Connect with us

बलिया स्पेशल

बलिया में आत्मनिर्भर बनने की ओर किन्नर समाज, हुई इस नई पहल की शुरुआत

Published

on

बलिया डेस्क : बलिया जिलाधिकारी एसपी शाही ने किन्नर समाज के लोगों के साथ बैठक की। समाज की मुख्यधारा से उनको जोड़ा जा सके, इसी उद्देश्य से यह बैठक हुई। जिले के विभिन्न क्षेत्र से आए किन्नरों ने अपने बहुमूल्य सुझाव दिए, जिस पर चर्चा हुई और पहल करने का भरोसा दिलाया गया।

डीएम श्री शाही ने कहा, इसमें कोई संदेह नहीं कि किन्नर समाज की तमाम दिक्कतें हैं। इसलिए हमारा प्रयास है कि पहले किन्नर समुदाय की दिक्कतों को नजदीक से जाना जाए और उसको दूर करने का हरसम्भव प्रयास किया जाए। फिलहाल शिक्षा व कौशल विकास पर पहल कर इसकी शुरुआत की जा रही है। हम भी चाहते हैं कि आप सब समाज की मुख्यधारा से जुड़े।

उन्होंने आगे कहा, नौजवान किन्नर में अगर किसी विशेष क्षेत्र में कुशलता है तो उस क्षेत्र में भी ट्रेंड करने के लिए व्यवस्था की जाएगी। सरकार की योजनाओं से हर पात्र को जोड़ा जाएगा। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि मतदाता सूची में हर किसी का नाम होना जरूरी है। अगर किसी का नहीं है तो वह अपने बीएलओ से सम्पर्क कर जोड़वा लें। वहां बनी कमेटी को भी यह जिम्मेदारी सौंपी।

जीवनशैली बेहतर बनाने के लिए हम सब प्रतिबद्ध

सीडीओ विपिन जैन ने कहा कि किन्नर समाज की जीवन शैली को बेहतर बनाने के लिए हम सब प्रतिबद्ध हैं। इसके लिए सबसे पहले शिक्षा व कौशल विकास पर ध्यान देना होगा। इसके लिए तीन स्टेप जरूरी हैं। पहला, समुदाय की संख्या कमेटी तय कर ले। दूसरा, किन्नर समाज के बच्चों के लिए शिक्षा का वातावरण तैयार कर उन्हें शिक्षित करना है। इसके लिए बीएसए व आईटीआई के प्रधानाचार्य को गम्भीरता से पहल करने को कहा गया है। तीसरा, ट्रेनिंग दिलवाने के बाद समाज में कैसे स्थापित करें, उस पर बल दिया जाएगा।

स्वयं सहायता के जरिए कौशल का होगा सदुपयोग

सीडीओ जैन ने कहा कि अपनी कमाई में आप बचत जरूर करते हैं। ऐसे में स्वयं सहायता समूह से आपको जोड़ कर आपके कौशल का सदुपयोग किया जा सकेगा। उससे आपकी कमाई भी होगी और आपका नाम भी हर घर में होगा। आपका सिला हुआ कपड़ा स्कूली बच्चे पहनेंगे, आपका बनाया मसाला घरों में प्रयोग होगा। आपका जीवन अच्छे से चले, इसके लिए हम भी इच्छुक हैं। सीडीओ ने कहा कि अगला शहरी कैम्प यहीं लगेगा। मेडिकल चेकअप से लेकर योजनाओं से सम्बंधित पात्रता मिलने पर हर योजनाओं का लाभ दिलाने का भी प्रयास होगा।

जिलाध्यक्ष माधुरी किन्नर ने डीएम-सीडीओ के प्रति जताया आभार, मांग पत्र सौंपा

किन्नर समाज की जिलाध्यक्ष माधुरी पांडेय ने डीएम-सीडीओ का आभार जताते हुए कहा कि समाज के हम लोगों की इज्जत और प्रतिष्ठा बढ़ाने की पहल की गई। ऐसा पहली बार हो रहा है। इसके लिए पूरा किन्नर समाज आप लोगों का आभारी रहेगा। हम लोग सामने तमाम विकट परिस्थिति आती है, ऐसे में हम लोगों की सुविधाओं जैसे किन्नर शौचालय, पढ़ाई, चिकित्सा व अन्य जरूरी सुविधाओं का ख्याल रखा जाए। हम लोगों के कार्यक्रम के लिए कोई सार्वजनिक धर्मशाला या किन्नर भवन की व्यवस्था हो, ताकि किन्नर समाज का कोई कार्यक्रम हो जाए। जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए किन्नरों ने भी अपनी बात रखी।

