Connect with us

बलिया

“मेरा पुतला दहन करने वाले लोग सरकार बदलते ही अपने गमछे का रंग बदल लेते हैं”

Published

on

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक राम इकबाल सिंह अक्सर अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले रहते हैं। बलिया में राम इकबाल सिंह लगातार भाजपा सरकार पर सवाल खड़े करते हैं। लेकिन इस बार उनके निशाने पर हिंदू युवा वाहिनी चढ़ गई है। राम इकबाल सिंह ने गत गुरुवार की रात पत्रकारों से बातचीत करते हुए हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं को पिंजड़े का तोता कह दिया।

हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं द्वारा अपना पुतला फूंके जाने पर राम इकबाल सिंह भड़क उठे। उन्होंने कहा कि “हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता पिंजड़े में रहने वाले तोता हैं। जिस मुख्यमंत्री का नाम लेकर मेरा पुतला फूंका गया उनकी मैं भी इज्जत करता हूं। पुतला दहन करने वाले लोग सरकार बदलते ही अपने गमछे का रंग बदल लेते हैं।” उन्होंने वाहिनी को गैर-संवैधानिक और विवेकहीन संगठन का तमगा भी दे दिया।

पत्रकारों के साथ हो रही बातचीत में राम इकबाल सिंह हमेशा की तरह प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर सवाल उठाना नहीं भूले। उन्होंने कहा कि “उत्तर प्रदेश में जब संत महात्मा की सरकार बनी तो मुझे अपेक्षा थी कि अब यहां शराब पर पाबंदी लगेगी। लेकिन इसके बजाए दो हजार से अधिक नए ठेकों के लाइसेंस जारी किए गए। नशे से गरीब तबाह हो रहे हैं।”

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार सूबे में भ्रष्टाचार खत्म करने का दावा करके अपनी पीठ थपथपाती रहती है। लेकिन इस दावों की सारी हवा उन्हीं की पार्टी के नेता और पूर्व विधायक रहे राम इकबाल सिंह ने निकाल दी। उन्होंने कहा कि “आज तहसील और थाने भ्रष्टाचार के अड्डे बने हुए हैं। स्वास्थ्य और शिक्षा व्यवस्था चरमरा गई है। अधिकारी प्रदेश को लूटने का काम कर रहे हैं। इस पर मैं सवाल उठाता हूं तो बहुत लोगों को परेशानी होने लगती है।”

राम इकबाल सिंह ने हिंदू युवा वाहिनी को लेकर कहा कि ये लोग किसानों, गरीबों, नौजवानों की समस्याओं पर कभी पुतला नहीं जलाते हैं। जिनका पुतला फूंकना चाहिए उनकी चरण वंदना करते रहते हैं। गौरतलब है कि राम इकबाल सिंह का यह पुराना सुर रहा है। वो अपनी ही सरकार पर हमलावर रहते हैं। बलिया की राजनीति को समझने वाले कहते हैं कि राम इकबाल सिंह की महत्वाकांक्षा है जो उनको बागी बना रही है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया

बलिया: पेपर पर साइन करने के बहाने थाने बुलाकर सभासद विकास पांडेय भेजे गए जेल?

Published

on

बलिया के कोतवाली पुलिस ने सभासद विकास पांडेय लाला को ईओ दिनेश कुमार विश्वकर्मा के मुंह पर चूना पोतने की कोशिश के मामले में जेल भेज दिया।

बलिया: शनिवार को बलिया से के वार्ड नंबर 16 से सभासद विकास पांडेय लाला को पुलिस ने जेल भेज दिया। आज दोपहर तीन बजे विकास पांडेय को कोतवाली थाने पर बुलाकर पुलिस ने मेडिकल कराया। इसके बाद चालान कर उन्हें आजमगढ़ जेल भेजा दिया गया। पुलिस की यह कार्रवाई सवालों के घेरे में है।

सभासद विकास पांडेय पिछले दिनों बलिया नगरपालिका के ईओ दिनेश विश्वकर्मा के मुंह पर चूना पोतने की कोशिश करने के बाद सुर्खियों में आए थे। इस मामले के बाद ईओ दिनेश विश्वकर्मा की तहरीर के आधार पर पुलिस विकास पांडेय के खिलाफ कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज किया था। घटना के दिन कोतवाली पुलिस विकास पांडेय को अपने साथ थाने ले गई थी। लेकिन उसी दिन रात तक विकास पांडेय को छोड़ दिया गया था।

विकास पांडेय के मित्र और सिविल लाइन से सभासद अमित दूबे ने बलिया खबर से बातचीत में बताया कि “आज दोपहर तीन बजे विकास पांडेय को फोन आया। कोतवाल ने उनसे कहा कि ईओ के मामले में किसी कागज पर आपके हस्ताक्षर लेने हैं। हस्ताक्षर लेने के बहाने विकास को कोतवाली थाना बुलाया गया। थाना पहुंचते ही पुलिस ने उनका मेडिकल कराया और तुरंत चालान कर जेल भेज दिया।”

अमित दूबे ने कहा कि “पुलिस ने धोखे से विकास को जेल भेजा है। बलिया के छात्र नेता इसके खिलाफ मोर्चा खोलने का मन बना चुके हैं। कई सभासद भी विकास पांडेय के समर्थन में धरना देने की योजना बना रहे हैं। रविवार यानी 5 दिसंबर को ददरी मेला में ही एक बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में आगे की रणनीति बनाई जाएगी।”

क्या है पूरा मामला: विकास पांडेय लाला बलिया के वार्ड नंबर सोलह से सभासद हैं। बीते 2 दिसंबर को ददरी मेला के कैंप कार्यालय में सभासद विकास पांडेय और बलिया नगरपालिका के ईओ दिनेश विश्वकर्मा मौजूद थे। विकास पांडेय ने कैंप कार्यालय में ही पुलिस की मौजूदगी में ईओ को गुस्से में माला पहनाकर सम्मानित करना चाहा। इसके बाद विकास पांडेय ने ईओ के मुंह पर चूना पोतने की कोशिश की।

हालांकि वहां बैठे लोगों और पुलिस के बीच-बचाव की वजह से चूना पोतने में विकास पांडेय कामयाब नहीं हो पाए। इस दौरान सभासद ने ईओ स्वच्छ भारत अभियान में करोड़ों रुपए के घोटाले का आरोप लगाया। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। इस घटना के बाद पुलिस विकास पांडेय को कोतवाली थाना लेकर गई।

पुलिस ने उसी दिन रात को विकास पांडेय को छोड़ दिया था। लेकिन आज उसी मामले में पुलिस ने विकास पांडेय को जेल भेज दिया है। जेल भेजने के लिए जिस तरह पुलिस ने विकास पांडेय को कोतवाली बुलाया उसे लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं।

Continue Reading

बलिया

Ballia News- ददरी जिला केशरी बने अभिषेक पांडेय को सपा नेता अनिल राय ने किया सम्मानित

Published

on

बलिया। ऐतिहासिक ददरी मेला के भारतेंदु मंच पर आयोजित जिला केसरी दंगल प्रतियोगिता में ‘जिला केसरी’ का खिताब जीतने वाले अभिषेक पाण्डेय को सपा नेता अनिल राय ने सपा के कदद्वार नेता सनातन पाण्डेय भी मौजूदगी में आयोजित कार्यक्रम में के दौरान सम्मानित किया। इस मौके पर अभिषेक पाण्डेय को सम्मानित करते हुए अनिल राय ने कहा कि “जनपद बलिया के शान बने जिला केसरी श्री पाण्डेय हम सभी बलिया वासियों के लिए गौरव व सम्मान दिया है इसके लिए पूरा जनपद इनका युगों युगों तक ऋणी रहेगा।”

गौरतलब है कि ऐतिहासिक ददरी मेला के भारतेंदु कला मंच पर आयोजित जिला केसरी दंगल प्रतियोगिता हर साल आयोजित की जाती है।  जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए पहलवान ने अपने-अपने दांवपेंच का प्रदर्शन करते हैं। वहीं इस बार 16 जोड़ियों की कुश्ती के बाद जिला केशरी का चुनाव किया गया था। जिसमें जमुआ के अभिषेक पांडेय पहलवान को जिला केशरी का खिताब मिला था। जबकि उपविजेता ताड़ीबड़ागाव के प्रद्युम्न यादव रहे थे।

इस सम्मानित कार्यक्रम में प्रमुख रूप से समाजवादी पार्टी के प्रबुद्ध वर्ग के जिलाध्यक्ष हिमांशु त्रिपाठी,पंकज मिश्रा, ओम प्रकाश पाण्डेय, नमो नारायण सिंह, शिवशरण तिवारी,मृत्युंजय राय साधु, विक्की उपाध्याय, चिन्टु राय, अक्षय वर्मा पानी, अक्षय तिवारी, गौतम सिंह, शक्ति मिश्रा, अखिलेश तिवारी, अर्जुन चौबे, हरेंद्र यादव, पंकज राय, सोनु राय, शैलेश यादव, अरुण राय, निरंजन गुप्ता, मुलायम यादव, मुन्ना यादव आदि लोग उपस्थित रहे। वहीं सबका आभार प्रकट पूर्व ब्लॉक प्रमुख गुड्डू राय ने किया।

 

Continue Reading

featured

बलिया की करिश्मा ने किया करिश्माई प्रदर्शन, बड़ी परीक्षा में हासिल किया पहला स्थान

Published

on

बलिया की करिश्मा खानम ने यूपी राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड के सहायक अभियंता पद के लिए हुए चयन परीक्षा में पहला रैंक हासिल किया है।

उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड की चयन परीक्षा में बलिया जिले की करिश्मा खानम ने सहायक अभियंता के पद को अपना नाम कर लिया है। करिश्मा खानम जिले के दुबहड़ ब्लॉक घोड़हरा गांव की रहने वाली हैं। उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड की चयन परीक्षा में करिश्मा पहले पायदान पर काबिज हैं। करिश्मा की करिश्माई प्रदर्शन ने जिले का नाम प्रदेश भर में ऊंचा कर दिया है।

बलिया की करिश्मा ने अपनी इस सफलता को माता सदरून निशा और पिता डा. इकबाल अहमद को समर्पित किया है। भारत के पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइल मैन ऑफ इंडिया कहे जाने वाले डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को अपनी प्रेरणा मानने वाली करिश्मा ने सहायक अभियंता चयन परीक्षा पहला रैंक लाकर जिले को गौरवान्वित किया है। उनकी इस सफलता पर जिले भर के लोग खुश हैं।

करिश्मा खानम की शुरुआती शिक्षा बलिया में ही हुई। उन्होंने बलिया के नगवा स्थित शहीद मंगल पांडेय इंटर कॉलेज से हाईस्कूल की परीक्षा पास की। 2012 में हाईस्कूल की परीक्षा में करिश्मा ने 85.6 फीसदी अंक हासिल किया था। इसके बाद करिश्म ने बलिया के टाउन पॉलीटेक्निक से डिप्लोमा की डिग्री हासिल की।

करिश्मा पढ़ाई-लिखाई में हमेशा से ही होनहार रही हैं। 2015 में बीटेक में प्रवेश लेने के लिए डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एकेटीयू) की ओर से आयोजित परीक्षा में दूसरा रैंक पर अपनी जगह बनाई थी। 2018 में उन्होंने अपना इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में बीटेक पूरा किया। कानपुर के हार्कोर्ट बटलर टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एचबीटीयू) से 83.5 प्रतिशत अंकों के साथ करिश्मा ने बीटेक की डिग्री हासिल की।

उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड के सहायक अभियंता पद के लिए हुए चयन परीक्षा के पहले करिश्मा खानम ने दिल्ली में कोचिंग किया। उसके बाद स्व अध्ययन यानी सेल्फ स्टडी से ही यह सफलता प्राप्त की है। बता दें कि सहायक अभियंता के कुल ग्यारह पदों के लिए यह चयन परीक्षा आयोजित की गई थी। जिसमें करिश्मा खानम ने पहले स्थान पर ही अपना नाम दर्ज करवा लिया है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!