लव मैरेज करना इस्लाम में जायज़ है की नही?देखिये विडियो.

0

दोस्तों मौलाना तारिक जमील साहब कहते हैं कि मां-बाप अपनी जिद पर अड़े हुए हैं और बच्चे अदालतों में जाकर शादियां कर रहे हैं मौलाना कहते हैं कि यह भी नादान है वह भी नादान है मैं नौजवानों से कहता हूं कि ऐसा इश्क ना करो कि अदालतों में जाकर शादियां करनी पड़े मां बाप की दुआ ना मिली तो जिंदगी भर कभी बहार नहीं देखोगे और मां-बाप से कहता हूं कि ऐसा जुल्म अपने बच्चों पर ना करो कि यही तुम्हें शादी करनी है करना है तो करो वरना जिंदगी भर बैठे रहो यह जुल्म भी मत करो हमारे देश में बेटियों से कोई नहीं पूछता की बेटी यह तेरा रिश्ता आया है कर दे बेटे तो आज भी कुछ अकड़ मकड़ करके अपनी बात को मनवा लेते हैं.

लेकिन देहातों में यह नहीं होता हमारी माहौल में ऐसा कुछ नहीं है हमारे माहौल में जहां बाप ने कह दिया वही करना पड़ेगा मौलाना कहते हैं कि मैं मां-बाप से कहता हूं अगर बेटा कहीं शादी करने को कहे तो कर दो जुल्म ना करो अपने मां बाप होने का गलत फायदा नाम तो कल कयामत मैं तुमसे पूछ होगी और मैं बिट्टू से भी कहता हूं कि अपने मां बाप की मान लो और उनके लिए अपनी खुशी को कुर्बान कर दो अल्लाह तुम्हारे लिए खैर का रास्ता बनाएगा.

आज लोग दुनिया में बेटियों पर ज्यादा जुल्म करते हैं बेटी बगल में बैठी होती है लेकिन उसका रिश्ता करते वक्त उससे पूछते भी नहीं वो कहते हैं कि हमारी माशरे में यह सब नहीं होता बच्चियां रो रो के लोगों से कहती फिरती है कि हमें यहां नहीं पसंद है लेकिन उन्हें जबरदस्ती करना पड़ता है लोगों को अपने बेटियों से पूछने में शर्म आती है उनको यह बात उन की तोहीन लगती है हालांकि बेटा जिंदगी भर जना करता फिरता है.

तो उनकी बेइज्जती नहीं होती और अगर बेटी पर शक भी पड़ जाए तो काट के रख नदियों में डाल दिया करते हैं बेटियों को जबह कर दिया करते हैं मौलाना कहते हैं कि खुदा के लिए अपनी बेटियों पर जुल्म ना करूं उनसे बिना पूछे उनकी शादी ना करूं खुद रसूलल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने अपनी बेटी से पूछे बिना उनकी शादी नहीं की थी ।।आगे देखें वीडियो में।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here