्लिम एकता की मिसाल!

Published

on

बलिया डेस्क: बेल्थरारोड शहर के मातादीन गली में बुधवार की तीन बजे शॉर्ट-सर्किट से लगी आग में चार दुकाने और उसमें रखा सारा सामान जलकर राख हो गया। जिससे दुकानदारों को लाखों रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। बताया जाता है कि अगर रमजान का महिना नहीं होता तो नुकसान बड़ा हो सकता था।

दुकानों में आग देखकर सेहरी खाने के लिए उठे हुए कुछ लोगों ने आग और धुंए की लपटें देख तुरंत आसपास के लोगों को इकट्ठा किया और आग बुझाने में जुट गए।  रमजान का पहला दिन होने की वजह से मुस्लिम समुदाय के लोग भोर में  सहरी खाने के लिए उठ चुके थे। लोगों ने आग और धुएं की लपटें निकलती हुई देख ने शोर मचाया।

तत्काल आसपास के लोगों को इकट्ठा हो गए और 112 नंबर और अग्निशमन दल को फोन किया गया जिसके बाद अग्निशमन दल की गाड़ी मौके पर पहुंची। स्थानिय लोगों का कहना है कि अगर अग्निशमन दल समय से पहुचा होता तो दुकानों को बचाया जा सकता था। स्थानीय लोगों की शिकायत रही कि फायर ब्रिगेड को फ़ोन करनें पर टाल मटोल किया गया और कार्य के प्रति लापरवाही बरती गई, कई लोगों ने बलिया खबर को इसकी रिकॉर्डिंग भी उपलब्ध कराई है, यदि समय पर फायर ब्रिगेड की गाड़ी आ गयी होती तो शायद इतनी क्षति नहीं होती।

वहीं चौकी इंचार्ज आरके सिंह भी दलबल के साथ मौके पर पहुंच गये तत्परता पूर्वक स्थानीय लोगों के साथ आग बुझाने में जुट गये जिससे जल्द ही आग पर काबू पाया जा सका।

जानकारी के मुताबिक आग से चार दुकानें और उसमें रखा हुआ सारा सामान जलकर राख हो गया। जिन दुकानदारों की दुकानें जली हैं उनमें सब्जी विक्रेता भुनेश्वर प्रसाद, कपड़ा विक्रेता दयानंद , ओम प्रकाश, व हृदयानंद जिनकी जनल स्टोर की दुकान थी दुकान में रखा हुआ सब कुछ जल गया।

बताया जाता है कि स्थानिय लोगों ने तत्परता नहीं दिखाई होती तो आसपास की कई दुकानें आग की भेंट चढ़ चुके होते और व्यापक रूप से जन धन की क्षति होती। इस घटना ने वास्तव में हिन्दू- मुस्लिम एकता की एक नजीर पेश की हैं। अगर रामजान का पहला दिन नहीं होता तो, शायद लोग सहरी खाने नहीं उठते तो, इस बात से बिल्कुल इनकार नहीं किया जा सकता है कि आग की लपटे शहर के कई हिस्सों को चपेट में ले सकती थी। जिससे दुकानदारों को भारी नुकसान झेलना पड़ता।

 

Continue Reading

TRENDING STORIES