Connect with us

बलिया

गैर-जिम्मेदाराना रवैया! : स्कूलों को गोद लेकर भूले बलिया के 125 अफसर, सुविधाएं देखने तक नहीं पहुचे

Published

on

बलिया में बेसिक शिक्षा का स्तर सुधारने की कोशिशें नाकाम होती नजर आ रही हैं। जहां स्कूलों को गोद लेने वाले अधिकारियों का गैर जिम्मेदाराना रवैया सामने आया है। सरकार के निर्देश पर जिले के 500 परिषदीय स्कूलों को 250 अधिकारियों ने दो-दो स्कूलों को गोद लिया। लेकिन करीब 125 अधिकारियों ने ही गोद लिए स्कूलों का रिपोर्ट कार्ड विभाग को दिया। बाकी 125 अधिकारी गोद लिए स्कूलों में झांकने तक नहीं पहुंचे।

डीएम से लेकर ईओ तक शामिल- एक रिपोर्ट के मुताबिक परिषदीय स्कूलों को गोद लने वाले अधिकारियों की सूची में डीएम, सीडीओ, डीपीआरओ, बीएसए, डीआईओएस के अलावा अधीक्षण अभियंता पीडब्ल्यूडी, प्रांतीय खंड पीडब्लूडी, खनन अधिकारी, चकबंदी अधिकारी, प्रभारी कृषि विज्ञान केंद्र सोहांव, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला पंचायत, परियोजना प्रबंधक भूमि सुधार निगम बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी के अलावा सभी तहसीलदार, सभी ईओ आदि शामिल है।

बता दें अधिकारियों को स्कूल गोद देने का उद्देश्य स्कूल में बच्चों की शैक्षिक गुणवत्ता और प्रबंधन का पता लगाने का था। अधिकारियों को विद्यालय में नामांकन की स्थिति, शिक्षक, विद्यार्थी की मासिक उपस्थिति, मिड डे मील की गुणवत्ता, बाल वाटिका निर्माण, शैक्षिक पल स्तर, इन्फ्रास्ट्रक्चर, संसाधन और मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता, विद्यार्थियों के खातों के लिंक, उनमें यूनिफार्म, बैग और स्वेटर का पैसा पहुंचा या नहीं जैसे बिंदुओं पर अपनी रिपोर्ट तैयार करनी थी।

जिले के चयनित 500 स्कूलों में 19 पैरामीटर के तहत कार्य कराए जाने हैं। जिन स्कूलों में नौ पैरामीटर तक कायाकल्प हुआ है, उसको 19 तक पूरा करना है। लेकिन कई अधिकारियों का गैर जिम्मेदाराना रवैया उजागर हुआ है। जिन्होंने सुधार तो दूर की बात स्कूलों की स्तिथि भी देखना जरूरी नहीं समझा।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया

बलिया – जिला अस्पताल में संविदा पर रखे जाएं डॉक्टर्स और कर्मचारी: डिप्टी सीएम

Published

on

बलिया जिला अस्पताल की स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार को लेकर उपमुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री ब्रजेश पाठक ने एक अहम फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि यहां संविदा पर चिकित्सकों और कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी। जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार किया जाएगा। यहां से प्रस्ताव शासन को चला जाएगा।

जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण- दरअसल जनपद में बुधवार को उपमुख्यमंत्री रसड़ा में एक चिकित्सालय के बाद दुबहर में चल रहे चतुर्मास एवं लक्ष्मी नारायण महायज्ञ में जीयर स्वामी के दर्शन करने पहुंचे। दर्शन के बाद वह अचानक जिला अस्पताल पहुंच गए। उप मुख्यमंत्री ने इमरजेंसी में मरीजों से बातचीत की। हालांकि मरीजों ने सभी बातों का सकारात्मक जवाब दिया। इस दौरान जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल भी मौके पर पहुंच गई।

संविदा पर नियुक्ति के निर्देश- इसके बाद उन्होंने सीएमएस कार्यालय में सीएमओ, सीएमएस और अन्य अधिकारियों से स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के संबंध में जानकारी ली। सीएमएस डॉ. दिवाकर सिंह ने जिला अस्पताल में एएनएम और विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमियों का मुद्दा उठाया। जनप्रतिनिधियों ने ट्रामा सेंटर का संचालन जल्द शुरू करने की मांग की। डिप्टी सीएम ने सीएमओ से अपने स्तर से 15 एएनएम की तैनाती जिला अस्पताल में करने के निर्देश दिए।

सीएमओ ने बताया कि जनपद में सीएचएसी और पीएचसी के संचालन के लिए कुल 221 चिकित्सकों की आवश्यकता है। अभी सिर्फ 104 चिकित्सक ही उपलब्ध हैं। ऐसे में संचालन में काफी दिक्कतें आ रही हैं। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं को सुचारू करने के लिए जिन-जिन चीजों की आवश्यकता है, उसका प्रस्ताव मांगा गया है। प्रस्ताव मिलते ही इस पर कार्रवाई शुरू की जाएगी।

अपंजीकृत अस्पताल, जांच केंद्रों पर होगी कार्रवाई- साथ ही कहा कि अपंजीकृत अस्पतालों और जांच केंद्रों की जांच कर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए पूरे प्रदेश में अभियान चलाया जा रहा है। अपंजीकृत अस्पतालों और जांच केंद्रों को नहीं चलने दिया जाएगा। इस मौके पर परिवहन राज्यमंत्री दयाशंकर सिंह, राज्यसभा सांसद नीरज शेखर, पूर्व मंत्री उपेंद्र तिवारी, भाजपा जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू, सीएमओ डॉ. जयंत कुमार के साथ ही अन्य अधिकारी और भाजपा पदाधिकारी मौजूद रहे।

Continue Reading

बलिया

गृहमंत्री अमित शाह के दौरे से पहले भाजपा प्रदेशाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह का बलिया दौरा कल

Published

on

बलिया। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह 11 अक्टूबर को बलिया आने वाले हैं। ऐसे में उनके दौरे की तैयारी भी तेज हो गई है। अमित शाह के दौरे से पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह 7 अक्टूबर को बलिया आ रहे हैं। जो गृह मंत्री अमित शाह के कार्यक्रम स्थल का निरिक्षण करेंगे।

बता दें प्रदेशाध्यक्ष बनने के बाद भूपेंद्र सिंह पहली बार बलिया आ रहे हैं। वह जनपद में विभिन्न कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। यह जानकारी जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू के हवाले से जिला मीडिया प्रभारी पंकज सिंह दी बताया कि शुक्रवार को जनपद में उनका जोरदार स्वागत किया जाएगा।

भूपेंद्र सिंह 9 बजे सिताबदियारा में गृह मंत्री अमित शाह के कार्यक्रम स्थल का निरिक्षण करेंगे। तत्पश्चात वहां कार्यकर्ताओं से जानकारी लेंगे। वापसी में व्यासी में जियरस्वामी द्वारा आयोजित यज्ञ स्थल पर जाकर पूजा में भाग लेंगे। और फिर दोपहर 3 बजे पार्टी कार्यालय पर पदाधिकारियों संग बैठक में हिस्सा लेंगे।

गौरतलब है कि देश के गृहमंत्री अमित शाह 11 अक्टूबर को बलिया के सिताबदियारा में आने वाले हैं। वह जेपी जयंती के मौके पर प्रतिमा का अनावरण करेंगे। गृहमंत्री के आगमन को लेकर जहां पुलिस प्रशासन व्यवस्था बनाने में जुटा है तो वहीं बीजेपी भी आयोजन को सफल बनाने की तैयारी कर रही है।

Continue Reading

बलिया

बलिया : 11 को सिताबदियारा आएंगे गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा नेताओं ने की बैठक

Published

on

बलिया। देश के गृहमंत्री अमित शाह 11 अक्टूबर को बलिया के सिताबदियारा में आने वाले हैं। वह जेपी जयंती के मौके पर प्रतिमा का अनावरण करेंगे। गृहमंत्री के आगमन को लेकर जहां पुलिस प्रशासन व्यवस्था बनाने में जुटा है तो वहीं बीजेपी भी आयोजन को सफल बनाने की तैयारी कर रही है।

गृहमंत्री के दौरे को लेकर बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने फेफना विधानसभा में कार्यकर्ताओं की बैठक ली। पूर्व मंत्री उपेंद्र तिवारी के आवास पर टैगोर नगर में हजारों कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत की गई। इस दौरान सांसद ने कहा कि लाला टोला सिताबदियारा में जेपी जयंती के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को सफल बनाना है।

अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर कार्यक्रम को एतिहासिक बनाना है। खास बात यह है कि आज से 11 साले पहले लाला टोला सिताबदियारा में पूर्व गृहमंत्री लालकृष्ण आडवाणी भाजपा के जनजागरण रथ यात्रा की शुरूआत जेपी की जन्मभूमि से किया था। अब उसी जगह पर वर्तमान गृह मंत्री अमित शाह आएंगे। राज्यसभा सांसद नीरज शेखर ने भी कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि बिना आप लोगों के सहयोग से कोई भी कार्यक्रम सफल नहीं हो सकता। इसलिये जरूरत है कि आप लोग अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर कार्यक्रम को सफल बनाएं। पूर्व मंत्री उपेंद्र तिवारी ने कहा कि अमित शाह के कार्यक्रम में फेफना कोई कसर नहीं छोड़ेगा। सबसे ज्यादा भीड़ फेफना विधानसभा से होगी। उन्होंने दावा किया कि फेफना भीड़ के मामले में कम नहीं रहेगा। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू, जिला मंत्री प्रदीप सिंह, जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन विनोद शंकर दुबे आदि मौजूद रहे।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!