कोई अपमान करे तो पहली बार में कर दें ये काम… देखिये विडियो.

0

दोस्तों ऐसा क्यों होता है जो भले लोग होते हैं जो अच्छे लोग होते हैं उन्हें अपमान सहना पड़ता है लोग कहते हैं कि लोग हमारा बेवजह बार बार अपमान करते हैं हम कुछ कहते भी नहीं फिर भी लोग हमारा अपमान करते हैं अगर कोई हमें बार-बार परेशान करे तंग करे या हमें ताने मारता रहे तो हमे क्या करना चाहिए क्या चुप करके सब कुछ सह लेना चाहिए या फिर उसका जवाब देना चाहिए जो एक बार अपमान सह ले वह मनुष्य है जो बार बार अपमान सह लेता है वह महात्मा होता है और जो तीसरी बार अपमान सकता है वह मूर्खों की गिनती में आ जाता है अगर आप बार बार अपमान सहते रहेंगे.तो आप खुद को हमेशा अपमानित महसूस करेंगे.

और लोग भी आप की कदर करना छोड़ देंगे कोई भी आपको कुछ भी कह कर चला जाएगा अगर आप चाहते हैं कि कोई भी ऐप का अपमान ना करें तो आपको अपने स्वाभिमान की सुरक्षा खुद करनी होगी सहनशीलता में और मूर्खता में बहुत अंतर होता है जो इंसान गलत करता है अत्याचार करता है अपमान करता है तो वह तो पाप का भागी है ही और जो इंसान चुप करके अत्याचार और अन्याय को सहता है वह भी पाप का भागी है.

क्योंकि अत्याचारी और अन्याय को पहली बार में ही रोक दिया जाए तो उसकी हिम्मत नहीं बढ़ेगी और अगर हम उसको छूट दे देंगे उसको कुछ नहीं कहेंगे तो अगली बार वह हमें और सताए गा इसलिए यह आपका धर्म है कि आप अपने सम्मान की रक्षा करो इस दुनिया में सबसे महंगी चीज सम्मान ही होती है यह सम्मान किसी को मुफ्त में नहीं मिल जाता इसे अपने अच्छे गुण और चरित्र और स्वभाव से कमाया जाता है.

अगर आप के सम्मान पर स्वाभिमान पर चोट आए तो आपको उसकी रक्षा करनी चाहिए और अगर आप चाहते हैं कि आपकी स्वामी मान और सम्मान को कोई चोट ना पहुंचा सके तो आपको ही तीन बातें हमेशा याद रखनी चाहिए। आगे देखें वीडियो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here