दुनिया की 4 नहरें जिनका पानी जन्नत से आता है…

Uncategorized

अस्सलामोअलैकुम भाइयो और बहनों आज हम आपको बतायगे दुनिया की नहरें जिसमे जन्नत का पानी आता है: जन्नत में 4 तरह की नहरें है पानी की,दूध की, शहद की और शराब ए तहूरा की।ये नहरे इतनी खूबसूरत होगी दिलकश होंगी की हर जन्नती इसके इश्क़ में गिरफ्तार होजायेगा।पानी की नहरें जो कभी न बिगड़ने वाला हो, दूध की नहरे जिसका ज़ायक़ा कभी खराब नही होगा,शराब की नहरे जो बहुत लज़ीज़ है,शहद की नहरे जो साफ़ और उनमें मिलावट नही होगी।सूरः मुहम्मद के अंदर अल्लाह ताला इरशाद फरमाते हैं, “मील,दजला फरात और सैहून जन्नत की नहरे हैं”।हज़रत काब रहमतुल्लाह अलैह फरमाते हैं’मील जन्न्त में शहद की नहर है,दजला जन्नत में दूध की नहर है, फरात जन्नत में शराब की नहर है और सैहून जन्नत में पानी की नहर है’।ये चारों नहरे हौज़ ए कौसर से निकलती हैं।

अल्हम्दुलिल्लाह कितना खूबसूरत मंज़र होगा जब आक़ा दो जहाँ मुहम्मद सल्लल्लाहो अलैहिवसल्लम अपनी उम्मत को अपने हाथों से पिलायेंगे ये पानी पीकर हर जन्नती अल्लाह ताला की कितनी तारीफ बयान करेगें इसका अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल है।सूरः अलबुरूज में अल्लाह ताला फरमाते हैं” जो लोग ईमान लाय उनके लिए जन्नत के बाग है जिसके नीचे नहरे बहती है” ये है बड़ी कामयाबी जो परहेज़गार हैं दीनदार हैं उनके लिए जिस जन्नत का वादा किया गया अल्लाह की शान तो ये है उसमें नहरे बह रही होंगी नहरों में हर तरह के फल होंगे वो इंसान जिसके हिस्से में जन्नत आने वाली हैअल्लाह की तरफ से उनके लिए ईनाम होगा।

वो इंसान जो जहन्नम में जाने वाले हैं उन्हें ऐसा गरम पानी पिलाया जायगा जो उनकी आँत को काट देगा।आपको बहुत सारी आयात मिलेगी क़ुरान पाक में जिसमे जन्नत की नहरों का बयान किया गया है।दुनिया मे भी हसीन तरीन नहरे हैं जहाँ ज़न्नत का पानी बह रहा होगा वो कितनी हसीन सरज़मीन होगी जहाँ 1 तरफ हरे भरे बाग हैं और उनमें साफ सफेद पानी दूध शहद और तरह तरह के शर्बतों के दरिया बहते हैंअल्लाह ताला ने यहां ऐसे खास पेड़ पौधे रखे है जिसमे पानी की जगह दूध शहद दिया जाता है उन पेड़ो के फलों में भी इसका असर होता है और शहद और शर्बतों से सैराब किये जाते है।

हमे अल्लाह ने सोचने समझने की सलाहयत दी है।ज़रा गौर कीजिए जो अल्लाह पानी के दरिये बहा सकता है क्या वो दूध, शहद,शर्बतों के दरिया नही बहा सकते ये सारी चीज़ भी उनकी पैदा की हुई है।दूध जानवरो के थनो से,शहद मक्खी के पेट से निकाला है यकीनन अल्लाह ताला दूध शहद और शर्बतों के दरिया भी बहा सकता है।हज़रत अबू हुरैरा (रज़ि) से रवायत है हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहिवसल्लम ने कहा जब मांगो जन्नतुल फिरदौस मांगो वह जन्नत का बुलन्द तरीन हिस्सा है इसके ऊपर अल्लाह ताला का अर्श है और इसी के ऊपर जन्नत की नहरे बहती है।

दुनिया मे अल्लाह ताला ने ऐसी ऐसी खूबसूरत जगह पैदा की है जिन जगहों पर इंसान अपनी नज़र डाल दे तो अल्लाह की तारीफ करते न थके।”तुम अपने रब की कौन कौन सी नेमतों को ठुकराओगे”।हज़रत सैयदना अब्बास (रज़ि)फरमाते हैं अगर ज़न्नती औरतों में से कोई औरत 7 समुन्द्रों में अपना थूक डालदें तो सारे समुन्दर शहद से ज़्यादा मीठे होजायगे।ये जन्नत ही है जो अल्लाह की फरमाबरदारी करता है अल्लाह ताला के बताये हुए रस्ते पर चलता है तो अल्लाह अपने बन्दों को जन्नत के बाग़ात दुनिया मे दिखा देते हैं।मुस्लिम शरीफ की हदीस है’अल्लाह ताला ने हफ्ते के दिन ज़मीन ,इतवार के दिन पहाड़ और मंगल को इंसान बनाय,बुध के दिन नूर बक्शा,जुमे के दिन आदम अलैहिस्सलाम को पैदा किया नाज़रीन कौन सी ऐसी नहरे है जो ज़न्नत से निकल कर दुनिया मे पाई जाती है?वो 4 है जीहून,सैफून,फराद और मीम।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *