Connect with us

Uncategorized

लव मैरेज करना इस्लाम में जायज़ है की नही?देखिये विडियो.

Published

on

दोस्तों मौलाना तारिक जमील साहब कहते हैं कि मां-बाप अपनी जिद पर अड़े हुए हैं और बच्चे अदालतों में जाकर शादियां कर रहे हैं मौलाना कहते हैं कि यह भी नादान है वह भी नादान है मैं नौजवानों से कहता हूं कि ऐसा इश्क ना करो कि अदालतों में जाकर शादियां करनी पड़े मां बाप की दुआ ना मिली तो जिंदगी भर कभी बहार नहीं देखोगे और मां-बाप से कहता हूं कि ऐसा जुल्म अपने बच्चों पर ना करो कि यही तुम्हें शादी करनी है करना है तो करो वरना जिंदगी भर बैठे रहो यह जुल्म भी मत करो हमारे देश में बेटियों से कोई नहीं पूछता की बेटी यह तेरा रिश्ता आया है कर दे बेटे तो आज भी कुछ अकड़ मकड़ करके अपनी बात को मनवा लेते हैं.

लेकिन देहातों में यह नहीं होता हमारी माहौल में ऐसा कुछ नहीं है हमारे माहौल में जहां बाप ने कह दिया वही करना पड़ेगा मौलाना कहते हैं कि मैं मां-बाप से कहता हूं अगर बेटा कहीं शादी करने को कहे तो कर दो जुल्म ना करो अपने मां बाप होने का गलत फायदा नाम तो कल कयामत मैं तुमसे पूछ होगी और मैं बिट्टू से भी कहता हूं कि अपने मां बाप की मान लो और उनके लिए अपनी खुशी को कुर्बान कर दो अल्लाह तुम्हारे लिए खैर का रास्ता बनाएगा.

आज लोग दुनिया में बेटियों पर ज्यादा जुल्म करते हैं बेटी बगल में बैठी होती है लेकिन उसका रिश्ता करते वक्त उससे पूछते भी नहीं वो कहते हैं कि हमारी माशरे में यह सब नहीं होता बच्चियां रो रो के लोगों से कहती फिरती है कि हमें यहां नहीं पसंद है लेकिन उन्हें जबरदस्ती करना पड़ता है लोगों को अपने बेटियों से पूछने में शर्म आती है उनको यह बात उन की तोहीन लगती है हालांकि बेटा जिंदगी भर जना करता फिरता है.

तो उनकी बेइज्जती नहीं होती और अगर बेटी पर शक भी पड़ जाए तो काट के रख नदियों में डाल दिया करते हैं बेटियों को जबह कर दिया करते हैं मौलाना कहते हैं कि खुदा के लिए अपनी बेटियों पर जुल्म ना करूं उनसे बिना पूछे उनकी शादी ना करूं खुद रसूलल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने अपनी बेटी से पूछे बिना उनकी शादी नहीं की थी ।।आगे देखें वीडियो में।।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uncategorized

अभी इतने लोगों की रिपोर्ट आना बाकी, जानें बलिया का कोरोना हेल्थ बुलेटिन……

Published

on

Continue Reading

Uncategorized

डीएम-एसपी ने बक्सर व गाजीपुर बॉर्डर का लिया जायजा, जानें क्या हुआ…..

Published

on

 

– थानाध्यक्ष नरहीं को दिया निर्देश, सख्ती से रोके रहें आवागमन

– वाहन पास की जांच पड़ताल के बाद ही किसी को जाने दें

बलिया: जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही और पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ ने बुधवार को बलिया-बक्सर बॉर्डर और बलिया-गाजीपुर बॉर्डर का निरीक्षण किया। भ्रमण के दौरान पुलिस अधिकारियों और जवानों को निर्देश दिया कि किसी भी हालत में किसी भी व्यक्ति की आवाजाही नहीं होनी चाहिए। बॉर्डर पूरी तरह सील है, इसका ख्याल रहे। दोनों अधिकारियों ने बक्सर पुल के पास भ्रमण कर बिहार प्रांत के पुलिस के जवानों से भी कहा कि उधर से किसी व्यक्ति को बलिया की सीमा में नहीं आने दें और न ही किसी को जाने दें।

जिलाधिकारी ने नरहीं थानाध्यक्ष को सख्त निर्देश दिया कि राशन लेकर जाने वाली गाड़ियों को भी बकायदा वाहन पास आदि की जांच पड़ताल करने के बाद ही जाने दें। बिहार से तो आवागमन एकदम नहीं होने पाए, यह सुनिश्चित कराएं। इसके बाद बलिया-गाजीपुर बॉर्डर पर भी दोनों अफसर गए। वहां बने बैरियर को हमेशा गिराकर रखने का निर्देश दिया। कहा कि वाहन पास लेकर जाने वाली गाड़ियों को ही जाने दें, लेकिन उससे पहले बकायदा जांच पड़ताल जरूर कर लें।

क्वारंटाइन सेंटर का किया निरीक्षण

बॉर्डर पर भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी श्री शाही ने सिद्धेश्वरनाथ इंटर कॉलेज कोटवा नारायणपुर में बने क्वारंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां साफ-सफाई के सम्बंध में जरूरी दिशा-निर्देश दिए। कहा कि सेंटर व्यवस्था ऐसी हो कि सोशल डिस्टेंस का अक्षरशः अनुपालन हो सके। किसी को कोई दिक्कत नहीं हो। उन्होंने सफाईकर्मियों को सुरक्षा के विभिन्न उपाय को अपनाते हुए काम करने की सलाह दी।

Continue Reading

Uncategorized

सीएम योगी की मौसी को उत्तराखंड पुलिस ने रोका, जाने क्याें…..

Published

on

 

लखनऊ.  प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता के निधन पर उनकी मौसी सरोज देवी को अंत्येष्टि कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पौड़ी जाते समय उत्तराखंड सीमा पर पुलिस ने रोक लिया। बाद में जिला प्रशासन के हस्तक्षेप पर उन्हें दूसरा पास जारी किया गया। सहारनपुर के जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने बताया कि पास होने के बावजूद मुख्यमंत्री योगी की मौसी सरोज देवी को उत्तराखण्ड में दाखिल होने से रोका गया था। इसके बाद उन्हें फिर से नया पास जारी किया गया। उत्तराखण्ड के अधिकारियों से बात करके समस्या सुलझा लिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौसी सरोज देवी अपने परिवार के साथ सहारनपुर के वीन नगर इलाके में रहती हैं। उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि उत्तराखंड पुलिस द्वारा रोके जाने क बाद मैंने जिलाधिकारी की तरफ से जारी पास दिखाया था मगर उन्होंने (उत्तराखण्ड के अधिकारियों) मना कर दिया। हमने गांव में अपने रिश्तेदारों से बात करने को कहा, मगर फोन नहीं उठा। अधिकारियों ने मुझसे कहा कि सिर्फ भाई और बहनें ही जा सकती हैं। मुझसे कहा गया कि आप वापस लौट जाएं। उन्होंने भरे गले से कहा कि मुझे दुख तो होना ही है ।

लॉक डाउन को सफल बनाने व कोरोना परास्त करने के कारण अंतिम संस्कार में नहीं जाऊँगा : योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री ने सोमवार को अपनी भावनाएं कुछ यूं व्यक्त कीं… । उन्होंने कहा कि अन्तिम क्षणों में उनके दर्शन की हार्दिक इच्छा थी, परन्तु वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ देश की लड़ाई को यूपी की 23 करोड़ जनता के हित में आगे बढ़ाने के कर्तव्यबोध के कारण मैं उनके अंतिम दर्शन न कर सका। कल 21 अप्रैल को अन्तिम संस्कार के कार्यक्रम में लॉकडाउन की सफलता और महामारी कोरोना को परास्त करने की रणनीति के कारण भाग नहीं ले पा रहा हूं। पूजनीया माँ, पूर्वाश्रम से जुड़े सभी सदस्यों से भी अपील है कि लॉकडाउन का पालन करते हुए कम से कम लोग अन्तिम संस्कार के कार्यक्रम में रहें। पूज्य पिताजी की स्मृतियों को कोटि-कोटि नमन करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा हूं। सीएम ने कहा कि लॉकडाउन के बाद वह दर्शनार्थ जाएंगे।

Continue Reading

Trending