सुबह कर लें ये अमल, पूरा दिन न जादू असर करेगा न ज़हर…

0

दोस्तों अस्सलुमुअलैकुम वालेकुम व रहमतुल्लाह व बरकातहू दोस्तों हम हमारे रसूल अल्लाह सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम से बहुत मोहब्बत करते हैं और हम अपने आप को उनका गुलाम ए रसूल कहते हैं लेकिन दोस्तों क्या हम रसूलल्लाह सल्लल्लाहो वाले वसल्लम की सुन्नतओं के मुताबिक अपनी जिंदगी गुजारते हैं या नहीं दोस्तों यह बहुत बड़ा सवाल है कि हम अपने आप को गुलाम रसूल कहते हैं लेकिन हम उनकी जिंदगी पर अमल नहीं करते हम अपने आप को उनके लिए कुर्बान करना चाहते हैं लेकिन उनकी किसी बात को नाम कर उस पर अमल नहीं ना उनकी सुन्नत के मुताबिक हम खाते हैं ना पीते हैं ना पहनते हैं और ना ही सोते हैं फिर हम किस तरह से गुलाम ए रसूल हुए सिर्फ मुंह से कह देने से गुलाम ए रसूल हो जाता है.

दोस्तों हर पीर के रोज यानी सोमवार और जुमेरात के रोज यानी ब्रस्पतिवार को रसूल अल्लाह सल्लल्लाहो वाले वसल्लम को दुरु शरीफ का नजराना पेश किया जाता है हर इंसान की तरफ से जिसने जितनी दुरूद हफ्ते में या 2 दिन में भेजी होती है उनकी दुरूद रसूलल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की खिदमत में पेश किया जाता है कि फला शख्स की तरफ से इतनी दुरूद आपके लिए आई तो सोचिये दोस्तो हम दिन भर में अपने नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम पर कितनी दुरूद भेजते है.

हमारे मुंह से एक बार भी उस नबी के लिए दुरूद नही निकलती जिसने हमारे लिए अपनी सारी उम्मत के लिए न जाने कितनी तकलीफ उठाई दोस्तो अल्लाह के नबी खुद फरमाते है कि मैं इस दिन के खातिर जितनी तकलीफ उठाई और किसी नबी ने इस तकलीफ को नही झेल हम एक बार भी उनके लिए दुरूद नही भजेते हम 1 दिन में एक बार भी सुभानअल्लाह नहीं कहते हैं तो सोचिए दोस्तों किस तरह का हमारा माशरा हो गया है कि दीन से बहुत दूर और दुनिया से बहुत करीब हो गया है.

हालांकि अल्लाह की नजर में इस दुनिया की कीमत मच्छर की पर के बराबर भी नहीं अल्लाह फरमाते हैं कि इस दुनिया की कीमत मेरे नजदीक मरे हुए मच्छर के पर के बराबर भी नहीं है और आज हम इसी दुनिया के पीछे भागते हर इंसान कामयाब होना चाहता है लेकिन दीं की कामयाबी किसी को दिखाई नही देती अल्लाह के रसूल ने फरमाया कि जिसने मेरी बातों पर अमल किया और अल्लाह के हुक्म पर रहा और उनके हुकुम माना ऐसा शख्स जन्नत में जाएगा.

लेकिन दोस्तों हमारे रसूल सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने जो बातें बता दी वह हक और सच है अल्लाह के रसूल ने फरमाया कि जो शख्स सुबह सुबह उठकर 7 अजवा खजूर खाएगा तो उसको उस दिन ना कोई जहर नुकसान कर सकता है ना ही कोई जादू दोस्तों हमारे रसूल सल्लल्लाहो वाले वसल्लम की हर एक बात सच है और यह बेशक बिना किसी शक के इस बात को मान लेना ही हमारा ईमान है रसूलल्लाह सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने कह दिया कि 7 अजवा कुजूर जो खाएगा उस पर ना कोई जादू ना ही कोई जहर उस दिन काम करेगा।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here