Connect with us

बलिया स्पेशल

बलिया- कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए दो पालियों में चलेंगे स्कूल, लापरवाही पर होगी कार्रवाई

Published

on

बलिया: जिला विद्यालय निरीक्षक भास्कर मिश्र ने समस्त स्कूल एवं कोचिंग संस्थान शैक्षणिक कार्य के लिए 19 अक्टूबर से खोलने का निर्णय हुआ है। सभी स्कूल दो पालियों में चलेंगे और अधिकतम 50 प्रतिशत विद्यार्थियों को ही बुलाया जाएगा। पहली पाली में कक्षा-9 व 10 तथा दूसरी पाली में 11वीं व 12वीं के छात्रों को बुलाया जाएगा।

हर पाली के बाद क्लासरूम को सेनेटाइज ​कराने के निर्देश है। उन्होंने समस्त प्रबंधक व प्रधानाचार्य को पत्र जारी कर कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पूरा पालन करते हुए शैक्षणिक कार्य शुरू कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने मास्क ​पहनने के साथ विद्यार्थियों को छह फीट की दूरी पर ही बै​ठाया जाए। और हां, विद्यार्थियों को उनके अभिभावकों की लिखित सहमति के बाद ही बुलाया जाए। इसका गहन निरीक्षण होगा और अगर किसी विद्यालय पर लापरवाही मिली तो कार्रवाई भी होगी। डीआईओएस ने निर्देशित किया है कि स्कूल खोले जाने से पहले उसे सेनेटाइज करा लिया जाए।

यह प्रक्रिया प्रतिदिन प्रत्येक पाली के बाद कराई जाए। विद्यालय में सेनेटाइजर, हैण्डवास, ​थर्मल स्कैनर व प्राथमिक उपचार की भी व्यवस्था रखी जाए। हैण्डवाश व सेनेटाइज के बाद ही ​स्कूल में प्रवेश कराया जाए। डीआईओएस ने साफ कहा है कि किसी विद्यार्थी या अध्यापक में सर्दी, खांसी, जुखाम जैसे कोई लक्षण दिखाई दे तो उन्हें वापस घर भेज दिया जाए।

मुख्य गेट पर सोशल डिस्टेंस का ख्याल रहे और एक साथ सभी छात्रों की छुट्टी नहीं की जाए। जिला विद्यालय निरीक्षक ने यह भी कहा है कि जिन विद्यार्थियों के पास आनलाइन पठन-पाठन की सुविधा नहीं है, उन्हें प्राथमिकता के आधार पर विद्यालय बुलाया जाए।

दर्जन भर स्कूलों का किया निरीक्षण, देखी तैयारियां- स्कूलों को खोलने के निर्णय के बाद कोविड-19 प्रोटोकॉल की तैयारियों का जायजा लेने के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक भास्कर मिश्र ने शनिवार को दर्जन भर स्कूलों का निरीक्षण किया। उन्होंने राजकीय बालिका इण्टर कालेज, सुखपुरा इण्टर कालेज, सेंट जेवियर्स स्कूल धरहरा, गांधी इण्टर कालेज सिकंदरपुर, गंगोत्री इण्टर कालेज सिकंदरपुर,

ज्ञानकुंज स्कूल वंशीबाजार, जनता इण्टर कालेज नवानगर, जीएमएम इण्टर कालेज बेल्​थरारोड का निरीक्षण किया। जहां कुछ कमियां मिली उसे दुरूस्त करा लेने का निर्देश दिया। स्कूल के प्रबंधक व प्रधानाचार्य से स्पष्ट रूप से कहा कि कोविड सुरक्षा के प्रति पूरी सतर्कता बरती जानी चाहिए।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बलिया स्पेशल

बलिया: हर्ष फायरिंग करने वालों के निरस्त होंगे लाइसेंस, आरोपी की माँ बोली- बेटा निर्दोष, फंसा रही पुलिस

Published

on

बलिया डेस्क : बीजेपी नेता के बेटे के बर्थ-डे पार्टी में हर्ष फायरिंग करने वालों के लाइसेंस निरस्त किये जायेंगे। पुलिस इस मामले की वायरल वीडियो के आधार जांच कर रही है कुछ फायरिंग करने वालों की शिनाख्त भी हो चुकी है।