पढ़े-लिखे किन्नर को सरकारी सेवाओं में मिले मौका

बैठक में किन्नर अनुष्का चौबे ने कहा कि पढ़े-लिखे किन्नरों को सरकारी सेवा में जाने का मौका मिले। ऐसे ही धीरे-धीरे हम लोगों का विकास होगा। यह भी कहा कि सरकार के विभिन्न अभियान जैसे गंगा स्वच्छता, स्वच्छ भारत मिशन आदि में भी हम सब अपना योगदान देना चाहते हैं। बशर्ते मौका दिया जाए। जिलाधिकारी ने पढ़ाई लिखाई से जुड़ी जानकारी ली तो पाया कि उनमें स्नातक की डिग्री एक के पास, जबकि चार-पांच इंटरमीडिएट व करीब 10-12 हाईस्कूल पास थे। इस पर खुशी जताते हुए कहा कि निश्चित रूप से हर सकारात्मक कार्य में आवश्यकतानुसार आप लोगों का सहयोग लिया जाएगा।

कैम्प में हुई एचआईवी की जांच

इस अवसर पर एचआईबी की जांच कैंप का शुभारंभ किया गया। डीएम-सीडीओ व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में किन्नर समाज के जिलाध्यक्ष माधुरी पांडे ने फीता काटकर शुभारंभ किया। कैंप में मौजूद सभी किन्नरों का टेस्ट किया गया। साथ ही इस से बचाव से जुड़े विषय पर चर्चा भी की गई। बीएसए शिवनारायण सिंह, डीएसओ केजी पांडेय, नपा ईओ दिनेश विश्वकर्मा व अन्य अधिकारी थे।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

बलिया के सुखपुरा में तैनात लेखा सहायक हुए गायब, अपहरण की आशंका !

Published

on

बलिया। बलिया के सुखपुरा में तैनात पराग डेयरी के लेखा सहायक ज्ञानदेव मिश्रा बुधवार को बैंक जाते समय अचानक लापता हो गए। बलिया पुलिस उनके लापता होने के पोस्टर भी जारी किये हैं और छानबीन कर रही है। गायब होने की खबर मिलते ही बलिया पहुंचे परिजन उनके अगवा होने की आशंका जता रहे हैं। उधर यह खबर जैसे ही आजमगढ़ दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लि. के अधिकारियों को हुई चारो तरफ अफरा-तफरी मची हुई है। विभाग में हड़कंप मच गया और अधिकारी उनका पता लगाने में जुट गए है।

जानकारी के मुताबिक बुधवार को पूर्वांह्न दस बजे लेखा सहायक ज्ञानदेव मिश्र डेरी के किसी काम से जिला मुख्यालय स्थित यूनियन बैंक की मुख्य शाखा में किसी काम से जा रहे थे। अचानक रास्ते से गायब हो गए। देर रात तक वह न तो पराग डेरी के कार्यालय पहुंचे और न ही अपने आवास। श्री मिश्र मूलत: कानपुर के रहने वाले हैं। उनके गायब होने की खबर डेयरी के अधिकारियों ने जब घर वालों को दी, तो कानपुर से उनकी पत्नी व बेटे गुरुवार को सीधे बलिया पहुंच गए। परिजनों ने अपहरण की आशंका जताई है।

हालांकि पराग डेरी के अधिकारियों ने तहरीर में उनके लापता होने की बात कही गई है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। उधर घटना की सूचना पुलिस कप्तान बलिया, क्षेत्राधिकारी नगर तथा थानाध्यक्ष सुखपुरा को दी है। मजे की बात यह है कि गायब लेखा सहायक ज्ञानदेव मिश्र का मोबाइल नंबर भी बंद बता रहा है। इससे तरह-तरह की आशंका जताई जा रही है।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

