Connect with us

featured

बलिया मकर संक्रांति महोत्सव- जो एयरपोर्ट बना ही नहीं BJP मंत्री ने वहां पहुंचने का किया दावा, हुई किरकिरी

Published

on

बलिया डेस्क : वैसे तो टाउन हाल बापू भवन में रविवार को आयोजित मकर संक्रांति महोत्सव में गजब का उत्साह दिखा। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की जहां धूम रही। वहीं सांसद, विधायक  सहित अन्य नेताओं का जमावड़ा लगा रहा। लेकिन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संसदीय कार्य, वित्त एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग मंत्री सुरेश कुमार खन्ना,  ग्राम्य विकास एवं समग्र विकास विभाग मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोतीजी का न आना उपस्थित जनसमूह की गले नहीं उतर रहा है।

हालाँकि मंत्री सुरेश कुमार खन्ना की सोशल मीडिया टाइम लाइन कुछ और ही कह रही है। उसके मुताबिक मंत्री खन्ना मकर संक्रांति महोत्सव में पहुचने की बजाए बलिया एयरपोर्ट पहुच गए। वैसे तो बलिया में कोई एयरपोर्ट नहीं है लेकिन मंत्री जी ने ट्वीट किया “बलिया  एयरपोर्ट पर मा.मंत्री श्री मोती सिंह के साथ गुजरात के केवाडिया स्थित #StatusOfUnity को देश के विभिन्न हिस्सों से रेल सम्पर्क से जोड़ने के कार्यक्रम को देखते हुए”- हालाँकि कुछ ही घंटे बाद ये ट्वीट हटा दिया गया।

वहीँ मंत्री के बलिया न आने की वजह पूछने पर आयोजनकर्ता मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल ने बताया कि दोनों मंत्री का एयरक्राफ्ट गाजीपुर में किसी कारणवश उतर नहीं पाया है। लिहाजा दोनों मंत्री नहीं आ पाए। हालाँकि सवाल ये उठता है कि जब मंत्री का एयरक्राफ्ट बलिया या गाजीपुर में नहीं उतरा तो क्या मंत्री खन्ना राजधानी में बैठ ट्वीट कर रहे थे ?

वहीँ जानकारों की माने तो मकर संक्रांति के जरिये मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल अभी से वोटरो को साधने में जुट गए हैं। भले ही महोत्सव कार्यक्रम में कोई राजनीतिक मंच नहीं था, लेकिन प्रदेश के सह संगठन मंत्री भवानी सिंह भाजपा की उपलब्धियां गिनाते नहीं थक रहे थे। उनके मंच पर आते और भाषण शुरू करते ही कुछ पल के लिए मकर संक्रांति महोत्सव मानो चुनाव महोत्सव में बदल गया था।

भवानी सिंह ने कहा कि 80 करोड़ लोगों का जनधन योजना का खाता खोलवाया गया। किसान सम्मान निधि योजना, शौचालय, आवास, गैस कनेक्शन जैसी योजनाओं को धरातल पर लाकर समाज के निचले पायदान पर बैठे व्यक्ति को लाभ पहुंचाया गया।  उधर मुख्य अतिथि के न आना भी लोगों के लिए खासे चर्चा का विषय बना रहा।

मानवीय संवेदना भी हुई तार-तार
कड़कड़ाती ठंड में जहां हर कोई परेशान है। वहीं महोत्सव कार्यक्रम छोटे-छोटे बच्चों को जो लिबास पहनाकर फूल वर्षा या फिर स्वागत गीत के लिए खड़ा किया गया था। उससे मानवीय संवेदनाएं तार-तार हो गई।

featured

बलिया : MP-MLAs की अधिकारियों के साथ बैठक, सिकंदरपुर और बेल्थरा में कोविड अस्पताल खोलने को दिए सुझाव

Published

on

बलिया: खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी ने सांसद रविंद्र कुशवाहा व विधायक गण की मौजूदगी में प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक कर कोविड तैयारियों को और बेहतर बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार सुविधाओं को बेहतर बनाने का लगातार प्रयास कर रही है।

