Connect with us

बैरिया

बलिया- विधायक सुरेंद्र सिंह का शर्म’नाक बयान, कहा- शासन के डं’डे से नहीं संस्कार से रुकेगा रे’प

Published

on

बलिया डेस्क : अपने उटपटांग बयानों को लेकर सुर्खियां बटोरने वाले बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह ने प्रदेश में बढ़ रही रे’प की घटनाओं को लेकर बेहद विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बलात्कार जैसी घटनाओं को शासन के डंडे से नहीं अच्छे संस्कारों से रोका जा सकता है।

चांदपुर में शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए बीजेपी विधायक ने कहा कि अगर माता-पिता अपनी बेटियों को अच्छे संस्कार दें तो बला’त्का’र की घट’नाओं को रोका जा सकता है। बलात्कार के मामलों में सरकार को ज़िम्मेदारी से मुक्त करते हुए उन्होंने कहा कि ब’ला’त्कार की घटनाओं को शासन के डं’डे से नहीं रोका जा सकता।

अगर सरकार तलवार लेकर खड़ी रहे तब भी दु’ष्‍क’र्म की घट’नाएं नहीं रुकेंगी। विधायक ने ये बातें तब कहीं जब सूबे की योगी सरकार हाथरस ब’लात्का’र को लेकर चौतरफा घिरी हुई है। विपक्ष से लेकर मीडिया तक हाथरस की घटना को लेकर सूबे की कानून व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं। ऐसे में विधायक ने अपनी सरकार की नाकामी छुपाने के लिए संस्कार का सहारा लिया है।

उन्होंने हाथरस घटना में गैं’गरे’प के आरोपों को भी फ’र्ज़ी बताया है। उन्होंने कहा कि हाथ रस में रे’प नहीं हुआ था, इसकी पुष्टि लैब व पो’स्टमा’र्टम रि’पोर्ट से हो गई है। युवती के साथ मा’रपी’ट हुई है व उसकी ह’त्या हुई है। यह निंद’नीय घ’टना है। दो’षियों के ख़ि’लाफ़ कार्र’वाई भी होनी चाहिए।

विधायक यहीं नहीं रुके उन्होंने यहां रे’प के अकसर मामलों को फर्ज़ी बताने की भी कोशिश की। उन्होंने कहा कि दलित उ’त्पी’ड़न व महिला यौ’न उ’त्पी’ड़न का किसी पर भी फ’र्जी आ’रोप लगाकर किसी का जीवन नरक किया जा सकता है, जो सही नहीं है।

इस दौरान विधायक ने हा थर स कां’ड का विरोध कर रही विपक्षी पार्टियों पर भी ज़ोर दार हम’ला बोला। उन्होंने कहा कि ये लोग अपने राजनैतिक फायदे के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि दलित को या ब्राह्म’ण हो सबकी बेटी बेटी ही होती है। सबको सुर’क्षा व संर क्षा मिलनी चाहिए। लेकिन विपक्षी पार्टी अपने फायदे के लिए द’लित की बेटी कहकर समाज को बांटने में लगे हुए हैं।

हाथरस की बेटी के लिए आवाज़ उठाने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी व प्रियंका गांधी पर विधायक ने अ’भ’द्र टिप्पणी भी की। उन्होंने कहा कि दोनों भाई बहन हो’टल बोतल के संस्कार वाले हैं, ये लाख कोशिश कर लें उत्तर प्रदेश की ज़मीन पर कांग्रेस स्थापित होने वाली नहीं है।

वहीँ विधायक का बयान सामने आने के बाद कांग्रेस ने जोरदार हमला बोला है   बलिया कांग्रेस ने सुरेन्द्र सिंह के बयान का विडियो ट्वीट कर मुख्यमंत्री  योगी से बैरिया विधायक को तुरंत बर्खास्त करने की मांग की है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

Uncategorized

बलिया में हाईटेंशन तार से झुलसे ग्रामीण की मौत, जेई और लाइनमैन पर मुकदमा दर्ज

Published

on

हाईटेंशन तार से झुलसे ग्रामीण की मौत, जेई और लाइनमैन पर मुकदमा दर्ज। (प्रतिकात्मक तस्वीर)

बलिया जिले के श्रीनगर गांव में बिजली विभाग की लापरवाही ने एक व्यक्ति की जान ले ली। बीते मंगलवार की सुबह श्रीनगर के नागा यादव के ऊपर हाईटेंशन तार टूटकर गिर गया। हाईटेंशन तार की चपेट में आने से नागा यादव बुरी तरह झुलस गए। मंगलवार की रात तक इलाज के दौरान ही वाराणसी में उनकी मृत्यु हो गई। इस घटना के शिकार श्रीनगर के वृंदा यादव भी हुए। जिनका इलाज अभी चल रहा है।

नागा यादव की मृत्यु के बाद उपकेंद्र बैरिया के जूनियर इंजीनियर और लाइनमैन पर मुकदमा दर्ज किया गया है। नागा यादव की पत्नी की तहरीर पर पुलिस ने जेई विनोद भारद्वाज और अज्ञात लाइनमैन के खिलाफ आईपीसी की धारा 338 के तहत मुकदमा लिखा गया है। रेवती के एसओ यादवेंद्र पांडेय ने मीडिया से कहा है कि नागा यादव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की विधिक कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि बलिया के श्रीनगर के निवासी नागा यादव मंगलवार की सुबह शौच जा रहे थे। तभी रास्ते में उन पर हाईटेंशन तार टूटकर गिर गया। जिसकी चपेट में आने से 35 साल के नागा झुलस गए। इस घटना में 40 साल के वृंदा यादव भी झुलसे। इसके बाद आसपास के लोगों ने दोनों को जिला अस्पताल पहुंचाया। जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने हालत गंभीर देखकर नागा यादव को वाराणसी भेज दिया। वाराणसी में ही इलाज के दौरान रात के वक्त नागा यादव का निधन हो गया। जबकि वृंदा यादव का इलाज जारी है।

मंगलवार की सुबह जब यह हादसा हुआ तो गांव के लोगों में आक्रोश फैल गया। लोगों ने गुस्से में आकर सड़क जाम कर दिया। लगभग दो-तीन घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने किसी तरह ग्रामीणों को समझा-बुझाकर सड़क खाली करवाया। गांव वालों ने आरोप लगाया है कि बिजली विभाग की लापरवाही की वजह से ही यह हादसा हुआ है। इस इलाके की हाईटेंशन तार टूटी हुई थी लेकिन मरम्मत किए गए बगैर ही लाइन दे दी गई।

Continue Reading

featured

बलिया में ATM कार्ड बदलकर उड़ाए 30 हजार, 5 हज़ार का डीजल भी भरवाया

Published

on

बलिया में आपराधिक घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। शातिर बदमाश लूट और चोरी जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। ताजा मामला नरहीं थाना क्षेत्र का लक्ष्मणपुर में एटीएम कार्ड बदलकर 30 हजार रुपये खाते से निकाल लिए गए। साथ ही एटीएम कार्ड का इस्तेमाल पेट्रोल डलवाने के लिए भी किया गया। हालांकि शिकायत के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। दरअसल नरहीं थाना क्षेत्र की लक्ष्मणपुर निवासी निर्मला देवी पत्नी अनिरुद्ध गुप्ता बेटे नवनीत गुप्ता के साथ चट्टी पर एटीएम से पैसा निकालने गई हुई थीं।तकनीकी गड़बड़ी के कारण पैसा नहीं निकल पा रहा था। इसी बीच पीछे खड़े व्यक्ति ने एटीएम कार्ड लेकर बदल दिया। और फिर खाते से 30 हजार रुपये उड़ा दिए। बदमाशों ने करीब आधे घंटे के अंदर ही उसके खाते से 25 हजार रुपये निकल गया। इसके कुछ देर बाद ही चितबड़ागांव पेट्रोल पंप से 5 हजार रुपये का डीजल की खरीदारी कर ली गई। महिला ने थाने पर तहरीर दे दी है। शिकायत मिलने पर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। घटना के आस-पास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

