सऊदी अरब में हो गई बेशर्मी की इंतेहा, कयामत की निशानी हो गई पूरी…

Uncategorized

अस्सलाम वालेकुम भाइयों और बहनों कयामत की हो गई निशानी पूरी सऊदी अरब में हो गई बेइंतेहा बेहया की इंतेहा सऊदी अरब के बारे में दोस्तों दुनिया में बसने वाला हर मुसलमान सऊदी अरब सकता है मोहब्बत रखता है मेरे और आपके सारी दुनिया की पूरे अकरम सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम सा मुल्क है यह वही मुल्क है जहां हुजूर सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम के तशरीफ लाने से पहले जिंदा दफनाया जाता था और औरतों को बेचा जाता था.

इस मुल्क के अंदर गुंडागर्दी जहालत उरूज पर थी मेरे प्यारे नबी के आने से पहले सऊदी अरब क्या पूरी दुनिया के अंदर अंधेरों का मसला था लेकिन जिस पर हमारे प्यारे नबी हजरत मोहम्मद सल्ला वाले वसल्लम इस दुनिया में आए तो सारी कायनात उनके नूर से भर गई। अंधेरो की जगह रोशनी ने ले ली उनके आने के बाद जो गुलाम जिन पर बहुत ज्यादा जुल्म किया जाता था उनको एक नई जिंदगी मिली औरत जो बाजार में सारे आम नीलाम होती थी .

उसको इज्जत मिली आजादी मिली मेरे नबी सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने यहां से काले और गोरे इंसानों का झगड़ा खत्म फरमाया आज मैं घर पर इस्लाम पर भोकने वाले यूरोप में काले और गोरे के बीच नफरत की दीवार है उस काम को मेरे प्यारे नबी की तालीम से सबक लेना चाहिए बिलाल हब्शी रजि अल्लाह ताला अनु का रंग कव्वे से भी काला था उनको हमारे नबी ने बहुत आले दर्जे का सहाबी बनाया दोस्तो हमारे नबी ने अंधेरे में डूबे हुए सऊदी अरब के से मुल्क को दीन इस्लाम के नूर से मुनव्वर फरमाया था आज वहां की मुनाफिक हुकूमत दर पर दाग धब्बे इस्लाम के खिलाफ है.

यहूदी अंजाम दे रहे हैं कभी हिजाब पर से पाबंदी हटाई जाती है और कभी सिनेमा हॉल वगैरह को ले जाते हैं हद तो यह है कि जब अमरीकी सदर डोनाल्ड ट्रंप सऊदी पहुंचे थे तो शाह सलमान ने खुद ढोल की ताल पर डांस किया था आला सऊद में सऊदी अरब में जालिमा ना रवैया जा रखा हुआ है कि कोई आलम भी हुकूमत के खिलाफ चंद बाते कह दे तो उसे जेल में डाल दिया जाता है और डोनाल्ड ट्रंप नेे 1 बार खुलकर कहा हुकूमत ने हमारा साथ दिया है अभी हाल ही में सऊदी अरब के बड़े शहर व्यास ने रियाद में ई चैंपियनशिप रेस का आगाज़ किया इस रेस के शरू होने से पहले फांसी और बेशर्मी पर एक बहुत बड़ी महफिल सजाई गई जिसमें दुनिया के मशहूर सिंगर में अपनी आवाज में गाने गाए लड़के और लड़कियां बिना बिना किसी और के नाच गाने में मशहूर थे मसरूफ थे बिजी थे और यहां पर शराब की बोतलें भी देखी गई यह शैतानी महफिले थोड़ी देर ही नहीं बल्कि बहुत रात तक जारी रही शैतान के राम के परेड में आकर अय्याशी और मक्कारी तैयार कर चुके थे.

इससे मालूम होता है की सऊदी अरब की हुक्मरान आज यहूदियों के कंट्रोल में जा चुके है और यहूदी उनसे अपने मनमाने हुकुम जारी करवा रहे हैं शाद आपने भी यह बात क्या सुना होगा एक मर्तबा हमारे प्यारे आका हजरत मोहम्मद सल्ला वसल्लम एक सहाबी के साथ किसी मुकाम पर तशरीफ ले जा रहे थे सारे मुन्ना भी के कान मुबारक पर कहीं से ढोल ताशे बजाने की आवाज सुनाई दी मेरे आका ने अपने दोनों कानों में अपनी उंगली मुबारक रख ले और ढोल की आवाज से बहुत दूर जा कर के अपने कानों से उंगली को हटाया अरब की हालत होती जा रही है वह कहावत की निशानियां में से एक है सर ने फरमाया था दज्जाल सारी दुनिया पर महारानी करेगा जिस जगह जाना चाहेगा बहुत जल्द पहुंच जाएगा लेकिन मक्का और मदीना में डॉक्टर नहीं हो सकेगा उनके दरवाजों पर फरिश्तों का पहरा होगा जिसे ध्यान तो नहीं सकेगा अरब के अंदर दज्जाल इतना अपने पैर पसार चुका है जिसकी कयामत बहुत करीब है अभी आपके पास वक्त है इस वक्त को बर्बाद ना करें अपने रब के सामने तोबा करे…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *