Connect with us

featured

बलिया- करोड़ों खर्च फिर भी स्वास्थ्य उपकेंद्र अधूरा, 10 साल बाद भी नहीं मिली सुविधा

Published

on

बलिया में लाखों रुपये खर्च होने के बाद भी लोगों को सुविधा नहीं मिल रही है। बैरिया विधानसभा के सबलपुर स्वास्थ्य उपकेन्द्र का निर्माण काम सालों से अधूरा पड़ा हुआ है। ग्रामीण क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं, नवजात बच्चों को बेहतर चिकित्सा व्यवस्था और टीकाकरण के लिए बनने वाले स्वास्थ्य उपकेंद्र का निर्माण अधूरा होने से कोई लाभ नहीं मिल रहा है। उपकेन्द्र के भवन का निर्माण लगभग 10 साल पहले शुरू हुआ था, लेकिन आज तक पूरा नहीं हुआ। जिससे सरकार के लाखों रूपये खर्च होने के बाद भी पूरी तरह से निरर्थक साबित हो रहे हैं।

गौरतलब है कि प्रति स्वास्थ्य उपकेन्द्र लगभग 20 लाख रुपये सरकार ने स्वीकृत किए थे। बावजूद इसके स्वास्थ्य उपकेन्द्र नहीं बन पाए। बैरिया विकासखण्ड के सबलपुर गांव में स्वास्थ्य उपकेन्द्र का निर्माण काफी दिनों पहले शुरू कराया गया था। आधा अधूरा निर्माण के बाद काम बंद हो गया, जिस पर जंगली पौधे और झाड़ियां उग आई हैं। इसकी कोई सुध लेने वाला नहीं है। ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग की कार्य प्रणाली को छलावा बताया। अधिकारियों पर सरकारी धन का लूटखसोट का आरोप भी लगाया।

बता दें विकासखण्ड बैरिया में कुल 29 स्वास्थ्य उपकेंद्रों के लिए मात्र एक दर्जन एएनएम की तैनाती है। अगर एक एएनएम को दो स्वास्थ्य उपकेन्द्र दिया जाता है तो भी सभी स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर एएनएम की तैनाती नहीं हो पा रही है। नतीजन परिवार कल्याण कार्यक्रम, परिवार नियोजन कार्यक्रम और राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम बुरी तरह प्रभावित है।

जल्द होगा उपकेंद्र का निर्माण पूरा- वहीं सीएमओ डॉक्टर जयंत कुमार का कहना है कि खाली स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर तत्काल एएनएम की तैनाती की कोशिश की जाएगी। इसके अलावा अधूरे उपकेंद्र को लेकर कहा कि यह मामला मेरे संज्ञान में नहीं था। आप के माध्यम से संज्ञान में आया है। जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी। अधूरे स्वास्थ्य उपकेंद्रों का निर्माण कार्य अविलम्ब पूरा कराने के लिए उचित कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

बलिया में सनसनीखेज वारदात, थप्पड़ मारने पर युवती की हत्या, आरोपी ने किया सरेंडर

Published

on

बलिया की कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत बहेरी में युवती की चाकू मारकर हत्या का मामला सामने आया है। जहां 19 वर्षीय सोनू उर्फ दिलशाद ने युवती को मौत के घाट उतार दिया। हत्या करने के बाद आरोपी खुद कोतवाली पहुंच गया और पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। आरोपी सनकी दिमाग का बताया जा रहा है। पुलिस के सभी आलाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की छानबीन में जुट गए है।

जानकारी के मुताबिक घटना रविवार अलसुबह की है। बहेरी का रहने वाला सोनू पुलिस भर्ती की तैयारी कर रहा था। लेकिन युवती ने उसको थप्पड़ मारकर मुकदमे में फंसा कर जीवन खराब करने की धमकी दी थी। तभी से युवक युवती की हत्या की फिराक में था।

रविवार सुबह सोनू ने युवती की चाकू घोंपकर हत्या कर दी और खुद कोतवाली पहुंच गया। यहां उसने पुलिस वालों से कहा कि वह हत्या करके आया है। जिसके बाद कोतवाली में हड़कंप मच गया। आलाधिकारियो को सूचना देने के साथ ही शहर कोतवाल घटना स्थल पर पहुंचने के बाद जिला अस्पताल पहुंच गये। सीओ सिटी प्रीति त्रिपाठी और अपर पुलिस अधीक्षक डीपी त्रिपाठी भी जिला अस्पताल पहुंच गये। आरोपी युवक से पूछताछ की जा रही है।