बलिया- 10 साल की मासूम को मिला इंसाफ, दुष्कर्मी को कोर्ट ने सुनाई उम्र कैद की सजा

Published

on

बलिया। एक साल बाद आखिरकार मासूम को इंसाफ मिल ही गया। करीब 10 साल की मासूम से दुष्कर्म के आरोपी को कोर्ट ने दोषी करार दिया। और दुष्कर्मी को उम्र कैद की सजा सुनाई है। न्यायालय ने 20 हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया है। एक साल पहले आरोपी ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया था। जिसे अब सजा सुनाई गई। दरअसल एक महिला ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया कि 4 अप्रैल 2020 को उसकी 10 साल की बेटी दुकान पर मोबाइल रिचार्ज कराने गई थी।

इसी बीच पहुंचा प्रेमसागर मोदनवाल ने बच्ची को कमरे में ले जाकर दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म और पाक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। मामले की सुनवाई करते हुए विशेष न्यायधीश (पाक्सो एक्ट) शिव कुमार द्वितीय ने आरोपित को आजीवन कारावास व अर्थदंड की सजा सुनाया।
महिलाओं/बालिकाओं संबन्धी आपराधों में अभियान के तहत प्रभावी पैरवी के चलते मा. न्यायालय ने दुष्कर्म के अपराध में अभियुक्त को आजीवन कारावास और 20 हजार रूपये के अर्थ दण्ड से दण्डित किया।

गौरतलब है कि जनपद पुलिस द्वारा उच्च अधिकारियों के निर्देशानुसार पुलिसकर्मियों के साक्ष्य शीघ्र न्यायालय में निस्तारण कराने पर बल दिया जा रहा है जिसके चलते नतीजे सामने आ रहे हैं। दुष्कर्मी को सजा होने से लोगों के मन में कानून के प्रति विश्वास बढ़ रहा है। वहीं मासूम को भी न्याय मिल गया। लगातार को इंसाफ दिलाने के लिए आवाज उठाई जा रही थी। घटना के बाद से क्षेत्र में तनाव का माहौल था। अब दुष्कर्मी को इंसाफ मिलने से लोग भी कानून पर विश्वास कर रहे हैं।

Continue Reading

बलिया स्पेशल

बलिया- विवाहिता की संदिग्ध मौत, दहेज हत्या का मामला दर्ज

Published

on

बलिया। बांसडीहोड थाना क्षेत्र में विवाहिता की मौत का सनसनी खेज मामला सामने आया है। जहां फंदे पर विवाहिता का शव मिला है। और ससूराल पक्ष पर दहेज को लेकर हत्या करने का आरोप लगा है। फिलहाल पुलिस ने शव को फंदे से उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। और मामले की जांच शुरू कर दी है। मामला छोटकी सराक गांव के राजभर बस्ती का है, जहां घर के कमरे में पंखे के लिए लगे हुक में विवाहिता का शव लटका मिला। बताया जा रहा है कि छोटकी सराक गांव निवासी राजमुनि देवी (21) पत्नी जयप्रकाश राजभर बुधवार को घर में अकेले थी।

घर के परिजन खेतों में काम करने गए थे। शाम में लोग घर लौटे तो विवाहिता के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। आवाज लगाने पर अंदर से कुछ आहट नहीं मिलने पर खिड़की से देखा तो महिला पंखे के हुक में लटकती हुई मिली।
घटना की जानकारी के बाद गांव में सनसनी फैल गई। मौके पर काफी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को हुक से उतारा और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। उधर, देर रात घटना की सूचना पाकर थाने पहुंचे मृतका के पिता अमर राजभर ने बेटी की हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी।

थानाध्यक्ष सुनील लांबा ने बताया कि मृतका के पिता की शिकायत पर पुलिस ने सास और ससुर के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। साथ ही पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है। सभी के बयान लिए जा रहे हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर पुलिस की जांच में और तेजी आ जाएगी। और जल्द ही मामले का खुलासा कर दिया जाएगा।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!