Connect with us

बलिया

बलिया के इन 8 पिछड़े ब्लॉकों का होगा विकास, 468 गांवों की बदलेगी सूरत

Published

on

बलिया जिले के आठ ब्लॉक के 468 गांवों को विकसित किया जाएगा। इन गांवों में शासन की सभी योजनाओं को लागू किया जाएगा, साथ ही विकासकार्यों को गति दी जाएगी। शासन की ओर से विकासकार्यो में पिछड़े इन गांवों को संतृप्त करने के निर्देश दिए गए हैं।

जिलाधिकारी ने आदेश जारी करते हुए कहा कि पहले चयनित ब्लॉकों की विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जाए, इसके बाद इन ब्लॉकों में 6 योजनाओं का क्रियान्वित करने पर जोर रहेगा। जिन आठ ब्लॉकों का चयन किया गया है उनमें रसड़ा के 75 गांव, चिलकहर के 66 गांव, गड़वार के 63 गांव, सोहांव के 56 गांव, पंदह के 45 गांव,  मनियर के 47 गांव, बांसडीह के 58 गांव, हनुमानगंज के 58 गांव शामिल हैं।

जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को नामित किया है। स्वास्थ्य और पोषण की सेवाएं लागू करने की जिम्मेदारी सीएमओ और जिला कार्यक्रम अधिकारी को दी गई है। शिक्षा के लिए बीएसए और डीआईओएस को जिम्मेदारी मिली है। कृृषि संबंधित योजनाओं को लागू करने की जिम्मेदारी उप कृषि निदेशक, जिला कृषि अधिकारी, उपायुक्त मनरेगा और मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को दी गई है।

वित्तीय सेवाओं के लिए एलडीएम को नामित है। कौशल विकास के लिए जिला समन्वयक और बेसिक इंफ्रास्टक्चर मजबूत करने के लिए परियोजना निदेशक, अधिशासी अभियंता विद्युत, अधिशासी अभियंता पीएमजेएसवाई, अधिशासी अभियंता जल निगम, एसडीओ दूरसंचार और डीपीआरओ को दी है। जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी की मानें तो नीति आयोग ने काउलागी समिति की रिपोर्ट में दिए गए संकेतकों और जनपद की आवश्यकता एवं प्राथमिकता के आधार पर पिछड़े आठ ब्लॉकों का चयन किया है।

बलिया डीएसटीओ विजय शंकर का कहना है किआठ ब्लॉकों के सभी ग्राम पंचायत और मजरों को योजना से आच्छादित किया जाएगा। 31 मार्च 2020 तक के गांवों का स्तर को मानक माना गया है। काउलागी समिति द्वारा निर्धारित करीब 72 संकेतांकों के आधार पर कार्रवाई चल रही है। इन गांवों को योजनाबद्ध तरीके से विकसित किया जाएगा।

बलिया

बलियाः फोरलेन लिंक रोड के लिए 238 फुट चौड़ी जमीन का होगा अधिग्रहण

Published

on

बलियाः ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे के नए अलाइनमेंट के लिए 238 फुट चौड़ी जमीन अधिगृहित की जाएगी। इसको लेकर किसान काफी परेशान हैं क्योंकि फोरलेन का निर्माण होने से कई खेतों के दो टुकड़े हो जाएंगे। ऐसे में किसानों की खेती प्रभावित होगी।

वहीं खेत कटने से सड़क के दूसरे ओर जाना भी मुश्किल होगी। दूसरी ओर 100 से अधिक पेड़ भी काटने होंगे। इस एक्सप्रेस वे के बनने से गड़हांचल के भरौली, बघौना, एकौनी, टुटुवारी आदि गांवों के किसानों की चिंता भी बढ़ गई है। बघौना गांव के किसानों का कहना है कि कई जमीनें के आधे से अधिक हिस्सा अधिग्रहण के दायरे में आ रहे हैं ऐसे में शेष जमीनों पर खेती करना काफी मुश्किल होगा।

