Connect with us

शिक्षा

बलिया- राजीव गांधी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण समारोह आज

Published

on

बलिया डेस्क : उप्र कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर जिला कांग्रेस कमेटी •ावन पर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता द्वितीय का परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन 18 अक्टूबर को सतीश चन्द्र कालेज में पूर्वाह्न 11.30 बजे किया गया है।

इसमें चयनित छात्र-छात्राओं को उपस्थित होने की सूचना मोबाइल के माध्यम से दे दी गई है।
उक्त बातें कांग्रेस के जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश पाण्डेय ने शनिवार को पत्रकार वार्ता में व्यक्त किया। श्री पाण्डेय ने चयनित छात्र-छात्राओं से अपील किया कि कार्यक्रम में मास्क लगाकर कोविड-19 का पालन करते हुए अपना-अपना आधार कार्ड लेकर आयें।

प्रथम पुरस्कार लैपटाप, द्वितीय मोबाइल एवं तृतीय पुरस्कार टैबलेट दिया जायेगा। इस अवसर पर अबरार •ााई, कमालुद्दीन, धनंजय यादव, ओमप्रकाश सिंह, फूलबदन तिवारी, सुनील सिंह, सिद्धार्थ राय, रवि प्रकाश दीक्षित आदि मौजूद रहे।

विज्ञापन

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

बलिया स्पेशल

UPSSSC : 10 लाख आवेदकों को मिली बड़ी राहत, PET के आवेदकों के लिए तारीख आगे बढाई गई

Published

on

बलिया। यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) के द्वारा पहली बार आयोजित की जाने वाली प्रारंभिक अर्हताए परीक्षा (PET) 2021 के लिए आज आवेदन का आखिरी दिन है। लेकिन आयोग की वेबसाइट upsssc.gov.in में तकनीकी समस्या के चलते अभ्यर्थी परेशान हो रहे हैं। अभियर्थियों में रोष देखने को मिल रहा हैं। बलिया में आज दिन बच्चों को साइबर कैफे में भागते और वेबसाइट के चलने का इंतज़ार करते देखा गया। UPSSSC वेबसाइट ओपन नहीं हो ओपन हो रही है तो अप्लीकेशन पेज और अप्लीकेशन का स्टेटस पेज ओपन नहीं हो पा रहा है।

हालंकि (PET) 2021 के आवेदकों के लिए अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर फीस जमा करने की आखिरी तारीख आगे बढ़ा दी है। यूपीएसएसएससी पीईटी 2021 के लिए आवेदन की कोशिश कर रहे अभ्यर्थी आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाने की मांग कर रहे थे। वहीँ आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाने की मांग को लेकर अभ्यर्थी सोशल मीडिया पर कैंपेन भी चलाया था। बता दें यूपीएससएसएससी की वेबसाइट पर पिछले तीन दिन से तकनीकी समस्या देखने को सामने आ रही है। कई अभ्यर्थियों ने 20 जून को भी सोशल मीडिया पर इसके बारे में लिखा था।

अभ्यर्थियों ने लिखा था कि आवेदन की अंतिम तिथि 21 जून है लेकिन अब 25 जून, 2021 तक यूपीएसएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट upsssc.gov.in पर आवेदन शुल्क का भुगतान कर सकते हैं। वहीं, जिन आवेदकों के आवेदन पत्र में गलती  रह गई है, वे 28 जून, 2021 तक अपने आवेदन फॉर्म में संशोधन कर सकते हैं। इसके बाद कोई भी बदलाव स्वीकार्य नहीं होगा।

इस एग्जाम के लिए 10वीं, 12वीं, ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट पास युवा आवेदन कर सकते हैं जिन्होंने एक जुलाई 2021 को न्यूनतम आयु 18 वर्ष पूरी कर ली हो और अधिकतम आयु 40 वर्ष से अधिक ना हो। हालांकि, आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को नियमानुसार छूट दी जाएगी।

 

Continue Reading

featured

आरटीई के तहत बलिया में 432 बच्चों का हुआ चयन, मुफ्त पढ़ाई का मिला अवसर

Published

on

बलिया। आरटीई (राइट टू एजुकेशन) के तहत 432 बच्चों का चयन हुआ। अब ये बच्चे जनपद के अंग्रेजी मीडिएम स्कूलों में कक्षा आठ तक नि:शुल्क शिक्षा प्राप्त करेंगे। इसके अलावा उन्हें पांच हजार रूपए सलाना शासन की ओर से प्राप्त होगा। ज्ञात हो कि लाटरी में कुल 1232 आवेदन आए थे। जिसमें सत्यापन के दौरान 67 आवदेनों में गलती पाए जाने के कारण रद्द कर दिया गया।

