Connect with us

बैरिया

बलिया में फर्जी तरीके से मास्टरी हासिल करने की ये कहानी चौंका देगी!

Published

on

बैरिया के सोनबरसा की किरन सिंह ने अपने चचेरे भाई कुलदीप सिंह पर अपने पिता की नौकरी हथियाने का आरोप लगाया है।

बलिया जिले के बैरिया तहसील के अंतर्गत एक व्यक्ति द्वारा फर्जी तरीके से दत्तक पुत्र बनकर सरकारी शिक्षक के पद पर नौकरी करने का मामला सामने आया है। बैरिया के सोनबरसा की किरन सिंह ने अपने चचेरे भाई कुलदीप सिंह पर अपने पिता की नौकरी हथियाने का आरोप लगाया है। किरन सिंह ने बलिया जिलाधिकारी को इस मामले की पूरी जानकारी दी है और न्याय की मांग की है।

किरन सिंह ने जिलाधिकारी को लिखे पत्र में बताया है कि उनके पिता ललन सिंह की मृत्यू 2006 में 23 अप्रैल को हो गई थी। मृत्यू के दौरान ललन सिंह मुरली छपरा के एक प्राथमिक पाठशाला में बतौर प्रधानाध्यापक अपनी सेवाएं दे रहे थे। सर्विस के दौरान ही उनकी मौत एक सड़क दुर्घटना में हो गई। ललन सिंह की सिर्फ दो बेटियां थीं। संध्या सिंह और किरन सिंह।

कुलदीप सिंह ने बलिया जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी से मिलकर ललन सिंह की मृत्यू के बाद मिलने वाली नौकरी हड़प लिया। कुलदीप सिंह ललन सिंह के भाई का लड़का है। रिश्ते में कुलदीप सिंह किरन सिंह का चचेरा भाई लगता है। किरन सिंह ने जिलाधिकारी को लिखा है कि कुलदीप सिंह ने फर्जी तरीके से खुद को ललन सिंह का दत्तक पुत्र साबित कर दिया। जिसके मुरली छपरा के उसी स्कूल में कुलदीप सिंह बतौर सहायक अध्यापक कार्यरत है। जबकि गैर-कानूनी है क्योंकि नौकरी पर अधिकार ललन सिंह की बेटियों का था।

ललन सिंह का दत्तक पुत्र बनकर शिक्षक की नौकरी हड़पने वाला कुलदीप सिंह

ललन सिंह का दत्तक पुत्र बनकर शिक्षक की नौकरी हड़पने वाला कुलदीप सिंह

कुलदीप सिंह ने सरकार से पैसे मिलने की लालच में ललन सिंह की एक जमीन पर भी अपना नाम दाखिल करवाया है। जिस जमीन पर कुलदीप सिंह ने अपना नाम लिखवाया है वह एनएच से सटी हुई है। ऐसे में जमीन के ऐवज में सरकार की ओर से मोटी रकम मिलने वाली है। इसी लालच में ललन सिंह की मृत्यू के बाद उनकी दो बेटियों के बजाए कुलदीप सिंह ने अपना नाम दाखिल करवा लिया। आरोप है कि इस काम में तहसील के अधिकारियों ने कुलदीप सिंह का साथ दिया है।

जिलाधिकारी को लिखे पत्र में किरन सिंह ने बताया है कि कुलदीप सिंह के पिता का नाम मदन सिंह है ना कि कुलदीप सिंह। सबूत के तौर पर जिलाधिकारी को सोनबरसा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कुलदीप सिंह के जांच की रिपोर्ट भेजी गई है। इस रिपोर्ट में कुलदीप सिंह ने अपने पिता का नाम मदन सिंह ही लिखवाया है।

किरन सिंह ने बलिया खबर से हुई बातचीत में कहा कि “कुलदीप सिंह के प्रमाण पत्रों की जांच कर उचित न्याय की जाए। मांग है कि कुलदीप सिंह की शिक्षक के पद पर फर्जी तरीके से हुई नियुक्ति रद्द की जाए। साथ ही जिस जमीन पर कुलदीप सिंह ने गलत तरीके से अपना नाम चढ़वाया है उस पर हम दोनों बहनों का नाम लिखा जाए। ताकि सरकार से मिलने वाली मुआवजे की राशि हमें मिले।”

Advertisement src="https://kbuccket.sgp1.digitaloceanspaces.com/balliakhabar/2022/10/12114756/Mantan.jpg" alt="" width="1138" height="1280" class="alignnone size-full wp-image-50647" />  
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया

बलियाः बैरिया में सामुदायिक भवन का नगर पंचायत अध्यक्ष ने किया उद्घाटन

Published

on

बैरिया डेस्क: बलिया की बैरिया नगर पंचायत में रविवार  खाकी बाबा के पोखरे के निकट वार्ड-1 में वीरांगना महारानी दुर्गावती गौड सामुदायिक भवन का उद्घाटन कार्यक्रम आयोजित हुआ।

इस दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद नगर पंचायत बैरिया अध्यक्ष शांति देवी, अध्यक्ष प्रतिनिधि शिवकुमार वर्मा(मंटन ) ने फीता काटकर भवन का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में अधिशासी अधिकारी आशुतोष कुमार ओझा की उपस्थिति भी रही। इस मौके पर अध्यक्ष प्रतिनिधि शिवकूमार वर्मा मंटन ने बोलते हुए कहा कि नगर पंचायत में इसी तरह आम जनता की सेवा करते रहेंगे।

उन्होंने कहा कि सामुदायिक भवन का निमार्ण हमारी नगर पंचायत के आम जनता को राहत देगा, कई मायने में ये भवन बहुत महत्वपूर्ण है, हमारी कोशिश है आने वाले दिनों में और भी तमाम तरह की सुविधाएं आम लोगों तक पहुंचाई जाए और इस सेवा में मैं तन मन धन से लगा हुआ हूं।

बता दें कि इस भवन का भूमिपूजन 18 अक्टूबर 2020 को शांति देवी के द्वारा किया गया था। लगभग 2 सालों के इंतजार के बाद अब भवन का निर्माण कार्य पूरा हुआ।  गौरतलब है इस सामुदायिक भवन से नगरवासियों को विवाह आदि कार्यक्रमों में समारोह स्थल को लेकर  आने वाले  दिक्कतें अब दूर हो जाएगी ।

Continue Reading

featured

निकाय चुनाव की जंग: शिवमंगल वर्मा और हरी सिंह की इस तस्वीर ने गर्मा दी बैरिया की सियासत?

Published

on

बलिया में नगरीय निकाय चुनाव को लेकर सरगर्मी देखने को मिल रही है। बैरिया नगर पंचायत में पिछली बार एक दूसरे के खिलाफ लड़ने वाले अब साथ में चुनाव लड़ने का दावा कर रहे हैं। ये हम नहीं बल्कि ऐसा दावा करती हुई एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल है। बता दें  की अपने आप को संभावित दावेदार के रूप पेश कर रहीं संगीत देवी के पति शिव मंगल वर्मा के नाम से बने फेसबूक अकाउंट से एक फोटो शेयर की गई है। हालांकि इस  फेसबूक अकाउंट की सत्यता की पुष्टि बलिया खबर नहीं करता हैं । फोटो में शिव मंगल वर्मा और हरी सिंह साथ में नजर आ रहे हैं। साथ ही एक साथ चुनाव लड़ने की भी बात लिखी है। बता दें कि शिवमंगल वर्मा की पत्नी संगीत देवी इस बार अध्यक्ष पद की दावेदारी कर रही हैं।  इस तस्वीर के सामने आने के बाद नगर पंचायत बैरिया की सियासत गरमा गई है।

सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर

 

फोटो सामने आने के बाद नगर में तरह तरह की चर्चा है। वहीं चर्चा तो इस बात की भी हैं कि इस बार एक ही घर से दो प्रत्याशी भी आमने सामने आ सकते हैं। हालांकि फोटो के बारे में जब हमने शिवमंगल वर्मा से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने फोन नहीं उठाया, वहीं बलिया खबर की टीम ने नगर पंचायत अध्यक्ष शांति देवी के प्रतिनिधि शिव कुमार वर्मा मंटन से बात की तो उन्होंने बताया कि मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं हैं। मैं उस बारे में कोई टिप्पणी नहीं कर पाऊँगा। 

गौरतलब है कि 2017 में बैरिया की पहली नगर पंचायत अध्यक्ष शांति देवी बनी थीं। उनके प्रतिनिधि शिव कुमार वर्मा मंटन हैं। साथ ही शिव मंगल वर्मा  शांति देवी के देवर भी हैं। जिनकी पत्नी संगीत देवी खुद इस बार चुनावी मैदान में दिख रही हैं। 2017 के नतीजों में दूसरे नंबर पर रही निर्दलीय उम्मीदवार पूनम सिंह थीं। पूनम सिंह के पति हरी सिंह इस बार चुनावी रण में दिख रहे हैं।
  दूसरी तरफ नगर पंचायत चुनाव के संभावित प्रत्याशी शिवकुमार वर्मा मंटन भी लगातार प्रचार प्रसार करते दिख रहे हैं। अगर फोटो में जरा भी सच्चाई है तो क्या हरी सिंह और शिवमंगल की पत्नी में से कोई एक निवर्तमान अध्यक्ष  के सामने मैदान में होगा या फिर चाचा- भतीजे चुनावी मैदान में आमने सामने दिखेंगे। ये तो आने वाला वक्त ही तय करेगा। 

Continue Reading

बैरिया

बलिया के इस क्षेत्र में सैनिक स्कूल खोलने की तैयारी, कागजी कारवाई लगभग पूरी

Published

on

बलिया। बैरिया के दलनछपरा में सैनिक स्कूल खोलने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए  सभी जरूरी कागजी कारवाई तकरीबन पूरी हो चुकी है। इसको लेकर बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने प्रेस वार्ता की। सांसद ने इस दौरान बताया कि रक्षा मंत्रालय ने सैनिक स्कूल खोलने लिए जो भी गाइडलाइंस दी थी उसे पूरा कर दिया गया है। जल्द ही इसकी स्वीकृति मिल जाएगी। स्वीकृति मिलते ही दलन छपरा में निर्माण कार्य शुरू होगा।

संसद ने कहा कि सेना में अधिकारी बनने का जुनून बलिया के युवाओं में हमेशा देखने को मिलता है। यहां के लोग अपने बच्चों को सैनिक स्कूल में दाखिला दिलाने के लिये काफी लम्बी तैयारी कराते हैं।

यदि उनके बच्चों का दाखिला सैनिक स्कूल में हो भी जाता है, तब भी उन्हें दूर दराज के क्षेत्र में जाना पड़ता है। जिले में सैनिक स्कूल खुल जाने पर बलिया के अलावा पूर्वाचल के अन्य जिलों को फायदा मिलेगा। फिलहाल अपने प्रदेश में गोरखपुर में सैनिक स्कूल हैं। इसके पहले घोड़ाखाल में सैनिक स्कूल था जो अब उतरांचल राज्य में है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!