इस हिंदू पुलिस कमिश्नर ने मोहम्मद सल्ला० के बारे में क्या बोला वीडियो देखें ……

0

दोस्तों आप सभी जानते है की इस्लाम धर्म अमन और शांति का धर्म है ,इस्लाम में हमेशा अच्छे एखलाक और नरमी करने को बताया गया है और दुनिया में बहुत सारे दूसरे धर्म के ऐसे लोग भी है जो इस्लाम को पसंद करते है और अक्सर उसकी तारीफ भी करते है आज कल लोग इस्लाम धर्म के बारे में कुछ और ही सोच बैठे है इस्लाम में हमेशा शान्ति का पैगाम दिया है जिसकी वजह से आज दुनिया में ज़्यादा से ज़्यादा मुल्को में इस्लाम धर्म को पसंद किया जाता है .

इस्लाम में यहाँ तक कहा गया है कि अगर आप का पडोसी भूखा है तो आप का पेट भर खाना गलत है पहले पडोसी को पूछिए और उसको खिलाईये तब अपना पेट भरिये . बहुत सारे ऐसे वीडियो अक्सर सोशल मीडिया पर देखने को मिलते है जिसमे इस्लाम धर्म की शांति और इस्लाम धर्म के पैगम्बर हज़रत मोहम्मद मुस्तफा सल्ला० के दिए हुए पैगाम बताए जाते है की इस्लाम में किस तरह का सुलूक और अपने आस-पास पड़ोस के लोगो के साथ कैसे रहना है .

दोस्तों ऐसे ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर दिखाई दिया जिसमे सोलापुर के एक हिन्दू पुलिस कमिश्नर भूषण कुमार उपाधयाय एक स्टेज पर हज़रत मोहम्मद मुस्तफा सल्ल्ल० के बारे बयान करते नज़र आए उनकी बताye हुए तरीके और उनकी दिए हुए सन्देश को बयान करते नज़र आए ,
उन्होंने एक बूढी औरत का वाक़्या बताया.

जिसमे उन्होंने कहा- एक बूढी औरत को लगा की पूरे शहर में इस्लाम बढ़ रहा है सब लोग शहर छोड़ जा रहे है इसलिए वह भी गांव छोड़ कर जा रही थी उसके सर पर एक गठरी थी जिसको वह उठा नहीं पा रही थी एक नौजवान लड़का उसके पास आया और बोला माता जी मैं आप की मदद करू यह गठरी उठा के मैं आप को गांव के बाहर छोड़ आता हूँ औरत ने उसको गठरी दी और नौजवान ने गठरी को सर पर लिया और औरत के साथ गांव के बाहर आ गया.

फिर उस गठरी को औरत को दिया और बोला लो अब आप जाओ उस औरत को मन में आया की कैसा नेक इंसान है जो मेरी गठरी सर पे लेकर लाया है तो उस औरत ने उस लड़के से उसका नाम पूछा तो उस लड़के ने कहा मुझको मोहम्मद कहते है , जिसके डर से औरत भाग रही थी उसी लड़के ने उसका बोझ उठया और उसी दिन उस औरत ने इस्लाम कबूल कर लिया , फिर कमिश्नर ने दूसरा वाक़्या बूढी औरत का कूड़े वाला वाक़्या बयान किया और कहा की ऐसा…. आगे देखिये वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here