एक औरत को कब्र ने बाहर फ़ेंक दिया, एक इबरतनाक वाक्या… देखिये विडियो.

0

रमज़ान शरीफ में इफ्तार के वक़्त एक घर में माँ और बेटी थी और उस घर में मेहमान आने वाले रहते हैं इसलिए उन्हें इसके लिए इफ्तारी की ज़रूरत होती है तो माँ अपनी बेटी से कहती है कि तुम मेरी इफ्तारी बनाने में मदद करो इस बात पर उस लड़की ने अपनी माँ से कहा कि अम्मी इस वक़्त टीवी पर एक ख़ास प्रोग्राम आ रहा है मैं उसे देखना चाहती हूँ उससे फारिग होकर ही कुछ करुँगी ये सुनकर माँ बोली की वक़्त बहुत कम है इसलिए उसे छोड़ो और काम कराओ मगर बेटी ने माँ की बात अनसुनी कर दी फिर वो अपने घर के ऊपर वाले हिस्से में टीवी लेकर चली गयी उसने सोचा कि यहाँ रहूंगी तो माँ बार-बार मना करेंगी.

चुनांचे वो ऊपर गयी और वहां एक कमरे में अन्दर जाकर कुण्डी लगाकर प्रोग्राम देखने में मशगूल हो गयी नीचे माँ ने आवाज़ दी लेकिन उस लड़की ने कोई परवाह नहीं किया इसके बाद माँ से जो इफ्तारी तैयार हो सकी उसने कर ली इतने में मेहमान भी आ गए और सब लोग इफ्तारी के लिए बैठ गए इसके बाद माँ ने बेटी को आवाज़ दिया लेकिन बेटी ने कोई जवाब नहीं दिया.

माँ को कुछ शक हुआ लिहाज़ा वो ऊपर गयी और उसने दरवाज़े पर जाकर दस्तक दिया और अपनी बेटी को आवाज़ दिया लेकिन अन्दर से कोई जवाब नहीं आया तो इस पर माँ और घबरा गयी कि अन्दर से जवाब क्यों नहीं आ रहा है इसके बाद माँ ने उसके भाइयों और उसके बाप को ऊपर बुलाया तो उन्होंने भी आकर आवाज़ दी लेकिन अन्दर से कोई जवाब नहीं मिला.

इसके बाद दरवाज़े को तोड़ दिया गया जब दरवाज़ा तोड़ कर लोग अन्दर गए तो उन्होंने देखा कि लड़की टीवी के सामने औंधे मुंह मरी पड़ी है ये मंज़र देखकर सभी घरवाले हक्का बक्का रह गए और जब इसके बाद उसकी लाश उठाने की कोशिश की गयी तो उसकी लाश नहीं उठ रही थी और ऐसा महसूस होने लगा कि वो कई टन वजनी हो गयी है… आगे देखिये विडियो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here