लखनऊ में आज राजा भैया का शक्ति प्रदर्शन, एक लाख लोगों के आने की उम्मीद

UTTAR PARDESH

25 साल के राजनीतिक करियर के पूरे होने पर पूर्व मंत्री राजा भैया लखनऊ में शक्ति प्रदर्शन करेंगे. राजधानी के रमाबाई मैदान में ‘राजा भैया रजत जयंती समारोह’ नाम के कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है.

मंत्री समर्थकों को राजधानी पहुंचाने के लिए एक विेशेष ट्रेन भी बुक कराई गई है. ये शुक्रवार सुबह ही लखनऊ पहुंच जाएगी. समर्थकों का कहना है कि समारोह में करीब एक लाख लोग आएंगे.

शुक्रवार को लखनऊ के रमाबाई मैदान में उनकी पहली राजनीतिक रैली में वह नई पार्टी के नाम की औपचारिक घोषणा करेंगे. उन्होंने पार्टी का नाम ‘जनसत्ता पार्टी’ रखा है.

दरअसल पूरी कवायद राजा भैया उत्तर भारत में बतौर क्षत्रीय नेता स्थापित करने की है. माना जा रहा है कि विशाल रैली के जरिए वह शक्ति प्रदर्शन करेंगे. दरअसल उनकी राजनीति अगड़ा बनाम पिछड़ा ही रहेगी. पिछले दिनों उन्होंने एससी/एसटी एक्ट में बदलाव के चलते सवर्णों के उत्पीड़न का मुद्दा उठाया था. बता दें राजा भैया पिछले 25 वर्षों से कुंडा से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर यूपी विधानसभा में प्रतिनिधित्व कर रहे हैं.

निर्दलीय रहते हुए भी राजा भैया की धमक सत्ता के गलियारों में हमेशा महसूस की गई. बसपा को छोड़ दें तो सत्ता किसी भी पार्टी की हो राजा भैया मंत्री जरूर रहे. वर्ष 2009 में बसपा सरकार से टकराव के बाद 18 महीने जेल में भी रहे, लेकिन उनका कद नहीं घटा. हालांकि अपने सियासी जीवन में वे कभी भी सीधे तौर पर किसी राजनीतिक दल में न तो शामिल हुए और न ही अपनी पार्टी खड़ी की. 2004 और 2013 में बनी समाजवादी पार्टी की मुलायम सिंह और अखिलेश यादव सरकार में मंत्री बने. भारतीय जनता पार्टी की कल्याण सिंह सरकार में भी शामिल रहे थे. लेकिन 2002 में बीजेपी के समर्थन से बनी बसपा सरकार में वह शामिल नहीं हुए. इस तरह तकरीबन 25 वर्ष से वह निर्दलीय विधायक के तौर पर ही राजनीति करते रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *