अपनी सरकार में विधायक सुरेंद्र सिंह को मिली राहत, 2007 के दो बड़े मामलों में हुए बरी

0

बलिया के विधायक सुरेंद्र सिंह अक्सर किसी न किसी बात को लेकर चर्चा में रहते ही हैं. आम तौर पर उन्हें पार्टी के बयानवीर नेताओं में शुमार किया जाता है और वह देश के तमाम मुद्दों पर बयान देते रहते हैं जोकि पूरी तरह से पार्टी के एजेंडे के मुताबिक़ ही होता है. हालाँकि कई बार वह अपने बयान से अपनी ही भारतीय जनता पार्टी की फजीहत करा बैठते हैं.

लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि पार्टी को उन्हें भरपूर सहयोग मिलता रहता है और अब चूँकि सूबे में उनकी अपनी ही सरकार है तो इसके फायदा भी उन्हें खूब मिल रहा है.
दरअसल नई खबर यह है कि अब विधायक सुरेंद्र सिंह दो पुराने मुकदमों में बरी हो गए हैं. उन पर चल रहा मामला उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने वापस ले लिया है.

उत्तर प्रदेश की सरकार ने उन पर चल रहे इन मामलों को वापस लेने की अर्जी डाली थी जिसे स्पेशल कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है और इस तरह कोर्ट की मंज़ूरी मिलने के बाद विधायक सुरेंद्र सिंह के ऊपर चल रहे मुक़दमे वापस ले लिए गए हैं. आपको बता दें कि उन विधायक पर चले मुकदमों के वापस लेने की अर्जी पर सुनवाई के बाद स्पेशल जज डॉ बालमुकुंद कर रहे थे

और उन्होंने मुकदमा ख़त्म करने की मंज़ूरी सरकार को दे दी. हालाँकि इस दौरान अदालत ने वीरेंद्र कुमार सिंह और राजेश गुप्ता के तर्कों को भी सुना जिसके बाद अपना फुसला सुनाया.
बलिया के रामसेवक नाम के शक्स ने 2007 में एक मुकदमा दर्ज कराया था

कि मतदान वाले दिन उनके साथ गा’ली ग’लौज और मा’र पी’ट की गयी. वहीँ बेरिया थाने में सुरेंद्र सिंह के खि’लाफ जा’न से मा’रने की धम’की देने और अप’मा’नित करने के साथ साथ गा’ली देने के मामला दर्ज कराया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here