रसूल सल्लाo ने फ़रमाया कि इस अमल को करने वाले को आसमान से दी जाती है आवाज़

Uncategorized

दोस्तों आपको बता दें कि बहुत से लोग बहुत सी नेकियाँ करते हैं और उसके ज़रिये अल्लाह से अच्छी उम्मीद भी रखते हैं और उम्मीद भी रखना चाहिए आपको बता दें कि इस्लाम एक ऐसा मज़हब है जिसमे एक अल्लाह की इबादत का हुक्म दिया गया है इस्लाम के आने से पहले लोग बहुत गुमराहियों में थे और लोग अपने हाथ से बुत बनाकर पूजते थे लेकिन जब इस्लाम आया तो लोगो को इस गुमराही से निकला गया और उन्हें समझाया गया कि एक अल्लाह की इबादत को करने के लिए कहा गया. आपको बता दें कि बहुत से ऐसे सहाबी भी हैं जिन्होंने बाद में इस्लाम कबूल किया और वो इस्लाम को कबूल करने से पहले ये लोग इस्लाम के शदीद दुश्मनों में से थे.

और वो इस्लाम को बहुत बुरा समझते थे लेकिन जब उन्हें इस्लाम की सच्चाई पता चली तो वो इस्लाम में दाखिल हो गए और इस्लाम दुश्मनों के लिए बहुत बड़ा खतरा बन कर उभरे इसमें सबसे पहले उमर रजीo का नाम आता है इसके बाद आपको बता दें कि इबादत की बात आती है जिसमे ऐसे-ऐसे अज़कार बताये गए जिसको करके इन लोगो ने अपने मकाम को बहुत आला कर लिया.

इसमें से एक अज़कार हम आज आपको बताएँगे जिसको करने से बहुत फायदा मिलता है और जो शख्स दिल से ये अज़कार कर ले उसका भी मकाम अल्लाह के नज़दीक बहुत ऊँचा हो जाता है आज हम आपको एक ऐसे अमल के बारे में बताएँगे जिसको करने वाले को आसमान से एक फ़रिश्ता आवाज़ देता है.

अनस रज़ीo से रवायत है कि रसूल सल्लाo ने फ़रमाया कि जो शख्स भी अल्लाह के ज़िक्र के लिए बैठता है तो एक मुनादी करने वाला उन्हें आसमान से आवाज़ देता है कि खड़े हो जाओ तुम्हे बख्श दिया गया और तुम्हारी बुराइयों को नेकियों में तब्दील कर दिया गया. (अल सिलसिला अस सहिया 2934)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *