वो काम जिसे हुज़ूर (स.अ.) ने बताया कि इसको करने वाला जन्नत में दाखिल होंगे फिर भी उसको बहुत कम लोग करते हैं…

0

दोस्तों इस पोस्ट के ज़रिये आज ऐसा अमल बताएँगे जिसको अल्लाह के नबी सल्लाo ने कहा कि ये अमल करने वाला शख्स जन्नत में दाखिल होगा.अब्दुल्लाह बिन आमिर रजीo से रवायत है कि रसूल सल्लाo ने इरशाद फ़रमाया कि दो आदतें ऐसी हैं जिसको अगर किसी मुसलमान ने अख्तियार कर लिया तो वो जन्नत में जायेगा वो दोनों बहुत आसान हैं लेकिन उसपर अमल करने वाले बहुत कम हैं पहली ये कि हर नमाज़ के बाद 10 बार सुभानाल्लाह, 10 बार अल्हम्दुलिल्लाह और 10 बार अल्लाहु अकबर कहे रवि कहते हैं कि मैंने रसूल सल्लाo को देखा कि वो उँगलियों पर गिना करते थे.फिर फ़रमाया कि वो जुबान पर 150 (यानी पांचो वक़्त की नमाज़ के बाद) और मीजान पर 1500 हैं.

दूसरी आदत के बारे में फ़रमाया कि जब तुम सोने के लिए जाओ तो 33 बार सुभानाल्लाह 33 बार अल्हम्दुलिल्लाह और 34 बार अल्लाहु अकबर कहो ये जुबान पर तो 100 हैं लेकिन मीज़ान पर 1000 हैं इसके बाद आप सल्लाo ने इरशाद फ़रमाया कि तुम में से कौन है जो दिन भर में 250 बुराइयाँ करता है(क्योंकि गुनाह नेकियों को मिटा देती है) ये बात सुनकर सहबी ने कहा कि ऐ नबी सल्लाo भला हम इस पर अमल क्यों नहीं करेंगे.

सहाबी का मतलब ये था कि ये अमल जब इतना अच्छा है तो कम लोग इसे क्यों करते हैं इस पर आप सल्लाo ने इरशाद फ़रमाया कि जब लोग नमाज़ पढ़ते हैं तो तुम्हारे पास शैतान आता है और कहता है कि फलां चीज़ याद करो शैतान पूरी नमाज़ ये करता है कि यहाँ तक कि वो बन्दा नमाज़ से फारिग़ हो जाता है और बाँदा नमाज़ के बाद वाला अमल नहीं करता है.

इसके बाद नबी सल्लाo ने कहा कि इसी तरह जब बन्दा सोने के लिए बिस्तर पर जाता है तो शैतान वहां पर भी जाता है उसे सुलाता है और यहाँ तक कि वो सो जाता है हवाला (जामिया तिरमिज़ी) (जिल्द 2,1335 हसन) आपको बता दें कि ये अमल बहुत अच्छा अमल है और इसको करने पर अल्लाह के नबी सल्लाo ने जन्नत की बशारत दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here