अवैध खनन मामला- CBI की कार्रवाई पर क्या बोले अखिलेश यादव …

0

दोस्तों पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जो कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष हैं उन्होंने अवैध खनन पर बयान दिया है दोस्तों आइए जानते हैं अखिलेश यादव ने क्या बयान दिया अखिलेश यादव ने कहा कि जहां तक सीबीआई है और जहां तक पॉलीटिकल पार्टी है समाजवादी पार्टी यह चाहती है कि ज्यादा से ज्यादा लोकसभा सीटें जीती जाए आगे अखिलेश यादव ने कहा कि हमारे पास क्या है हम जनता के पास जा सकते हैं और गठबंधन कर सकते हैं और जिन्हें रोकना है उनके पास क्या है उनके पास सीबीआई है और उन्होंने कहा कि यह तो अच्छी बात है क्योंकि कांग्रेस ने भी एक बार सीबीआई कराई थी तब भी पूछताछ हुई थी और अगर बीजेपी ने कराया है और इतने वर्षों के बाद यह मामला सामने आया है.

और अगर पूछताछ हुई तो हमें जवाब देना पड़ेगा और हम जवाब भी देंगे लेकिन देश की जनता तैयार है भारतीय जनता पार्टी को जवाब देने के लिए अखिलेश यादव ने मीडिया से कहा कि सीबीआई की निष्पक्षता की आकलन आप कीजिए और यह निष्पक्षता हम नहीं आकलन कर सकते उन्होंने कहा कि उसका आकलन आप कर सकते हैं अखिलेश यादव ने कहा कि अब तो सीबीआई को बताना पड़ेगा कि हमने 37 37 किया है या 36 36 किया है.

दोस्तों अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे खुशी है इस बात की कि कम से कम बीजेपी ने अपना रंग तो दिखा दिया एक बार फिर सीबीआई से मिलने का मौका मिलेगा उन्होंने कहा कि एक बार कांग्रेस ने सीबीआई से मिलने का मौका दिया था इस बार बीजेपी वाले सीबीआई से मिलने का मौका देंगे उन्होंने कहा कि बीजेपी ने समाज का व्यवहार बदल दिया राजनीतिक शिष्टाचार य को खत्म कर दिया दोस्तों बीजेपी चाहती है कि जैसा उनका शिष्टाचार है वैसा ही राजनीतिक दलों का शिष्टाचार य हो जाए.

दोस्तों उन्होंने कहा कि कोई किसी को कुछ कहता है कोई किसी को कुछ कहता है लेकिन बीजेपी चाहे जितना भी शिष्टाचार बदलने की कोशिश करें लेकिन हम समाजवादी लोग अपना शिष्टाचार नहीं बदलेंगे उन्होंने आखिरी में कहा कि अगर कांग्रेस बीजेपी को चोर बोल रही है तो वह चाहते हैं कि हम भी उसको चोर बोले दोस्तों आपको बता दें कि पूर्व में अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं और इन्होंने विकास का बहुत काम किया है यह समाजवादी पार्टी के और देश के सबसे युवा नेता देश के सबसे युवा मुख्यमंत्री बने थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here