Connect with us

बलिया स्पेशल

‘लिविंग लिजेंड आफ बलिया’ की शुरूआत ,राज्यपाल ने किया वेबसाइट का उद्घाटन

Published

on

बलिया डेस्क : लिविंग लिजेंड आफ बलिया की शुरूआत हो चुकी है। सोमवार को इसकी वेबसाइट लाच के मौके पर राज्यपाल एवं कुलाधिपति श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि ‘लिविंग लिजेन्ड्स ऑफ बलिया’ फोरम के माध्यम से जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय ने बलिया की उन विभूतियों को फिर से यहां की मिट्टी से जोड़ने की अनूठी पहल  है, जो फिलहाल यहां से दूर रहकर विभिन्न क्षेत्रों में अपना विशिष्ट योगदान दे रहे हैं।

विश्वविद्यालय द्वारा मंगलवार को आयोजित ‘वर्तमान शैक्षिक परिदृश्य एवं जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय की भूमिका: चुनौतियों एवं संभावनाएं’ विषयक संगोष्ठी एवं ‘लिविंग लिजेन्ड्स ऑफ बलिया’ फोरम की वेबसाइट (www.llbjncu.in) का राजभवन से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन करते हुए कही। उन्होंने कहा कि इस फोरम के माध्यम से विश्वविद्यालय बलिया की विभूतियों को अपनी मिट्टी से जुड़ने तथा मधुर स्मृतियों को संजोने का न सिर्फ अवसर प्रदान करेगा, बल्कि मातृभूमि के ऋण से उऋण होने का अवसर भी प्रदान करेगा।

राज्यपाल ने कहा कि यह विश्वविद्यालय बलिया के जिस महान विभूति चन्द्रशेखर के नाम पर स्थापित है, उनके पदचिन्हों पर चलकर कार्य करें और शीर्ष पर पहुंचे। बलिया की धरती एक अत्यन्त उर्वर धरती है, जिसने तमाम ऋषि-मुनियों से लेकर स्वाधीनता सेनानियों, साहित्यकारों, विद्धानों, बुद्धिजीवियों और राष्ट्रीय स्तर के नेताओं तक को जन्म दिया है। राज्यपाल ने बल देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय को स्वास्थ्य एवं शिक्षा पर विशेष ध्यान देने की आवश्कता है। इसके लिए विश्वविद्यालय समय-समय पर ग्रामीण क्षेत्रों में कुपोषित बच्चों, गर्भवती महिलाओं का सर्वेक्षण करें व स्वास्थ्य शिविर लगाएं और जागरूकता अभियान चलाएं।

श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि नई शिक्षा नीति स्वदेशी ज्ञान और तकनीक के आधार पर नये भारत को शक्तिशाली बनाने में सहायक होंगे। शिक्षा को भारतीय जनजीवन तथा सामाजिक व सांस्कृतिक चेतना से जोड़ने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति से भारतीय ज्ञान-शक्ति के सहारे आत्मनिर्भर भारत का सपना साकार होगा। इस अवसर पर जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय, बलिया की कुलपति प्रो. कल्पलता पाण्डेय एवं विश्वविद्यालय के अन्य अधिकारीगण आनलाइन जुड़े थे।

विवि ने कम समय में किया बेहतर कार्य

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालय ने अपने छोटे-से जीवनकाल में ही कई महत्वपूर्ण कार्य किए हैं, जो प्रशंसनीय है। सीमित संसाधनों और कोरोना से उत्पन्न कठिन परिस्थितियों के बावजूद विश्वविद्यालय ने निर्धारित समय सीमा के अंदर नकलविहीन परीक्षा कराई, समय से परीक्षाफल घोषित किया। कुछ पाठ्यक्रमों में सबसे पहले परीक्षाफल घोषित करके इस विश्वविद्यालय ने प्रदेश भर के विश्वविद्यालय के समक्ष एक अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया।

बलिया में मत्स्य उत्पादन की व्यापक संभावनाएं

राज्यपाल ने कहा कि बलिया जनपद प्राकृतिक जल-स्रोतों से अत्यंत समृद्ध है और यहां मत्स्य उत्पादन की व्यापक संभावनाएं भी हैं। इसके लिए सम्यक प्रशिक्षण और वैज्ञानिक तरीकों का प्रयोग करते हुए मत्स्य उत्पादन में भारी वृद्धि की जा सकती है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय इस क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में अध्ययन एवं शोध को बढ़ावा दिया जाए तो यहां के किसानों की समृद्धि के दरवाजे खुल सकते हैं। परंपरागत कृषि की जगह नवाचारी कृषि का प्रयोग यहां के किसानों का जीवन स्तर बदल सकता है।

बलिया स्पेशल

बलिया- जिला मजिस्ट्रेट अदिति सिंह ने 11 को किया जिला बदर

Published

on

बलिया: यूपी के बलिया में जिला प्रशासन ने पंचायत चुनाव में शांति व्यवस्था के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत 11 व्यक्तियों को आपराधिक कृत्यों के मद्देनजर 6 महीने के लिए जिला बदर कर दिया है।

जिला मजिस्ट्रेट अदिति सिंह ने गुंडा नियंत्रण अधिनियम के अंतर्गत ये कारवाई की है । उन्होंने सभी संबंधित थानों के प्रभारियों को इस आदेश का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने को कहा है। पुलिस अधीक्षक व ज्येष्ठ अभियोजन अधिकारी की रिपोर्ट के बाद उन्होंने यह कार्रवाई की है।

जिला मजिस्ट्रेट ने सूरज यादव निवासी पटपर थाना खेजुरी, राहुल राम निवासी बलेसरा थाना गड़वार, नारद पासवान निवासी हरदत्तपुर थाना बाँसडीह, राकेश गोंड निवासी बहुआरा थाना दोकटी, अजय कुमार गुड्डू निवासी इसारी रामबारी थाना नगरा, पिंटू सिंह उर्फ मणि सिंह निवासी छितौनी थाना मनियर, राजबहादुर सिंह निवासी कुशहा रसीदपुर थाना भीमपुरा, मुकेश गोंड निवासी गोविंदपुर थाना भीमपुरा, सिकन्दर पासवान निवासी निरुपुर थाना हल्दी, राजेन्द्र उर्फ राजा बाबू ग्राम जवहीं दियर थाना हल्दी व रामायण सिंह ग्राम छितौनी थाना मनियर को जिला बदर का आदेश दिया है।

Continue Reading

featured

बलिया में टूटे सारे रिकॉर्ड, पहली बार 24 घंटे में 216 नए केस, एक की मौत

Published

on

बलिया डेस्क : बलिया में कोरोना वायरस की रफ्तार बेकाबू हो गई है. जिले में पहली बार 24 घंटे के भीतर 216 कोरोना वायरस के केस दर्ज किए गए हैं. वहीँ आज 1 मरीज की मौत भी हुई है. जिले में इस बीमारी से अबतक 117 लोग जान गवा चुके हैं.

जारी आकड़ों के मुताबिक जिले में आज 216 नए मामले सामने आये हैं. जिले में राज्य में कोरोना संक्रमण  के मद्देनज़र जिले में नाईट कर्फ्यू भी लगाया  गया है.

वहीं जिले में अबतक कुल 117 की जान इस बीमारी से चली गई.  जिले में अब कुल कोरोना केसों का नंबर 9118 हो गया है.  कुल केसों में से 2048 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं.  879 केस फिलहाल ऐक्टिव हैं.

Continue Reading

featured

CM योगी का आदेश, बलिया में वेंटिलेटर, L-3 बेड्स की सुविधा उपलब्ध कराई जाए

Published

on

 बलिया । कोरोना से लोगों के बचाव को लेकर उप्र की योगी सरकार अलर्ट मोड़ पर है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए सूबे में किए गए चिकित्सा प्रबंधों की रोज समीक्षा कर रहे हैं।

राज्य में रोजाना कितने लोग कोरोना की चपेट में आ रहे हैं और उनके इलाज के लिए जिलों में क्या क्या कदम उठाये जा रहे है  तथा प्रदेश में प्रतिदिन कितने लोगों ने टीकाकरण कराया, मुख्यमंत्री इसकी भी समीक्षा  रोज कर रहे हैं।

वहीं बलिया को लेकर सीएम योगी खास निर्देश दिया है सीएम ऑफिस के आफिसियाल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है कि बलिया में वेंटिलेटर व HFNC को फंक्शनल किया जाए तथा एल-3 बेड्स की सुविधा उपलब्ध कराई जाए।  बात दें की बलिया में कोरोना के रोज औसतन 100 मरीज मिल रहे हैं , इसी को देखते हुए स्वास्थ विभाग को अलर्ट किया गया है ।

Continue Reading

TRENDING STORIES