यूपी सरकार करेगी जिले स्तर पर ‘लोक कल्याण मित्र’ की भर्ती, 30 हज़ार सैलरी

JOB UTTAR PARDESH

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने लोकसभा चुनाव से पहले सरकारी योजनाओं को गांव-गांव तक पहुंचाने और पब्लिक फीडबैक की जानकारी की रणनीति तैयार कर ली है।

प्रदेश कैबिनेट ने मंगलवार को प्रदेश के सभी 822 विकास खंडों में एक-एक और राज्य मुख्यालय पर दो, कुल 824 लोक कल्याण मित्रों की नियुक्ति के लिए लोक कल्याण मित्र इंटरर्नशिप प्रोग्राम को मंजूरी दे दी। इनका चयन जिला स्तर पर होगा। इसमें 30 प्रतिशत महिलाएं होंगी।

अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि ब्लाक स्तर पर एक-एक लोक कल्याण मित्र तथा प्रदेश स्तर पर दो कल्याण मित्र तैनात किए जाएंगे। इनका चयन एक वर्ष केलिए होगा। कार्यक्रम की लाभप्रदता और उपयोगिता के मद्दनेजर मुख्यमंत्री के अनुमोदन से कार्यक्रम को एक वर्ष के लिए बढ़ाया जा सकेगा।

चयनित युवाओं को 25 हजार रुपये मानदेय और 5000 रुपये ग्रामीण क्षेत्रों में आने-जाने के लिए यात्रा भत्ता के रूप में मिलेंगे। उन्हें प्रतिमाह 30 हजार रुपये का भुगतान हो सकेगा।

अवस्थी ने बताया कि इस प्रोग्राम के क्रियान्वयन के लिए अब नियमावली तैयार कर मंजूरी ली जाएगी। अक्तूबर तक इसे लागू कर दिया जाएगा।

अवस्थी ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा संचालित योजनाओं व कार्यक्रमों केव्यापक प्रचार-प्रसार व फीडबैक मेकेनिज्म को पुख्ता बनाने के लिए लोक कल्याण मित्र इंटर्नशिप प्रोग्राम लागू की जा रही है। इसमें ऐसे उत्साही व अनुभवी युवाओं को शामिल करना है जो वास्तव में सामाजिक परिवर्तन लाने के इच्छुक हैं।

डीएम की अध्यक्षता वाली समिति करेगी चयन
जिला स्तर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति लोक कल्याण मित्रों का चयन करेगी। इसमें मुख्य विकास अधिकारी और सूचना विभाग के प्रतिनिधियों के अलावा अन्य जिला स्तरीय वरिष्ठ अधिकारी शामिल किए जा सकेंगे।

प्रदेश स्तरीय दो कल्याण मित्रों का चयन मंडलायुक्त लखनऊ की अध्यक्षता में मंडल स्तरीय वरिष्ठ अधिकारियों वाली समिति करेगी। इनके चयन में आरक्षण के नियमों का पालन करना होगा।

लिखित परीक्षा से होगा चयन

अवस्थी ने बताया कि लोक कल्याण मित्रों का चयन लिखित परीक्षा से होगा। इसमें 21 से 40 वर्ष के युवा शामिल हो सकेंगे। कला, विज्ञान, कृषि विज्ञान, इंजीनियरिंग, प्रबंधन आदि में स्नातक युवा आवेदन कर सकेंगे। कंप्यूटर की जानकारी जरूरी होगी। एमएस ऑॅफिस और एमएस वर्ल्ड आदि की जानकारी उपयोगी रहेगी।

गिरि इंस्टीट्यूट, आईआईएम में मिलेगा प्रशिक्षण
चयनित लोक कल्याण मित्रों को गिरि इंस्टीट्यूट लखनऊ, आईआईएम लखनऊ, बीएचयू, टाटा इंस्टीट्यूट आदि संस्थाओं में प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। ये गांव-गांव जाएंगे और सरकारी योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करेंगे। लाभार्थियों के फार्म भरवाएंगे। योजनाओं का लाभ पाने में कोई मुश्किल है तो उसका फीडबैक देंगे।

इसलिए यह प्रयोग

सरकार का मानना है कि केंद्र व प्रदेश सरकार की कई योजनाएं हैं जिसका बड़ी संख्या में लोगों को लाभ मिला है लेकिन तमाम लोगों को इसकी जानकारी नहीं हो पाती। जन-धन योजना, उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री आवास और किसान ऋण माफी योजना का लाभ लाखों लोगों को मिला है।

केंद्र की आयुष्मान भारत योजना का लाभ बड़ी संख्या में पहुंचाने पर काम चल रहा है। घर-घर बिजली पहुंचाने के लिए उजाला योजना पर काम चल रहा है। ये लोक कल्याण मित्र सरकारी योजनाओं के प्रचार दूत की तरह काम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *