मोदी जी ने 10 सबसे अमीर उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया- राहुल गांधी

INDIA

कर्नाटक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि किसानों और मजदूरों की जेबों से पैसा निकलकर उद्योगपतियों की जेबों में जा रहा है। राहुल गांधी के आरोपों पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का जवाब आया। अमित शाह ने कर्नाटक में कहा कि राहुल गांधी झूठ बोल रहे हैं। एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा- ”पैसा किसानों, मजदूरों की जेब से निकलकर 10 उद्योगपतियों की जेब में जा रहा है। आपने देश के 10 सबसे अमीर उद्योगपतियों का लोन माफ किया, मोदी जी क्या आप हिन्दुस्तान के किसानों का लोन माफ करोगे? कोई जवाब नहीं मिला।” इस पर अमित शाह ने भी एक सभा में पलटवार करते हुए कहा- ”हमने किसी भी उद्योगपति का कोई भी कर्ज माफ नहीं किया है, राहुल गांधी झूठ बोल रहे हैं।” बता दें कि राहुल गांधी लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार को किसानों, रोजगार और कालाधन जैसे अहम मुद्दों पर घेर रहे हैं।

राहुल गांधी ने पिछले दिनों उजागर हुए करीब साढ़े ग्यारह हजार करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले को लेकर भी प्रधानमंत्री मोदी को घेरा था। राहुल गांधी ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने बड़े जादूगर हैं कि लोकतंत्र को भी गायब कर सकते हैं। राहुल गांधी ने पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम वाले ट्वीट को ट्वीट करते हुए सुझाव तक दिया था कि वह नीरव मोदी जैसे घोटालेबाजों पर बात करें।

कर्नाटक में इसी साल अप्रैल-मई में राज्य की 224 सीटों के लिए विधानसभा चुनाव होने हैं। राज्य में कांग्रेस की सरकार है। चुनावों को नजदीक देखते हुए दोनों दल कांग्रेस और भाजपा मतदाताओं को लुभाने के लिए पूरा जोर लगा रहे हैं। पिछले दिनों राहुल गांधी को कर्नाटक के मंदिर और दरगाह की यात्रा करते हुए भी देखा गया था। वहीं बीजेपी ने राज्य में परिवर्तन यात्रा निकाली थी। परिवर्तन यात्रा के समापन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा के लिए वोट मांगें थे। उन्होंने कहा था कि येदियुरप्पा किसान के बेटे हैं, इसलिए वह किसानों का भला करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *