रसूल सल्लाo ने फ़रमाया कि बेहतरीन और बदतरीन लोगो में ये होता है फर्क…

0

दोस्तों अस्सलाम वालेकुम रहमतुल्लाहि व बरकातहू दोस्तों आज हम आपको एक ऐसी बात बताने जा रहे हैं जो रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम ने इरशाद फरमाया हमारे नबी की एक-एक बात लाख लाख टके की होती है हर एक बात को सच मानना ही हमारा ईमान अगर हम हमारे नबी की एक भी बात से इंकार करें तो हम ईमान वाले नहीं रह जाएंगे क्योंकि हमारे नबी वह शख्स थे जिन्हें कुफ्फार के लोगों ने सादिक और अमीन का लक़ब दिया था यानी कि सच्चा और अमन वाला यह लक़ब मुसलमानों ने नहीं बल्कि कुफ्फार ए मक्का ने दिया था और हमारे नबी ने हमें जिंदगी जीने का तरीका सिखाया है और एक एक चीज बताया कैसे जिंदगी को जीना चाहिए यह हमारे नबी ने अपनी जिंदगी में करके दिखा भी दिया और बता भी दिया.

आखिरी वक्त में जब रसूलल्लाह सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने सबको इकट्ठा किया और लोगों से पूछा कि क्या मैंने दीं का हक अदा कर दिया तो साहब रज़ियल्लाहु अन्हु ने जवाब दिया कि जी हां आपने दिन का पूरा पूरा हक अदा कर दिया दोस्तों आइए आपको आज एक बात बताते हैं जो रसूलुल्लाह सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने इरशाद फरमाया दोस्तों रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम ने इरशाद फरमाया कि इस उम्मत में अल्लाह के सबसे बेहतरीन बंदे वह है.

जिनको देखकर अल्लाह रब्बुल इज्जत की याद आ जाए और इस उम्मत के बत्तरीन लोग हो हैं जो चुगल खोर हैं और जो लोग दोस्त या मोहब्बत करने वाले लोगों के बीच जुड़े पैदा करवाते है और जो लोग बेकसूर और पाक दामन लोगों पर झूठा इल्जाम लगाते हैं दोस्तों इस्लाम ने हमें एक एक चीज की तालीम दी है इसके साथ ही लोगों से किस तरह से पेश आना है यह भी बताया है किसी का हक मार ना किसी पर बेबुनियाद इल्जाम लगाना यह सब गुनाह का काम खुद अल्लाह के रसूल ने फरमाया कि मेरी उम्मत के सबसे बुरे लोग वह हैं.

जो इस काम को करते हैं इसके साथ अल्लाह के नबी ने ऐसे लोगों की तारीफ भी फरमाई की और कहा कि मेरे उम्मत का सबसे बेहतरीन शख्स वह है जिसको देखकर अल्लाह रब्बुल इज्जत की याद आ जाती हो तो दोस्तों ऐसा शख्स तो वही होगा जो चेहरे और लिबास और हर चीज में सुन्नत पर अमल करता हो और उसकी जिंदगी रसूलुल्लाह सल्लल्लाहो वाले वसल्लम की सुन्नत के मुताबिक ही गुजरती हो ऐसे इंसान को देख कर अल्लाह की याद आ जाती है और यही इंसान सबसे बेहतरीन है।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here