सांप और मोर को जन्नत से क्यों निकाला गया, जानिये पूरी दास्तान … देखिये विडियो.

0

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि सांप और मोर दोनों जन्नत में रहते थे लेकिन इन दोनों को जन्नत से क्यों निकाला गया आइए आपको पूरी तफसील से बताते हैं दोस्तो सांप और मोर जन्नत में रहा करते थे तो जब शैतान मरदूद लनाती हो गया तो उसने आदम अली सलाम पर सजदा करने से इंकार कर दिया तो अल्लाह पाक ने शैतान को जन्नत से निकाल दिया जन्नत में खाने पीने के लिए बहुत कुछ था लेकिन हजरत आदम अली सलाम अकेले रहने की वजह से उदास रहने लगे इसीलिए अल्लाह ताला ने हजरत आदम अली सलाम की बीवी हव्वा को पैदा किया इस तरह वह दोनों साथ-साथ जन्नत में रहने लगे.

अल्लाह पाक ने उनसे कहा कि तुम जन्नत में रहो जो चाहो करो जो खाना है खाओ घूमो फिरो ऐश करो लेकिन इस दरख्त यानी पेड़ के करीब मत जाना वरना तुम जालिमो में से हो जाओगे जन्नत में सांप और मोर भी रहा करते थे वह दोनों जन्नत की बाहर आया जाया करते थे उस वक्त सांप के पैर भी होते थे और सांप के मुंह से एक बेहतरीन खुशबू भी आया करती थी और मोर जितना भी खूबसूरत है इससे कहीं ज्यादा वह जन्नत में खूबसूरत हुआ करता था.

और उसके पैर बहुत खूबसूरत होते थे एक दिन दोनों जन्नत से बाहर निकले तो सामने शैतान आ गया शैतान ने कहा कि मुझे भी जन्नत में ले कर चलो तो उन दोनों ने कहा कि हम तुमको जन्नत में नहीं ले जा सकते इस पर शैतान ने उनको अपनी दोस्ती दिखाई तो सांप ने उसको एक मशवरा दिया कि तुम सांप की शक्ल अख्तियार कर लो यह मोर तुम को निकलेगा और जन्नत में जाकर उगल देखा इसके बाद शैतान सांप बन गया.

और मोर ने उसको निगल लिया और जन्नत में जाकर उगल दिया इस तरह शैतान जन्नत में पहुंच गया और शैतान ने हजरत आदम और हव्वा से मुलाकात की शैतान ने उनसे कहा कि तुमने अभी तक वह फल क्यों नहीं खाया तो हज़रत आदम अली सलाम ने कहा कि अल्लाह ने हमें उस दरख्त से दूर रहने का हुक्म दिया है हम कभी भी उस फल को नहीं खाएंगे।। आगे देखे वीडियो में।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here