स्थानीय स्तर से उस पर लगातार नजर रखी जाए, ताकि किसी स्तर पर कहीं लापरवाही नही होने पाए। बैठक में मण्डलायुक्त विजय विश्वास पंत व जिलाधिकारी अदिति सिंह भी थीं। वेंटीलेटर के बावत मंत्री के पूछने पर सीएमओ ने बताया कि शुक्रवार से 11वेंटीलेटर चालू हो गए हैं, जबकि जिला अस्प्ताल में आक्सीजन जनरेटर को इंस्टाल करने के लिए इंजीनियर आने वाले हैं। वह भी एकाध दिन में चालू हो जाएगा।

मंत्री संग अन्य जनप्रतिनिधिनियों ने बसंतपुर व फेफना की तरह सिकंदरपुर व बेल्थरारोड में भी एक—एक कोविड अस्पताल खोलने का सुझाव दिया। मंत्री श्री तिवारी ने कहा कि अगर स्टाफ की कमी हो तो आउटसोर्सिग के माध्यम से सीएमओ रख सकते हैं। उन्होंने वैक्सिनेशन की जानकारी ली तो सीएमओ डॉ राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि अब तक कुल 1,41,007 लोगों को वैक्सीन की प्रथम डोज व 39,987 व्यक्तियों को दूसरी डोज लग चुकी है। सैंपलिंग के साथ बसंतपुर व फेफना में संचालित चिकित्सा व्यवस्था के बारे में विस्तार से बताया।

पंजीकरण के तरीकों के प्रति किया जाए जागरूक

मंत्री श्री तिवारी ने वैक्सीनेशन के लक्ष्य में कमी आने का कारण पूछा। बताया गया कि अब कोविड वेबसाईट पर रजिस्ट्रेशन के बाद ही वैक्सीन लग रही है। जानकारी नहीं होने की वजह से लोग रजिस्ट्रेशन नहीं कर पा रहे हैं। इस पर मंत्री ने कहा कि अखबार व लोकल न्यूज के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करने के तरीकों के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए। अगर कोई रजिस्ट्रेशन करें और वैक्सीन की अनुपलब्धता के कारण वैक्सीनेशन नहीं हो पाए तो उनके मोबाइल पर अगली तिथि जरूर मैसेज कर दी जाए, ताकि वे परेशान न हों।

निधि से दिए धनराशि का मांगा व्योरा

मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने कहा कि शासन द्वारा कोरोना काल में 2.5 करोड की धनराशि पंचायती विभाग, 1.8 करोड की धनराशि विकास विभाग तथा चिकित्सा विभाग, 1.8 करोड एनएचआरएम के द्वारा प्रदान की गयी। इन सभी धन का पूरा व्यौरा दिया जाए। जनपद में उपलब्ध 18 वेन्टीलेटर के चालू न होने के कारण को भी लिखित में देने को कहा। जिलाधिकारी अदिति सिंह ने बताया कि शासन या विधायक निधि से जो धनराशि मिली है, उसका शत-प्रतिशत उपयोग किया जा रहा है। सक्षम अधिकारियों द्वारा सत्यापित करके बाउचर के रूप में ही कोई भी धनराशि निर्गत की जा रही है। इसमें किसी भी प्रकार की अनियमितता की गुंजाईश नहीं होगी।

बसंतपुर व फेफना में आक्सीजन प्लांट स्वीकृत, हप्ते दिन में होगा चालू

जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में जो 18 वेन्टीलेटर उपलब्ध हैं, जो कुछ सहायक उपकरण तथा मैनपावर के अभाव के कारण चालू नहीं हो सका है। उन उपकरणों को क्रय कर लिया गया है। बीस कार्मिकों की ट्रेनिंग भी हो चुकी है। बहुत जल्द वेंटीलेटर चालू हो जाएंगे। बताया कि जिला​ अस्पताल में आॅक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए आॅक्सीजन कंसंट्रेटर प्लान्ट पीएम केयर्स फंड से आक्सीजन प्लान्ट स्थापित किया जा रहा है। सीएचसी बसन्तपुर व फेफना में एसडीआरएफ की ओर से 500-500 एलपीएम का आक्सीजन प्लान्ट स्वीकृत हुआ है, जो लगभग एक सप्ताह के अन्दर इन्स्टाल कर चालू करा लिया जायेगा। इससे पाईप लाईन के माध्यम से सभी स्थापित बेडों पर आक्सीजन की उपलब्धता हो जाएगी और अन्य जनपदों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। मंत्री, सांसद व अन्य जनप्रतिनिधियों ने एकस्वर से कहा कि शीघ्र आरटीपीसीआर लैब को चालू किया जाए, ताकि जांच के बाद समय से रिपोर्ट मिल जाए।

आबादी के हिसाब से मिले वैक्सीन

विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि जिले के अन्य जगहों पर वैक्सीन उपलब्ध कराते समय इस बात का ध्यान रखा जाए कि आबादी के हिसाब से उपलब्ध कराई जाए। उसकी सूचना सम्बन्धित विधायक को जरूर दी जाए, ताकि उनके कार्यकर्ता भी लोगों को वैक्सीन लगवाने में मदद कर सकें। विधायक ने जोर देकर कहा कि उच्चाधिकारी भी लगातार निरीक्षण करते रहें। सीएचसी सोनबरसा पर सुधार लाने को कहा।

दस आईसीयू बेड वाला अस्पताल जल्द चालू हो

सिकंदरपुर विधायक संजय यादव ने कहा कि बलिया में 10 आईसीयू बेड वाले अस्पताल स्थापित किए जाने के निर्देश मुख्यमंत्री जी ने पिछले वर्ष ही दिए थे, लेकिन अभी तक चालू नहीं हो सका है। इसके सम्बन्ध में जांच कर जिम्मेदार की जवाबदेही तय हो। विधायक श्री यादव ने कहा कि सभी विधानसभा क्षेत्र में 2-2 आॅक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था हो। राशन वितरण पर सख्ती से नजर रखी जाए, ताकि हर जरूरतमंद तक यह पारदर्शी तरीके से पहुंच जाए। बेल्थरारोड में दर्जन भर कोटेदारों की शिकायत मिली है, जिनकी जांच कर कार्यवाही हो।

नियमित रूप से हो रही सैंपलिंग व मरीजों की देखभाल: जिलाधिकारी

बैठक में सैंपलिंग की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी अदिति सिंह ने बताया कि लक्ष्य के सापेक्ष सैम्पलिंग नियमित रूप से करायी जा रही है। इसके लिए कुल 42 टीमें लगी है। जनपद में कुल 290 रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) का गठन किया गया है, जो होम आइसोलेशन मरीजों की देखभाल में लगी हैं। वहीं 2830 टीम सर्विलांस कार्य में हैं। आक्सीजन की आपूर्ति के लिए बी टाइप वाले 174 सिलेंडर (जिला चिकित्सालय बलिया में 82 व कोविड चिकित्सालय में 92), डी टाईप वाले 71 (जिला चिकित्सालय 58 में कोविड चिकित्सालय 15) सिलेण्डर उपलब्ध हैं। कुल 77 आॅक्सीजन कन्सेन्ट्रेटर हैं, जिसमें जिला चिकित्सालय में 24 व कोविड चिकित्सालय में 53 उपलब्ध है। बैठक में सीडीओ प्रवीण वर्मा, एडीएम रामआसरे, सिटी मजिस्ट्रेट नागेंद्र सिंह, डीपीआरओ अजय श्रीवास्तव आदि मौजूद थे।

लक्ष्य से कम खरीददारी पर जताई नाराजगी

कलेक्ट्रेट सभागार में गुरूवार को आयोजित बैठक में खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी ने गेहूं खरीद की समीक्षा की। कहा कि लक्ष्य के काफी कम खरीददारी हो रही है। तीन दिन पहले चितबड़ागांव स्थिति क्रय केंद्रों के निरीक्षण में ऐसा देखने को मिला है। काश्तकार परेशान हो रहे हैं। इस समस्या को भी प्राथमिकता करते हुए व्यवस्था को ठीक कराया जाए। तभी 15 जून तक शासन के लक्ष्य को प्राप्त कर सकेंगे। सांसद रविंद्र कुशवाहा ने कहा कि बधौली में गेहूॅ क्रय केन्द्र खोलवाने को कहा।

Continue Reading

featured

बलिया- सीयर सीएचसी को चेयरमैन दिनेश गुप्त ने डोनेट किया ऑक्सीजन कनसेन्ट्रेटर

Published

on

बिल्थरारोड: कोरोना संक्रमण से पीड़ित लोगों की मदद के लिए नगर चेयरमैन दिनेश कुमार गुप्त ने अपनी दरियादिली दिखाया है।

चेयरमैन गुप्त ने अपने निजी खर्चे से कोरोना संक्रमित मरीजो को ऑक्सीजन की कमी से निजात पाने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सीयर को गुरुवार को ऑक्सीजन कनसेन्ट्रेटर उपलब्ध कराया।इस मौके पर चेयरमैन ने कहा कि हम नगरवासियो व क्षेत्र वासियों के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं।

इस कोरोना संक्रमण काल में संक्रमित मरीजों के लिए अपने निजी धन से आक्सीजन कनसेन्ट्रेटर का व्यवस्था करवाई है । कहा कि 10 आक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कर रहे है जिसे शीघ्र ही सीएचसी सीयर को सुपुर्द कर दिया जायेगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि सीएचसी सीयर में अन्य जो भी कमिया है, उसे शीघ्र दूर करने के लिए प्रयासरत हैं।

चेयरमैन दिनेश कुमार गुप्त ने कहा कि उनके नगर व क्षेत्र में जो भी करोना का मरीज होगा उसको यथासंभव मदद करके इलाज करवा कर कोरोना से जंग जीती जाएगी। उन्होंने लोगो से आग्रह किया कि अपनी जिम्मेदारी से आप लोग कोरोना जांच करवाइए और कोरोना का वैक्सीन लीजिए।

घर में सुरक्षित रहिए, मास्क का प्रयोग करे, घर में रहेंगे तभी आप जीतेंगे और कोरोना हारेगा। उन्होंने कहा कि जनता के बदौलत ही वह नगर पंचायत का चेयरमैन बने है, इसलिए फर्ज बनता है कि जनता के दुख में खड़ा रहूं। इस मौके पर सीएचसी अधिक्षक डॉ तनवीर आजम, आलोक कुमार गुप्ता,राम मनोहर गांधी, अमित जयसवाल ,सतीश राव अंजय,पंकज मोदी, ऊपेंद्र कुमार मिन्टू, सुनील साहनी,लव कुश आदि मौजूद रहे।

Continue Reading

featured

बलिया- विधायक उमाशंकर ने 40 आक्सीजन सिलेंडर प्रशासन को दिया

Published

on

बलिया। जिले में जब-जब कोई आपदा आई हो चाहे बाढ़ हो या कटान या फिर अग्रिकांड तब तब रसड़ा के विधायक उमाशंकर सिंह गरीबों के लिए मसीहा के रूप में खड़े रहते हैं। इस कोरोना काल में आक्सीजन के अभाव में कइयों ने दम तोड़ दिया और विधायक उमाशंकर सिंह को नहीं रहा गया। उन्होंने तत्काल फैसला लिया और ४० सिलेंडर प्रशासन के हवाले किया। जसमें जिला अस्पताल, रसड़ा, चिलकहर क्षेत्र के अस्पताल शामिल है।

ज्ञात हो कि बलिया लगातार कोरोना का कहर झेल रहा है। कहने को जिले में दो मंत्री को छोड़ दिया जाए तो पांच विधायक है, लेकिन अभी तक सिर्फ एक ही विधायक उमाशंकर सिंह ने ऐसा काम किया है। बुधवार को विधायक अपनी पूरी टीम के साथ सिलेंडर लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। यहां पहले से मौजूद सीडीओ . प्रवीण वर्मा, सीएमओ डा. राजेंद्र प्रसाद व सीएमएस डा. बीपी सिंह, डा. मिथिलेश सिंह को ऑक्सीजन सिलेंडर भेंट किया।

इस कार्य को लेकर विधायक को जिला प्रशासन की तरफ से बधाई भी मिली है। बलिया की जनता ने भी क्षेत्रीय विधायक को बधाई दी है। विधायक उमाशंकर सिंह ने कहा कि जीवन बचाना हम लोगों का दायित्व बनता है।

हमारा प्रयास होता है कि जनजीवन सुरक्षित रहे व पूरी तरह से स्वस्थ्य रहे। इसके लिए हमें ही नहीं बल्कि सभी को आगे आना होगा। तभी जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था बेहतर हो सकती है।

Continue Reading

TRENDING STORIES