वहीँ भाजपा नेता को आरोपी बनाये जाने पर विफरते हुये उनकी माँ ने कहा कि,उनका बेटा निर्दोष है ,उसे साजिशन पुलिस द्वारा फँसाया जा रहा है।  बताते चलें कि, जिले के गड़वार थाने के महाकलपुर में भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष भानू दुबे के यहाँ पुत्र की जन्मदिन पार्टी के दौरान हुई हर्ष फायरिंग में वहाँ कार्यक्रम दे रहे भोजपुरी गायक को लगी गोली के मामले में कथित तौर पर पुलिस द्वारा भानू दूबे को आरोपी बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

भाजपा नेता की माँ ने पुलिस पर साजिशन आरोपी बनाने का आरोप लगाते हुये कहा कि,उनका बेटा भानू पूरी तरह निर्दोष है। उनका आरोप है कि मेरे पुत्र भानु की लोकप्रियता से आशंकित कुछ लोगों ने जानबुझकर फायरिंग कर दिया। कहा कि इसका न्याय पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को करना है।

बता दें गड़वार थाना क्षेत्र के महाकलपुर निवासी व भाजपा युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष भानु दूबे के घर बेटे के जन्मदिन पर सोमवार की रात जमावड़ा हुआ था। इसमें भोजपुरी गायक व अभिनेता गोलू राजा का सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित था। इस दौरान अंधाधुंध हर्ष फायरिंग की गयी। एक गोली स्टेज पर गीत प्रस्तुत कर रहे गायक गोलू राजा को लगी।

पुलिस ने इस मामले में आयोजक भानु दूबे पर बिना परमिशन के सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन करने, महामारी अधिनियम व 7 सीएल एक्ट के तहत मुकदमा कायम कर लिया।

विज्ञापन

Continue Reading

बलिया

जब पुलिस को फंसाने के लिए आरोपी ने रची साजिश

Published

on

बलिया। जबरन दीवार जोड़ने के लिए आरोपी ने न सिर्फ अस्पताल में भर्ती होने का पैंतरा किया। बल्कि पुलिस प्रशासन पर इस लिए मारने-पिटने का आरोप लगा रहे हैं ताकि दबाव बनाकर एक बार फिर से अवैध निर्माण करा सकें। ये कहना है कि शिवपुरदियर चौकी इंचार्ज चक्रपाणी मिश्र का। उधर इस मामले में दूसरे पक्ष के भूतपूर्व सैनिक रमाशंकर यादव ने कहा कि अवैध निर्माण को लेकर पुलिस ने दोनों पक्ष को बीते 27 अक्टूबर की रात को 151 में चालान कर दिया था, जबकि रात को पुलिस ने किसी पक्ष पर हाथ नहीं छोड़ा था। लेकिन अब जो दूसरे पक्ष द्वारा अस्पताल में भर्ती होने का नाटक किया गया है, ये न सिर्फ मनगढ़ंत है बल्कि पुलिस प्रशासन को बदनाम करने तथा दबाव बनाकर फिर से अवैध निर्माण करने के लिए इस तरह की साजिश रची गई है।

 

गौरतलब हो कि बीते 27 अक्टूबर की रात शहर कोतवाली क्षेत्र के शिवपुर दियर नंबरी गंगापार पांडेय के डेरा में भूतपूर्व सैनिक रमाशंकर यादव के घर बदमाशों ने हमला कर दिया था। पीड़ित भूतपूर्व सैनिक के मुताबिक जमीन को लेकर उसके पट्टीदार से काफी दिनों से विवाद चला आ रहा है। इसबीच बीते 27 अक्टूबर की रात पट्टीदार के कुछ लोग घर के आगे अवैध दीवार निर्माण करा रहे थे। ये देख जब इसका विरोध किया गया तो पट्टीदार र्इंट-पत्थर से हमला कर दिए। रात को पुलिस को सूचना दी गई तो पुलिस ने दोनों पक्ष के एक-एक लोगों को हिरासत में लेकर चालान कर दिया। भूतपूर्व सैनिक रमाशंकर यादव की मानें तो पुलिस जिस वक्त दोनों को चौकी पर ले गए, उस वक्त किसी पक्ष के उपर पुलिस ने हाथ नहीं छोेड़ा। इसके बाद दूसरे दिन 28 अक्टूबर को दोनों को चालान कर दिया गया। लेकिन अब विपक्षी द्वारा अस्पताल में भर्ती होना सरासर झूठा केस बनाने के लिए इस तरह की साजिश रची जा रही है है। लेकिन सत्य हमेशा प्रताड़ित होता है पराजित नहीं।