क्योंकि खेतों दो टुकड़ों में बंट जाएंगे। किसानों के खेत के बीच से सड़क गुजरेगी। चकमार्ग और नाली भी खत्म हो जाएंगे। इसके अलावा भरौली से करीमुद्दीनपुर तक बनने वाले फोरलेन के बीच 100 से अधिक पुराने पेड़ों को काटना भी पड़ेगा।

बता दें कि बिहार से यूपी को जोड़ने के लिए यह कवायद शुरु हुई है। पहले गंगा पुल के बाद भरौली से हैदरिया तक फोरलेन लिंक रोड बनाकर पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से जोड़ने की तैयारी थी लेकिन अब भरौली से फोरलेन लिंक रोड ग्रीनफील्ड से जोड़ने की तैयारी है। इसके लिए कुल 8 लेन बननी है, इसमें 238 फुट चौड़ाई में जमीन अधिग्रहण होगा। हालांकि अभी इसका खुलासा विभाग की ओर से नहीं किया जा रहा है।

Continue Reading

featured

बलिया में सनसनीखेज वारदात, थप्पड़ मारने पर युवती की हत्या, आरोपी ने किया सरेंडर

Published

on

बलिया की कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत बहेरी में युवती की चाकू मारकर हत्या का मामला सामने आया है। जहां 19 वर्षीय सोनू उर्फ दिलशाद ने युवती को मौत के घाट उतार दिया। हत्या करने के बाद आरोपी खुद कोतवाली पहुंच गया और पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। आरोपी सनकी दिमाग का बताया जा रहा है। पुलिस के सभी आलाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की छानबीन में जुट गए है।

जानकारी के मुताबिक घटना रविवार अलसुबह की है। बहेरी का रहने वाला सोनू पुलिस भर्ती की तैयारी कर रहा था। लेकिन युवती ने उसको थप्पड़ मारकर मुकदमे में फंसा कर जीवन खराब करने की धमकी दी थी। तभी से युवक युवती की हत्या की फिराक में था।

रविवार सुबह सोनू ने युवती की चाकू घोंपकर हत्या कर दी और खुद कोतवाली पहुंच गया। यहां उसने पुलिस वालों से कहा कि वह हत्या करके आया है। जिसके बाद कोतवाली में हड़कंप मच गया। आलाधिकारियो को सूचना देने के साथ ही शहर कोतवाल घटना स्थल पर पहुंचने के बाद जिला अस्पताल पहुंच गये। सीओ सिटी प्रीति त्रिपाठी और अपर पुलिस अधीक्षक डीपी त्रिपाठी भी जिला अस्पताल पहुंच गये। आरोपी युवक से पूछताछ की जा रही है।

Continue Reading

बलिया

बलिया- केपी मेमोरियल महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं एवं एनसीसी कैडेट्स ने निकाली तिरंगा यात्रा

Published

on

बलिया: आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत केपी मेमोरियल महाविद्यालय, सुहवां रतसर की ओर से शनिवार तिरंगा यात्रा निकाली गई। प्रबंधक अमित कुमार यादव के नेतृत्व में महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं और एनसीसी कैडेट्स ने उत्साह से हाथ में तिरंगा लिए इस यात्रा में प्रतिभाग किया। देशभक्ति नारे के उद्घोष के साथ पूरे रतसर कस्बे में भ्रमण किया गया।

प्रबन्धक अमित यादव ने कहा कि पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव बना रहा है। यह सौभाग्य की बात है कि हम सब स्वतंत्रता सप्ताह और हर घर तिरंगा अभियान के माध्यम से हम आजादी की लड़ाई में बलिदान हुए अमर सेनानियों व वीर सपूतों को याद करते हुए उनको सच्ची श्रद्धाजंलि अर्पित कर रहे हैं। इस अवसर पर एनसीसी कैडेट्स ऑफिसर मो.असलम, धर्मेंद्र यादव, सोनू यादव, जयराम सहित सभी स्टाफ शामिल थे।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!