बलिया की बेटी ने बायो इन्फर्मेटिक्स साइंटिस्ट एग्जाम में देशभर में किया टॉप

0

बलिया जिले की एक बेटी ने बायो इन्फर्मेटिक्स साइंटिस्ट एग्जाम में देशभर में अव्वल स्थान हासिल करके पूर्वांचल का नाम रोशन किया है।

बलिया की रहने वाली डॉक्टर रत्न प्रभा ने राष्ट्रीय स्तर पर कृषि अनुसंधान सेवा (ARS) हेतु वैज्ञानिकों की चयन परीक्षा में पहली बार शामिल किए जैव आसूचना (बायो इन्फर्मेटिक्स) जैसे नवीनतम व कठिन विषय में पूरे देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। डॉ. रत्न प्रभा की इस सफलता से परिवारवालों में खुशी की लहर है।

बलिया की डॉक्टर रत्न प्रभा ने अपनी स्नातकोत्तर शिक्षा वनस्थली विद्यापीठ, राजस्थान से करने के साथ पीएचडी मेवाड़ यूनिवर्सिटी से की है। इस समय वह अपना शुरुआती शोध कार्य पटना के कुशमौर मऊ स्थित शोध संस्थान राष्ट्रीय कृषि उपयोगी सूक्ष्मजीव ब्यूरो में प्रधान वैज्ञानिक डॉक्टर डीपी सिंह के निर्देशन में कर रही हैं।


रत्न प्रभा द्वारा अनुसंधान के क्षेत्र में राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई शोध पत्र व पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं, जो कि कृषक समुदाय के लिए प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से उपयोगी रहा है। रत्न प्रभा को राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई फेलोशिप, अनुदान व पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं।

रत्न प्रभा डीएसटी महिला वैज्ञानिक के रूप में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के कुशमौर मऊ स्थित शोध संस्थान राष्ट्रीय कृषि उपयोगी सूक्ष्मजीव ब्यूरो में कार्यरत थीं, हाल ही में उनका स्थानांतरण भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के पटना स्थित शोध संस्थान में हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here