अतिथि देवो भव: वाले इंडिया के लोगों ने विदेशी के साथ ये सलूक किया…

Uncategorized

दूर देश से भारत घूमने एक विदेशी मेहमान आई थी बेल्जियम से आई थी सोच था कि भारत मे कुछ दिन बिताएगी लेकिन ऐसा नही हुआ जिस देश में अतिथि देवो भवा का बोल बोला जाता है उस देश वालों ने कुछ ऐसा किया जिसकी वजह से वह 24 घंटे के अंदर ही वापस चली गयी फिर उसने वापस जा कर बेल्जियम के एंबेसी में शिकायत कर दिया मामला विदेशी महिला का था इसलिए बेल्जियम एमबीसी ने विदेश मंत्रालय को शिकायत दर्ज करा दी शिकायत दर्ज होने के बाद विदेश मंत्रालय ने यह मामला दिल्ली पुलिस को सौंप दिया आइए दोस्तों आपको पूरा मामला बताते हैं.

दोस्तो पुलिस को दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार बेल्जियम की महिला भारत घूमने दिल्ली आई 4:00 बजे वो एयरपोर्ट पर लैंड हुई और उन्होंने एक सिम कार्ड खरीदा और फिर पहुंच गयी दिल्ली रेलवे स्टेशन वहां से उन्होंने एक ऑटो किया और ऑटो वाले से कहा कि उन्हें मिंटो रोड जाना है लेकिन ऑटोवाला महिला को मिंटो रोड ना ले जाकर एक पार्किंग लॉट में ले गया वहां पर पहले से 2 लोग मौजूद थे जिन्होंने अपने आप को पुलिस वाला बताया महिला ने जो जानकारी दी उसके मुताबिक उन्होंने महिला से बताया कि उनके होटल के बाहर विरोध प्रदर्शन चल रहा है.

और वह टूरिस्ट पुलिस के इजाज़त के बिना होटल में नहीं जा सकती महिला के मुताबिक उन दोनों ने महिला को एक कागज का टुकड़ा दिया जिस पर पुलिस सेंटर का पता लिखा हुआ था फिर ऑटो वालों महिला को उस जगह पर ले गया जहां पुलिस की वर्दी में 6 लोग पहले से मौजूद थे पुलिस वाले ने महिला को सेंट्रल दिल्ली भेज दिया महिला के मुताबिक पुलिस वालों ने उनसे कहा कि वह अपने होटल में नहीं जा सकती हैं महिला के मुताबिक पुलिस वालों ने उनसे कहा कि उन्हें फौरन दिल्ली छोड़नी होगी.

और उन्हें विरोध प्रदर्शन के अपने फोन पर कुछ वीडियो भी दिखाएं और कहा कि यह प्रदर्शन उसी रोड पर चल रहा है जहां उनका होटल है फिर महिला से उनकी ज्वेलरी उतरवाकर अपने पास रख ली और उनको यह धमकी दी कि ऐसा ना करने पर कोई उनकी उंगली काट देगा फिर उन पुलिस वालों ने एक नंबर पर बात की और महिला को बताया कि उनकी होटल की बुकिंग कैंसिल कर दी गई है उसके बाद उन पुलिस वालों ने उनको एक ऑटो में बिठाया और सेंट्रल दिल्ली भेज दिया आगे देखें वीडियो में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *