सऊदी में पहाड़ों को लेकर मुहम्मद सल्लाo की एक और पेशनगोई हुई पूरी, जापानी वैज्ञानिक ने

0

दोस्तों अस्सलाम वालेकुम रहमतुल्लाह व बरकात हो दोस्तों रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम ने जितनी भी पेशनगोई की थी क़यामत को लेकर वह सारी पूरी होती हुई नजर आ रही है क्यों मत के नजदीक उन्होंने जितनी भी पेशनगोई की थी वह आज हमारे सामने हैं जैसे की कसरत से जलजलों का आना रसूलल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने कहा था कि जब कयामत नजदीक होगी तो जलजला का आना आम हो जाएगा यानी की जलजला कसरत से आने लगेगा और उन्होंने क्यामत की एक निशानी यह भी बताई थी कि क्यामत के नजदीक ज़ेनह आम हो जाएगा और औरतें नंगी सड़कों पर घूमेंगे दोस्तों आज पूरी दुनिया में यही सब हो रहा है औरतें बिल्कुल नंगी हो चुकी है और जलजला भी कसरत से आ रहा है.

इसके साथ ही रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम की एक और पेशेंगोई सच हो गई दोस्तों साइंस दानो के अनुसार मक्का के पहाड़ों से ही पानी रिस रहा है दोस्तों जर्मनी और जापान के साइंस दानो के अनुसार एक बहुत बड़ी ज़र्ब लगाई गई जिससे छोटे-छोटे रकमें बने और इन्हीं छोटे-छोटे रकमो पानी जारी हो रहा है क्योंकि यह पानी मुख्तलिफ जगह से होता हुआ आता है इसलिए इसके फायेदा बहुत ज्यादा है.

इन पहाड़ों में से जिंदगी का निकलना सच मे रसूलल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की उस हदीस को सच करता है दोस्तों रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम ने फरमाया था कि क़यामत के नजदीक नहरे जारी होंगी और उन नहरो से सब्ज़े पैदा होंगे रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम की एक और हदीस है जिसके मुताबिक क्यामत के नजदीक ऊँटो और बकरियों के चराने वाले एक दूसरे से मुकाबला करते हुए नजर आएंगे.

और अपने लिए बड़ी बड़ी बिल्डिंग खड़ी कर लेंगे दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि आज रियाद शहर में इमारतों का मुकाबला उरूज पर पहुंच चुका है और दुबई में बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे बड़ी इमारतें बन गई है इसके साथ ही जद्दा में शहजादे ने ऐलान कर दिया है कि वह जद्दा में बुर्ज खलीफा से भी बड़ी इमारत बनवाई गे दोस्तों इस तरह रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम की पेशेंगोईया सच होती नजर आ रही हैं और सारे काम भी वही हो रहे हैं.

जो रसूलल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम बता कर गए जब रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम से पूछा गया कि कयामत में कितना वक्त है तो उन्होंने दो उंगली खड़ा करके बताया कि इन दोनों उंगलियो के बीच का दूरी ही कयामत का वक्त है मतलब कि उनका यही कहना था कि क्यामत बहुत करीब है और रसूलल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम को इस दुनिया से गए हुए 14 सौ बरस हो चुके।। आगे देखें वीडियो में।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here