Connect with us

बेल्थरा रोड

बलिया- ग़रीबों की थाली से पहले ही ग़ायब हुई दाल और सब्ज़ी अब मध्यम वर्ग के लोगों को भी नहीं नसीब!

Published

on

बिल्थरारोड डेस्क :  कोविड-19 के इस दौर में जहां लोगों के समक्ष रोजी रोजगार का संकट बढ़ गया है वही दिन प्रतिदिन बढ़ते सब्जियों के दाम ने जले पर नमक का काम किया है। दाल- रोटी खाओ प्रभु के गुण गाओ का भजन भी आज के दौर में बेमानी सी हो गई है। ₹90 की बिकने वाली दाल जहां 130 तक पहुंच गई है वहीं सब्जियों के दाम आसमान चूम रहे हैं।

इसके चलते गरीबों के साथ ही मध्यम वर्ग के भी थाली से दाल व सब्जी दूर हो चले हैं। बाजार में जहां का सब्जियों का राजा आलू ₹35 में बिक रहा है वहीं हरी सब्जियों का कहना ही क्या? जिस सब्जी को लोग बहुत पसंद से नहीं खाते वह भी आजकल 50 से कम नहीं है। नगर में इस समय आलू जहां ₹35 बिक रहा है वही बैगन 50, लौकी 40, करेली 60, फूल गोभी 100, भिंडी 50, पत्ता गोभी 60, प्याज 45, मिर्चा 120, पपीता 40, परवल 80, बोडो़ ₹70, कोहड़ा ₹30 तथा चौराई का साग भी ₹30 किलो है।

विज्ञापन

वर्तमान में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए काढ़ा बनाने में प्रयोग आ रही अदरक भी ₹120 तक पहुंच आसमान छू रही है। एक तरफ लोग दिन प्रतिदिन अपनी गिरती आर्थिक स्थिति से परेशान हैं वहीं सब्जियों और दालों के बढे़ मूल्य ने उन्हें कहीं का नहीं छोड़ा है। सब्जी दुकानदार आबिद अली ने बताया कि ग्राहक आते हैं और सब्जियों को दाम पूछ कर के आगे बढ़े चले जाते हैं और जाते-जाते यह कहते हैं इससे अच्छा तो रोजाना सोयाबीन सस्ता रहेगा।

निलेश मद्धेशिया

बलिया स्पेशल

बलिया में बढ़ते कोरोना केस के चलते सोनाडीह मेला की नहीं मिली इजाज़त

Published

on

बलिया। बलिया में  कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी  के चलते बलिया प्रशासन ने प्रसिद्ध सोनाडीह मेला की इजाज़त नहीं दी है।

पीटीआई-भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक उभांव थाना के प्रभारी ज्ञानेश्वर मिश्र ने  बताया, ‘‘कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए सोनाडीह मेला के आयोजन की अनुमति नही दी गई है। लेकिन श्रद्धालु मां भागेश्वरी-परमेश्वरी मंदिर में कोविड-19 सुरक्षा सम्बन्धी नियमों का पालन करते हुए दर्शन पूजन कर सकते हैं।’’

मेला व्यवस्थापक अधिवक्ता वीरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि मेला के आयोजन के लिए उन्होंने जिला प्रशासन को पत्र लिखकर अनुमति देने का अनुरोध किया था लेकिन प्रशासन से इसकी अनुमति नहीं मिली।

बता दें कि बलिया और मऊ जिले की सीमा पर स्थित जिले के सोनाडीह गांव में 52 बीघा परिसर में बने मां भागेश्वरी-परमेश्वरी मंदिर में चैत्र रामनवमी पर विशाल मेला लगता है।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

AIMIM ने बलिया के अपने एक प्रत्याशी का टिकट वापस लिया !

Published

on

बलिया । ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन यानी (AIMIM) ने बलिया के एक उम्मीदवार का वापस ले लिया है। AIMIM अध्यक्ष अमानुल हक अब्बासी की तरफ से अपने पदाधिकारी और कार्यकर्ता को भेजे एक सन्देश में अब्बासी ने कहा है कि “पार्टी ने सियर की वार्ड नंबर 24 से घोषित प्रत्याशी सद्दाम अहमद उर्फ़ शेरिफ अहमद का टिकट वापस ले लिया है। सन्देश में लिखा है  “वार्ड नंबर 24 से पार्टी के घोषित प्रत्याशी ने भासपा का दामन थाम लिया है। जिसकी वजह से हमने उनका टिकट वापस ले लिया है। इसलिए वार्ड 24 से फिलहाल पार्टी का अभी कोई प्रत्याशी नहीं है।”

जिला अध्यक्ष ने अपने पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं से कहा है कि चुकी संकल्प मोर्चा चुनाव में अब नहीं रहा इसलिए हम सभी सिर्फ और सिर्फ अपने प्रत्याशियों का ही प्रचार प्रसार करें।

हालाँकि इस मामले पर बलिया खबर के रिपोर्टर सतीश कुमार ने जिला अध्यक्ष अब्बासी से इस पुरे मामले पर तफ्सीली जानने की कोशिश की लेकिन वो ऑन रिकॉर्ड कुछ भी बोलने से बचते दिखे। बलिया में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन ने जिला पंचायत चुनाव के लिये अपने 9 उम्मीदवारों का ऐलान किया था। जानकारी के लिए बता दें भागीदारी संकल्प मोर्चा के घटक दलों के बीच सीटों के बंटवारे का फार्मूला तय करने में नाकाम रही सभी पार्टियों ने बलिया में अपने-अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

Continue Reading

बेल्थरा रोड

बिल्थरारोड में भीख मांगने वाली महिला की ट्रेन से कटकर मौत, बच्चे हुए अनाथ

Published

on

बलिया डेस्क : जिले बिल्थरारोड रेलवे स्टेशन से एक दर्दनाक घटना सामने आई है। स्टेशन के प्लेटफार्म नं एक पर रविवार की शाम दादर (काशी) एक्स से एक भिक्षाटन करने वाली महिला की कट कर मौत हो गयी। जीआरपी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मऊ भेज दिया। महिला के दो अबोध बच्चे भी है। बच्चों का रो-रो कर बुरा हाल है।

बताया जा रहा कि मुम्बई-गोरखपुर काशी एक्स के बिल्थरारोड पहुचते ही एक 35 वर्षीय भिक्षा मांगने वाली महिला अपने दो मासूम बच्चों को छोड़कर ट्रैन के नीचे जाकर लेट गयी। ट्रैन के चलते ही महिला के दो टुकड़े हो गए। इसके बाद बच्चे अपनी मां को कटा देख चिल्लाकर रोने लगे। रोने की आवाज सुन के जीआरपी पुलिस मौके पर पहुंच कर बच्चों को संभाला और महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मऊ भेज दिया।

दोनों बच्चों में एक चार वर्षीय लड़का और एक तीन वर्षीय लड़की है। दोनों अपना नाम और पता बताने में असमर्थ है। जीआरपी पुलिस के अनुसार पता किया जा रहा है। पता लगने पर बच्चों को उनके घर भेजा जाएगा। पता न चलने की दशा में बच्चों को अनाथालय भेज दिया जाएगा।

Continue Reading

TRENDING STORIES