शेष 1165 आवेदनों की लॉटरी प्राप्त की गई। जिसमें 432 बच्चों का चयन हुआ। जबकि शेष बचे 733 बच्चों को सरकार की ढूलमूल नीति के कारण इस योजना से वंचित होना पड़ा। वरिष्ठ अधिवक्ता तथा आरटीआई कार्यकर्ता मनोज राय हंस जनपद में लंबे समय से आरटीई को लेकर आंदोलनरत है। इन्हीं के आंदोलन की देन से आज हजारों बच्चे सरकार की इस योजना का लाभ उठा रहे हैं।

लेकिन बुधवार को पत्रकारों से रू-बरू होते हुए उन्होंने बताया कि 432 बच्चों के चयन से मैं खुश हूं तो शेष बचे 733 बच्चों का चयन न होना मेरे लिए पीडि़ादायक है। कहा कि जनपद में ऐसे बहुतसे गांव है जहां एक भी अंग्रेजी माध्यम के स्कूल नहीं है। ऐसे में उस गांव के बच्चे कहां जाएंगे लेकिन सरकार के कानों में मेरी बार-बार मांग के बावजूद जूं नहीं रेंग रहा है।

क्या है आरटीई (RTE) ? भारत के संविधान (86वां संशोधन, 2002) में आर्टिकल-21ए को सम्मिलित किया गया है। इसके अंतर्गत 6 से 14 साल के सभी बच्चों को उनके नजदीक के सरकारी स्कूल में नि:शुल्‍क और अनिवार्य शिक्षा देने का प्रावधान है।

यहां नि:शुल्‍क शिक्षा का तात्पर्य है कि बच्चों के अभिभावकों से स्कूल की फीस, बच्चे के यूनिफार्म और पुस्तकों के लिए कोई पैसे नहीं लिए जाते हैं। वहीं, इस अधिनियम के तहत निजी स्कूलों में 25 प्रतिशत बच्चों का नामांकन बिना किसी शुल्क के किया जाता है।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

खुशखबरी : चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के विकास के लिए 92.39 करोड़ रुपये पास

Published

on

बलिया के छात्रों को खुश करने वाली खबर है। उत्तर प्रदेश सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के नाम पर बने जननायक चंद्रशेखर वविश्वविद्यालय के विकास के लिए 92.39 करोड़ रुपये पास किया है। इन पैसों से विश्वविद्यालय में नए भवन और अन्य महत्वपूर्ण सुविधाओं का निर्माण किया जाएगा। यह पूरा काम लोक निर्माण विभाग को करवाना है। वहीं इस काम के लिए सरकार से स्वीकृति पत्र सबंधित विभाग को भेज दिया गया है।

विश्वविद्यालय बसंतपुर शहीद स्मारक परिसर में 22 दिसम्बर 2016 को स्थापित किया गया था। जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय से कुल 128 महाविद्यालय संबंधित हैं। जिसमें एक राजकीय महाविद्यालय, 10 एडेड महाविद्यालय और 117 वित्त विहीन महाविद्यालय संबंधित हैं। गौरतलब है कि इन महाविद्यालयों में करीब 80 हजार विद्यार्थी पढ़ाई करते हैं। वहीं तीन माह पहले विश्वविद्यालय के दूसरे परिसर बनाने की खूब चर्चा थी, रसड़ा-मऊ के मुख्य मार्ग पर बनाना था।

यह जमीन कताई मिल की 40 एकड़ इलाके में है। इससे यह फायदा होगा कि नया परिसर बनने से विश्वविद्यालय का दायरा बाद हो जाएगा। इससे बलिया के साथ-साथ मऊ और गाजीपुर के महाविद्यालय भी संबंध हो जाते। छात्र-छात्राएं जो दूर दराज से आते हैं वो अपने आस पास के महाविद्यालय में पढ़ पाते। लेकिन बसंतपुर और बलिया के लोगों ने जमकर हंगामा किया। बता दें कि सभी निर्माण कार्य विश्वविद्यालय परिसर में ही करवाए जाएंगे।

Continue Reading

TRENDING STORIES