Continue Reading

featured

बलिया में मंत्रियों की अगुआई में निकली तिरंगा यात्रा

Published

on

बलिया। आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है। इसी तारातम्य में बलिया में भाजपा ने तिरंगा यात्रा निकाली। इस दौरान सैंकड़ों की संख्या में मौजूद कार्यकर्ता हाथों में तिरंगा थामे शहर की सड़कों पर निकले और नारे लगाते हुए आजादी के वीर सपूतों को याद किया।

शहर के रामलीला मैदान से सैकड़ों बाइकों के साथ निकली तिरंगा यात्रा की अगुआई परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह व अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री दानिश आजाद अंसारी ने की। दोनों मंत्री अलग अलग बाइक पर सवार होकर हाथों में तिरंगा लहराते भारत माता के जयकारे लगाते आगे-आगे चल रहे थे।

यह यात्रा एलआईसी रोड, मालगोदाम, रेलवे स्टेशन होते हुए तिरंगा यात्रा चौक रोड में पहुंची। इस दौरान दोनों मंत्रियों ने सेनानी उमाशंकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया वहीं शहीद पार्क स्थित गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इससे पहले केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने शेरे बलिया चित्तू पांडे और चौक में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। यहां से यात्रा ओवरब्रिज होते हुए कलक्ट्रेट पहुंची, जहां गंगा बहुद्देश्यीय सभागार में सभा हुई। सभा में आजादी के लिए बलिदानी देने वाले वीरों की गाथाएं गाई गई और उनके बलिदान को याद करते हुए नमन किया। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अन्य लोग भी शामिल हुए।

Continue Reading

featured

NHAI ने बलिया DM को लिखा पत्र, भारी वाहनों से क्षतिग्रस्त हुआ NH-31, रोक की मांग

Published

on

बलिया: NH-31 बैरिया मांझी मार्ग पर मरम्मत के बाद भी गड्ढे होने पर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ( NHAI) ने DM को पत्र लिखा है और गड्ढे होने का कारण भारी वाहनों के आवागमन को बताया है। साथ ही इन वाहनों पर रोक लगाने की मांग भी की है। बता दें कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण  ने 117 करोड़ के टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर 3 पैकेज में 3 कार्यदायी संस्थाओं को आवंटित करने का काम पूरा कर लिया था।

विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले NH-31 के पुननिर्माण के लिए शिलान्यास हुआ। 3 अलग-अलग एजेंसियों ने काम शुरू किया। और मरम्मत का काम पूरा किया। लेकिन मरम्मत को एक साल भी नहीं हुए की NH-31 बैरिया-मांझी मार्ग स्थित शिवन टोला चट्टी से ठेकहां गांव के मोड़ तक करीब एक किलोमीटर की दूरी में कहीं गिट्टी उखड़ी तो कहीं रोड पर गड्ढे बनना शुरू हो गए। इसके पीछे की वजह भारी वाहनों का आवागमन  है।

भारी वाहनों से क्षतिग्रस्त हुआ NH-31– रोड की क्षतिग्रस्त का कारण भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने भारी वाहनों को बताया है। जिला अधिकारी को लिखे पत्र में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) का कहना है कि बैरिया से माँझीघाट तक भारी और अतिभारित वाहनों का आवागमन होने के साथ ही ठहराव होता है और रात के वक्त ठहरे वाहनों से लगातार जल (बालू जल) का रिसाव होता रहता है जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग क्षतिग्रस्त हो रहा है। ऐसे में NHAI ने भारी वाहनों के आवागमन और ठहराव पर रोक लगाने की मांग की है।

NHAI  अधिकारी के मुताबिक 3 साल तक सड़क की निगरानी कार्यदायी कंपनियों को करनी है। इस बीच जहां भी सड़क खराब होगी, उसकी मरम्मत करनी होगी। सड़क की दोनों ओर की  पटरियों को भी ठीक करना है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!