गौरतलब है कि इस थाना क्षेत्र में आए दिन हमेशा चोरी और जालसाजी की घटनाएं होती रहती है और पुलिस हर बार की तरह हाथ पर हाथ धरकर बैठी दिखाई दे रही है। बीते दिनों अगस्त महीने में थाना क्षेत्र के बिलरिया गांव में लगभग 4 लाख से ऊपर की चोरी हुई थी एक घर में पुलिस दावा भी कर रही थी कि चोर बहुत जल्द पकड़ लिया जाएगा मगर आज तक पुलिस के हाथ खाली है।यहां की पुलिस का खौफ चोर उच्च को में बिल्कुल ही नहीं है क्योंकि लक्ष्मणपुर चट्टी पर पुलिस पिकेट है,और हमेशा यहां पुलिस तैनात रहती भी है,फिर भी चोर चोरी करने में यहां कामयाब रहते हैं और जालसाज पुलिस की मौजूदगी में जालसाजी करके चले जाते हैं।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

बलिया- भविष्य की आस में जिंदगी खत्म, स्कूल में नाम लिखवाने गए मासूम की तालाब में डूबने से मौत

Published

on

बलिया। पढ़ लिखकर डॉक्टर, इंजीनियर एक बड़ा इंसान बनने का सपना हर बच्चे का होता है। और अपने सपनों को पूरा करने के लिए वह शिक्षित होना चाहता है, यह सोच के साथ बलिया का विक्की भी स्कूल में अपना लिखवाने गया था क्या पता था वह जिंदा घर ही नहीं लौट पाएगा। और तालाब में डूबने से उसकी जिंदगी ही खत्म हो जाएगी। उधर परिजनों ने समय पर इलाज न मिलने का आरोप लगाकर अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की। जहां पुलिस ने मामले को संभाला और परिजनों को समझाइश दी।दरअसल बैरिया थाना क्षेत्र के सोनबरसा गांव निवासी कमलेश यादव का पुत्र विक्की यादव (8) अपने फुफेरे भाई आदित्य यादव (5) को साइकिल पर बैठाकर प्राथमिक विद्यालय सोनबरसा गया था। वहां अपना नाम लिखने का आग्रह किया। अध्यापकों ने विक्की से अभिभावक को लेकर आने के लिए कहा। विक्की आदित्य को लेकर घर जाने लगा। विद्यालय से कुछ ही दूरी पर उसकी साइकिल पलट गई और दोनों बच्चे साइकिल समेत तालाब में गिर गए। विक्की डूब चुका था और आदित्य को डूबते देख उस रास्ते से जा रही एक लड़की ने शोर मचाना शुरू किया।

शोरगुल सुनकर उक्त प्राथमिक विद्यालय में तैनात शिक्षामित्र सुबेख सिंह तालाब में छलांग लगाकर आदित्य को बचाकर अस्पताल ले गया। आदित्य ने होश में आते ही बताया कि मेरे साथ विक्की भैया भी थे, वह भी डूब रहे थे, वह कहां हैं। ग्रामीण भागकर तालाब के पास पहुंचे। विक्की को ढूंढ निकाला और उसे लेकर सोनबरसा अस्पताल ले गए जहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर अविनाश कुमार से इलाज के लिए कहा। परिजनों ने आरोप लगाया कि इलाज में विलंब होने से विक्की की मौत हो गई। मासूम की मौत से आक्रोशित ग्रामीणों ने अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की।

घटना की सूचना पर एसएचओ राजीव कुमार मिश्र पुलिस बल के साथ अस्पताल पहुंचे। यहां आक्रोशित ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया गया। परिजनों ने ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है। जबकि डॉक्टर अविनाश का कहना है कि अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे में देखा जा सकता है। बिना समय गंवाए बच्चे का चेकअप किया गया। अस्पताल आने से पहले ही बालक की मौत हो चुकी थी।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!