Connect with us

बलिया स्पेशल

सरकार की विफलता की कड़ी है दुर्जनपुर घटना: अम्बिका चौधरी

Published

on

बलिया। पूर्व मंत्री एवं बसपा के वरिष्ठ नेता अंबिका चौधरी ने कहा कि दुर्जनपुर की घटना संपूर्ण प्रदेश के कानून व्यवस्था के संदर्भ में सरकार की विफलता की एक कड़ी है। इन घटनाओं की बाढ़ इसलिए आयी है कि प्रशासन और पुलिस का मनोबल पूरी तरह ध्वस्त कर दिया गया है।

मंत्रियों, विधायकों एवं भाजपा के छुटभैये नेताओं द्वारा आये दिन पुलिस व प्रशासन से दुर्व्यवहार कर भय का माहौल बनाया गया है। इसलिए ये न्यायसंगत विधिक कार्यवाही कर पाने में अक्षम हुए है। चौधरी ने कहा कि उप्र और खासकर बलिया जनपद में पिछले तीन वर्षों में प्रशासनिक एवं अन्य कर्मचारियों के साथ दुखद घटनाएं हुई है।

दुर्जनपुर की घटना के पूर्व भी मुख्य अपराधी द्वारा जिस प्रकार पुलिस अधिकारियों एवं अन्य कर्मचारियों को गाली तथा धमकी दी गई थी, लेकिन उसका कुछ नहीं हुआ था। इसी का परिणाम है कि गरीब पिछड़े परिवार के जयप्रकाश पाल उर्फ गामा को अपनी जान गंवानी पड़ी।

जातीय उन्माद पैदा करने की हो रही घृणित राजनीति- पूर्व मंत्री अम्बिका ने कहा कि जिस बेशर्मी से सत्ता पक्ष द्वारा अपराधियों को संरक्षण देकर जातीय उन्माद पैदा करने की घृणित राजनीति हो रही है, यह निन्दनीय है। कहा कि बागी बलिया की माटी में इस तरह के भेदभाव का कोई स्थान नही है।

बसपा पूरी तरह से पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है और इस अन्याय के विरूद्ध लड़ाई में शामिल है। श्री चौधरी ने सरकार से मांग किया कि घटना में प्रत्यक्ष व परोछ रूप से जिम्मेदार सभी दोषियों के खिलाफ गंभीर कार्यवाही किया जाय। वही, पीड़ित परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी तथा परिवार के भरण पोषण के लिए समुचित व्यवस्था किया जाय।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बलिया स्पेशल

बलिया: हर्ष फायरिंग करने वालों के निरस्त होंगे लाइसेंस, आरोपी की माँ बोली- बेटा निर्दोष, फंसा रही पुलिस

Published

on

बलिया डेस्क : बीजेपी नेता के बेटे के बर्थ-डे पार्टी में हर्ष फायरिंग करने वालों के लाइसेंस निरस्त किये जायेंगे। पुलिस इस मामले की वायरल वीडियो के आधार जांच कर रही है कुछ फायरिंग करने वालों की शिनाख्त भी हो चुकी है।

वहीँ भाजपा नेता को आरोपी बनाये जाने पर विफरते हुये उनकी माँ ने कहा कि,उनका बेटा निर्दोष है ,उसे साजिशन पुलिस द्वारा फँसाया जा रहा है।  बताते चलें कि, जिले के गड़वार थाने के महाकलपुर में भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष भानू दुबे के यहाँ पुत्र की जन्मदिन पार्टी के दौरान हुई हर्ष फायरिंग में वहाँ कार्यक्रम दे रहे भोजपुरी गायक को लगी गोली के मामले में कथित तौर पर पुलिस द्वारा भानू दूबे को आरोपी बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

भाजपा नेता की माँ ने पुलिस पर साजिशन आरोपी बनाने का आरोप लगाते हुये कहा कि,उनका बेटा भानू पूरी तरह निर्दोष है। उनका आरोप है कि मेरे पुत्र भानु की लोकप्रियता से आशंकित कुछ लोगों ने जानबुझकर फायरिंग कर दिया। कहा कि इसका न्याय पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को करना है।

बता दें गड़वार थाना क्षेत्र के महाकलपुर निवासी व भाजपा युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष भानु दूबे के घर बेटे के जन्मदिन पर सोमवार की रात जमावड़ा हुआ था। इसमें भोजपुरी गायक व अभिनेता गोलू राजा का सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित था। इस दौरान अंधाधुंध हर्ष फायरिंग की गयी। एक गोली स्टेज पर गीत प्रस्तुत कर रहे गायक गोलू राजा को लगी।

पुलिस ने इस मामले में आयोजक भानु दूबे पर बिना परमिशन के सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन करने, महामारी अधिनियम व 7 सीएल एक्ट के तहत मुकदमा कायम कर लिया।

विज्ञापन

Continue Reading

बलिया

जब पुलिस को फंसाने के लिए आरोपी ने रची साजिश

Published

on

बलिया। जबरन दीवार जोड़ने के लिए आरोपी ने न सिर्फ अस्पताल में भर्ती होने का पैंतरा किया। बल्कि पुलिस प्रशासन पर इस लिए मारने-पिटने का आरोप लगा रहे हैं ताकि दबाव बनाकर एक बार फिर से अवैध निर्माण करा सकें। ये कहना है कि शिवपुरदियर चौकी इंचार्ज चक्रपाणी मिश्र का। उधर इस मामले में दूसरे पक्ष के भूतपूर्व सैनिक रमाशंकर यादव ने कहा कि अवैध निर्माण को लेकर पुलिस ने दोनों पक्ष को बीते 27 अक्टूबर की रात को 151 में चालान कर दिया था, जबकि रात को पुलिस ने किसी पक्ष पर हाथ नहीं छोड़ा था। लेकिन अब जो दूसरे पक्ष द्वारा अस्पताल में भर्ती होने का नाटक किया गया है, ये न सिर्फ मनगढ़ंत है बल्कि पुलिस प्रशासन को बदनाम करने तथा दबाव बनाकर फिर से अवैध निर्माण करने के लिए इस तरह की साजिश रची गई है।

 

गौरतलब हो कि बीते 27 अक्टूबर की रात शहर कोतवाली क्षेत्र के शिवपुर दियर नंबरी गंगापार पांडेय के डेरा में भूतपूर्व सैनिक रमाशंकर यादव के घर बदमाशों ने हमला कर दिया था। पीड़ित भूतपूर्व सैनिक के मुताबिक जमीन को लेकर उसके पट्टीदार से काफी दिनों से विवाद चला आ रहा है। इसबीच बीते 27 अक्टूबर की रात पट्टीदार के कुछ लोग घर के आगे अवैध दीवार निर्माण करा रहे थे। ये देख जब इसका विरोध किया गया तो पट्टीदार र्इंट-पत्थर से हमला कर दिए। रात को पुलिस को सूचना दी गई तो पुलिस ने दोनों पक्ष के एक-एक लोगों को हिरासत में लेकर चालान कर दिया। भूतपूर्व सैनिक रमाशंकर यादव की मानें तो पुलिस जिस वक्त दोनों को चौकी पर ले गए, उस वक्त किसी पक्ष के उपर पुलिस ने हाथ नहीं छोेड़ा। इसके बाद दूसरे दिन 28 अक्टूबर को दोनों को चालान कर दिया गया। लेकिन अब विपक्षी द्वारा अस्पताल में भर्ती होना सरासर झूठा केस बनाने के लिए इस तरह की साजिश रची जा रही है है। लेकिन सत्य हमेशा प्रताड़ित होता है पराजित नहीं।