पुलिस पर दबाव बनाकर कराना चाहते है निर्माण: चौकी इंचार्ज
बलिया। खबर के सिलसिले में जब चौकी इंचार्ज चक्रपाणी मिश्र से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जिस पक्ष द्वारा अवैध निर्माण कराया जा रहा था, उस पक्ष के एक को मैंने हिरासत में लिया। साथ ही दूसरे पक्ष के भी एक को मेरे द्वारा 151 में चालान किया गया। मेरे द्वारा किसी पर हाथ नहीं छोड़ा गया। लेकिन अवैध निर्माण कराने वाला पक्ष पुलिस पर इसलिए दबाव बना रहा है ताकि वे एक बार फिर से अवैध निर्माण करा सकें। लेकिन मैं ऐसा होने नहीं दूंगा।

जमानत के बाद ही जाना चाहिए था जिला अस्पताल, दूसरे दिन क्यों
बलिया। भूतपूर्व सैनिक रमाशंकर यादव ने कहा कि पुलिस सिर्फ मेरे पट्टीदार को ही नहीं बल्कि मुझे भी हिरासत में लेकर 27 अक्टूबर की रात पहले चौकी में रखा। फिर दूसरे दिन चालान कर दिया। रातभर रखने के वक्त पुलिस ने किसी पर कोई हाथ नहीं छोड़ा, दूसरे दिन चालान हुआ और जमानत करने के बाद दोनों जब बाहर आए तो उसी दिन विपक्षी को जिला अस्पताल आना चाहिए था इलाज कराने के लिए। लेकिन ये लोग दूसरे दिन यानी 29 अक्टूबर को जिला अस्पताल गए हैं इलाज कराने के लिए। इससे यही साबित होता है कि विपक्षी झूठा केस बनाने के लिए इस तरह की साजिश रची है।

Continue Reading

बलिया

हवाई फायरिंग कर दबंगों ने जोता 20 बीघा खेत, पुलिस ने

Published

on

बैरिया। दबंगों द्वारा हवाई फायरिंग करके जबरन 20 बीघा खेत जोतवा लिया गया। इसकी शिकायत लेकर किसान पुलिस की शरण में पहुंचे, जहां पुलिस ने कार्रवाई का भरोसा दिया है। घटना गंगा उस पार रामपुर मौजा का है। यहां काफी दिनों से नौरंगा के लोगों के साथ शुभनथही, रामपुर व भुवालछपरा के किसानों का भूमि विवाद चला आ रहा है।
शुक्रवार को भुवाल छपरा निवासी बरमेश्वर मिश्र सहित कुछ लोग अपने खेतों की साफ सफाई कर रहे थे, तभी नौरंगा के पांच लोग असलहों से लैस होकर चार पहिया वाहन से खेत में आये। उनके साथ में दो ट्रैक्टर भी आया। चार पहिया वाहन से उतर कर नौरंगा के पांच लोग अंधाधुंध फायरिंग करने लगे, जिसके चलते बरमेश्वर मिश्र व खेत मे काम कर रहे अन्य लोग वहां से भाग खड़े हुए। इसके बाद असलहे के बल पर उक्त लोगों ने लगभग बीस बिग्घा खेत जुतवा लिया, जिसे शुभनथही के लोग अपना खेत बता रहे हैं। भुवाल छपरा निवासी बरमेश्वर मिश्र ने नौरंगा के पांच लोगों के खिलाफ फायरिंग करने व असलहे के बल पर खेत जुतवा लेने का तहरीर बैरिया थाने में दिया है।

-भूमि विवाद कई वर्षो से वहां चल रहा है। पिछले वर्ष मैंने शुभनथही के किसानों की भूमि का चिन्हांकन करवा कर जमीन निकलवा दिया था। इस वर्ष भी इनकी जमीन चिन्हांकन करवा कर निकलवाऊं गा। किसी को भी अवैध कब्जा नही करने दूंगा। जहां तक फायरिंग की बात है, इसकी जांच की जा रही है। अगर हवाई फायरिंग हुई होंगी तो संबंधितों के खिलाफ सख्त करवाई होगी।
संजय त्रिपाठी, एसएचओ बैरिया

Continue Reading

Trending