Connect with us

बलिया

देखें 28 जून रविवार को बलिया का कोरोना हेल्थ बुलेटिन

Published

on

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बलिया

चार नए केस के साथ बलिया में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 132

Published

on

 

बलिया.  जिले में बुधवार को चार नया कोरोना पॉजिटिव केस सामने आया हैं. जिलें में कुल मरीजों की संख्या 132 हो गई है. जिले में अब तक कुल 128 पॉजिटिव केस थे,  इसमे से 90 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं. उन्हें होम क्वॉरंटीन रहने की सलाह दी गई है. बुधवार को आई रिपोर्ट में नगर के दो और दुबहर के दो कोरोना पॉजिटिव मिला है. इसकी पुष्टि जिलाधिकारी ने की है.

Continue Reading

बलिया

टूटा हुआ रिंग बंधा बना नहीं, बाढ़ आई तो मिट जाएगा बलिया के इन गांवों का नामोनिशान

Published

on

बलिया डेस्क. टूटा हुआ रिंग बांध अभी तक नहीं बनने के कारण स्थानीय ग्राम पंचायत के बंश गोपाल छपरा सहित कई गांवों के ग्रामवासी मौजूदा समय में बाढ़ की आशंका से बहुत ज्यादा सहमे हुए हैं. उल्लेखनीय है कि वंश गोपाल छपरा, मिश्र के हाता, मठिया, किन्नू तिवारी का टोला, गुदरी सिंह का टोला, पाण्डेय पुर, रामपुर मिश्र, चिंतामणि राय का टोला, मुरली छपरा, प्रसाद छपरा, बुद्धन चक, उदई छपरा, गोपाल पुर, दुबे छपरा आदि गांव रिंग बन्धे के अन्दर घिरे हुए थे ताकि बाढ़ का पानी गांवों में प्रवेश नहीं कर सके लेकिन पिछले साल के भयानक बाढ़ में महाविद्यालय दुबे छपरा के पीछे से रिंग बांध का एक बड़ा हिस्सा टूटकर बह गया एवं इसबीच दया छपरा के सामने भी बांध का एक हिस्सा टूट गया.

 

 

अब चूंकि बरसात का मौसम शुरु हो गया है और इसके साथ ही गंगा नदी के जल स्तर में भी दिन प्रतिदिन वृद्धि हो रही है, लेकिन अभी तक बन्धे की मरम्मती नहीं हो सकी है, ऐसी स्थिति में रिंग बन्धे से घिरे हुए सभी गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. जिसके चलते सभी ग्रामवासी सहमे हुए हैं. ग्रामवासियों का कहना है कि पहले तो कम से कम रिंग बांध का सहारा था लेकिन इस बार तो रिंग बांध भी टूटा हुआ है, ऐसे में गंगा नदी का जल स्तर बढ़ने के बाद बाढ़ का पानी बिना किसी रोक टोक के सभी गांवों में फैल जाएगा. ग्रामवासियों के अनुसार ये सभी गांव जब बाढ़ के पानी से घिर जाते हैं तो यहां की आबादी नारकीय जीवन झेलने के लिए मजबूर हो जाती है, लोगों को भोजन तक कि समस्या हो जाती है. बाढ़ के पानी में घिर जाने के बाद गांव से बाहर निकलना काफी मुश्किल हो जाता है, उस समय मात्र नौका एक सहारा रह जाता है. सभी ग्रामवासी पिछले साल के आए हुए बाढ़ में इतना ज्यादा परेशानी झेल चुके हैं कि बाढ़ के विषय में सोंच कर ही बहुत ज्यादा डर जाते हैं, सभी लोग बाढ़ की आशंका से सहमे हुए हैं.

Continue Reading

बलिया

थाने पहुंचकर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन तब जाकर

Published

on

बांसडीह. सहतवार थाना क्षेत्र के कोलकला गांव में वर्षों से बेची जा रही कच्ची दारु के विरोध मे मंगलवार को महिला पुरुष द्वारा सहतवार थाने पर प्रदर्शन के बाद नींद से जागी सहतवार पुलिस ने मंगलवार के देरशाम कोलकला गांव में बन रही दारु के अड्डे पर छापा मारकर हजारों लीटर लहन नष्ट किया. इस दौरान पुलिस ने मौके पर 10 लीटर कच्ची दारू बरामद करने के साथ ही एक महिला को गिरफ्तार कर विभिन्न धाराओं में चालान कर दिया. इस दौरान ग्रामीणों ने चेताया कि यदि दुबारा दारू का गोरखधंधा शुरू हुआ तो फिर से थाने का घेराव किया जाएगा.

 

कोलकला गांव में दारू का अवैध धंधा काफी दिनों से चल रहा था, जिससे गांववासी त्रस्त थे, ग्रामीणों का कथन था कि कई बार शिकायत करने के बाद भी पुलिस के कानों जूं नहीं रेंग रहा था. इससे आजिज आकर ग्रामीणों ने मंगलवार को सैकड़ों की संख्या सहतवार थाने में पहुंचकर जमकर प्रदर्शन किया. इस दौरान पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे भी लगाए. इसके बाद हरक्कत में आई पुलिस दूसरे ही दिन बुधवार को संबंधित ठिकानों पर छापेमारी कर शराब की भट्टी तोड़ने के साथ ही मौके से 10 लीटर कच्ची दारू भी बरामद किया. इस दौरान एक महिला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

Continue Reading

Trending