पुलिस पर दबाव बनाकर कराना चाहते है निर्माण: चौकी इंचार्ज
बलिया। खबर के सिलसिले में जब चौकी इंचार्ज चक्रपाणी मिश्र से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जिस पक्ष द्वारा अवैध निर्माण कराया जा रहा था, उस पक्ष के एक को मैंने हिरासत में लिया। साथ ही दूसरे पक्ष के भी एक को मेरे द्वारा 151 में चालान किया गया। मेरे द्वारा किसी पर हाथ नहीं छोड़ा गया। लेकिन अवैध निर्माण कराने वाला पक्ष पुलिस पर इसलिए दबाव बना रहा है ताकि वे एक बार फिर से अवैध निर्माण करा सकें। लेकिन मैं ऐसा होने नहीं दूंगा।

जमानत के बाद ही जाना चाहिए था जिला अस्पताल, दूसरे दिन क्यों
बलिया। भूतपूर्व सैनिक रमाशंकर यादव ने कहा कि पुलिस सिर्फ मेरे पट्टीदार को ही नहीं बल्कि मुझे भी हिरासत में लेकर 27 अक्टूबर की रात पहले चौकी में रखा। फिर दूसरे दिन चालान कर दिया। रातभर रखने के वक्त पुलिस ने किसी पर कोई हाथ नहीं छोड़ा, दूसरे दिन चालान हुआ और जमानत करने के बाद दोनों जब बाहर आए तो उसी दिन विपक्षी को जिला अस्पताल आना चाहिए था इलाज कराने के लिए। लेकिन ये लोग दूसरे दिन यानी 29 अक्टूबर को जिला अस्पताल गए हैं इलाज कराने के लिए। इससे यही साबित होता है कि विपक्षी झूठा केस बनाने के लिए इस तरह की साजिश रची है।

Continue Reading

बलिया

हवाई फायरिंग कर दबंगों ने जोता 20 बीघा खेत, पुलिस ने

Published

on

बैरिया। दबंगों द्वारा हवाई फायरिंग करके जबरन 20 बीघा खेत जोतवा लिया गया। इसकी शिकायत लेकर किसान पुलिस की शरण में पहुंचे, जहां पुलिस ने कार्रवाई का भरोसा दिया है। घटना गंगा उस पार रामपुर मौजा का है। यहां काफी दिनों से नौरंगा के लोगों के साथ शुभनथही, रामपुर व भुवालछपरा के किसानों का भूमि विवाद चला आ रहा है।
शुक्रवार को भुवाल छपरा निवासी बरमेश्वर मिश्र सहित कुछ लोग अपने खेतों की साफ सफाई कर रहे थे, तभी नौरंगा के पांच लोग असलहों से लैस होकर चार पहिया वाहन से खेत में आये। उनके साथ में दो ट्रैक्टर भी आया। चार पहिया वाहन से उतर कर नौरंगा के पांच लोग अंधाधुंध फायरिंग करने लगे, जिसके चलते बरमेश्वर मिश्र व खेत मे काम कर रहे अन्य लोग वहां से भाग खड़े हुए। इसके बाद असलहे के बल पर उक्त लोगों ने लगभग बीस बिग्घा खेत जुतवा लिया, जिसे शुभनथही के लोग अपना खेत बता रहे हैं। भुवाल छपरा निवासी बरमेश्वर मिश्र ने नौरंगा के पांच लोगों के खिलाफ फायरिंग करने व असलहे के बल पर खेत जुतवा लेने का तहरीर बैरिया थाने में दिया है।

-भूमि विवाद कई वर्षो से वहां चल रहा है। पिछले वर्ष मैंने शुभनथही के किसानों की भूमि का चिन्हांकन करवा कर जमीन निकलवा दिया था। इस वर्ष भी इनकी जमीन चिन्हांकन करवा कर निकलवाऊं गा। किसी को भी अवैध कब्जा नही करने दूंगा। जहां तक फायरिंग की बात है, इसकी जांच की जा रही है। अगर हवाई फायरिंग हुई होंगी तो संबंधितों के खिलाफ सख्त करवाई होगी।
संजय त्रिपाठी, एसएचओ बैरिया

Continue Reading

Trending