Connect with us

बेल्थरा रोड

Ballia- बिजली चोरी को लेकर BDC के यहां विजिलेंस की छापेमारी, राजनीतिक दबाव में कार्रवाई का आरोप

Published

on

बेल्थरा (बलिया): बलिया के उभांव थाना अंतर्गत उभांव गांव में उस वक़्त हंगामा खड़ा हो गया जब, बीडीसी के घर छापामारी के लिए अचानक विद्युत विजलेंस की टीम पहुंच गई। सोमवार को चेकिंग करके वापस लौट रहेे विजलेंस अधिकारियों की गाड़ी को स्थानीय लोगों ने उभांव मोड़ पर रोक लिया और जबरन घर में घुसने और राजनीतिक दबाव में परेशान करने का आरोप लगाकर अधिकारियों की जमकर फजीहत कर दी। लोगों की बढ़ती नाराजगी को देखते हुए अधिकारियों के होश उड़ गए।

करीब 20 मिनट तक हुए हंगामे के बाद किसी तरह विद्युत विजलेंस अधिकारियों ने उभांव पुलिस से मदद मांगी। जिसके बाद उभांव पुलिस मौके पर पहुंची और विजलेंस अधिकारियों के अधिकार को लेकर समझाने के बाद लोगों का गुस्सा कुछ हद तक शांत हुआ। गौरतलब है कि, इन दिनों सूबे में ब्लॉक प्रमुख के चुनाव को लेकर राजनीति चरम पर है।इसीलिए इन दिनों सीयर ब्लाक में प्रमुख के चुनाव को लेकर सियासी पारा भी गर्म है। इस बीच विद्युत विजलेंस टीम ने उभांव और मुजौना गांव में दो स्थानों पर छापामारी की।

जिन दो लोगों के यहां छापेमारी की गई वो दोनों एक ही प्रमुख पद के भावी प्रत्याशी के प्रबल समर्थक हैं। तत्पश्चात विजलेंस टीम पर प्रमुख पद के एक भावी प्रत्याशी के समर्थकों को जानबूझकर परेशान करने का आरोप लगा दिया। विद्युत विजलेंस की टीम बेल्थरा रोड के मुजौना गांव में एक कालेज पर छापामारी के बाद उभांव गांव पहुंची थी।उभांव गांव के निर्वाचित बीडीसी का गांव में ही आरओ प्लांट चलता है। जहां विद्युत विजलेंस की टीम जांच करने लगी। जिसका पहले तो लोगों ने विरोध किया।

बाद में बीडीसी ने अधिकारियों को अपने कमर्शियल विद्युत कनेक्शन का रसीद दिखाया। इसके बावजूद अधिकारियों ने चोरी से बिजली जलाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की बात कहीे। जिससे नाराज बीडीसी ने आरोप लगाया कि विजलेंस अधिकारी राजनीतिक दबाव में उन्हें परेशान करने की नियत से उनके यहां कार्रवाई की धमकी दे रहे हैं।विद्युत विजलेंस टीम लोगों को चोरी से बिजली जलाने के चेकिंग का मामला बताती रही। जबकि बीडीसी और उनके समर्थक विजलेंस टीम पर प्रमुखी के चुनाव के कारण किसी एक पक्ष को लाभ देने के नियत से अनावश्यक परेशान करने का

आरोप लगा रहे हैं। इस बीच सूचना मिलते ही उभांव थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची और लोगों को समझा बुझाकर वापस लौटा दिया। विद्युत विजलेंस दरोगा रामनगीना यादव ने छापामारी के दौरान बीडीसी द्वारा राजनीतिक दबाव में कार्रवाई के आरोप को गलत और निराधार बताते हुए कहा कि बेल्थरा के चार स्थानों पर विद्युत चोरी की सूचना पर छापामारी की गई थी।

इस दौरान मुजौना के एक कालेज पर, उभांव गांव के बीडीसी के आरओ प्लांट और एक मुर्गी फार्म पर चोरी से बिजली जलाने का मामला पाया गया है। जिनके खिलाफ विद्युत विजलेंस जेई ब्रजेश कुमार के तहरीर पर बलिया विद्युत थाना में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

Continue Reading
Advertisement />
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

बलिया: सहयोग राशि देने में वादा खिलाफी के आरोप पर क्या बोले विधायक धनंजय कन्नौजिया?

Published

on

बलिया के बेल्थरारोड विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक धनंजय कन्नौजिया पर एक राम कथा कार्यक्रम में मंच से 11 हजार रुपए का वादा करके सिर्फ 1 हजार देने का आरोप लगा है। राम कथा कार्यक्रम के आयोजकों ने विधायक धनंजय कन्नौजिया से नाराज होकर उन्हें 1 हजार रुपया लौटा दिया। साथ ही उन्हें दिया गया स्मृति चिन्ह भी वापस ले लिया। इस पूरे बखेड़े पर भाजपा विधायक ने चुप्पी तोड़ी है।

मंच से 11 हजार देने का वादा करके 1 हजार रुपए देने के आरोप पर विधायक धनंजय कन्नौजिया ने कहा है कि “मैंने ऐसी कोई घोषणा नहीं की थी। मंच से 11 रुपए देने की बात अफवाह है। लोग बेवजह मेरी छवि खराब करने के लिए इस तरह की अफवाह फैला रहे हैं। मैं कभी भी धार्मिक कार्यक्रमों में सहयोग राशि देने की घोषणा नहीं करता हूं।”

पूरा बखेड़ा समझिए: बलिया के बेल्थरारोड में पूरा और पतोई गांव द्वारा हर साल नवरात्र के समय राम कथा कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। गांव के ही एक दुर्गा मंदिर पर इस साल भी यह आयोजन किया गया था। राम कथा कार्यक्रम में बेल्थरारोड से भाजपा विधायक धनंजय कन्नौजिया को बतौर अतिथि बुलाया गया था। आयोजकों का कहना है कि कार्यक्रम स्थल पर मंच से धनंजय कन्नौजिया ने ग्यरह हजार की सहयोग राशि देने की घोषणा की। लेकिन बाद में पलट गए और सिर्फ एक हजार रुपया ही दिया। दिलचस्प बात यह है कि राम कथा कार्यक्रम का आयोजक खुद भारतीय जनता पार्टी का ही एक बूथ अध्यक्ष है।ग्यारह हजार का वादा कर एक हजार रुपया थमाने पर कार्यक्रम के आयोजक नाराज हो गए। आयोजकों ने विधायक धनन्जय कन्नौजिया को उनका एक हजार रुपया लौटा दिया। साथ ही कार्यक्रम में दिया गया स्मृति चिन्ह भी वापस ले लिया। आयोजकों ने इस बात की घोषणा बाकायदे मंच पर चढ़ कर दिया। आयोजकों द्वारा मंच से दी गई इस जानकारी का वीडियो सोशल मीडिया पर रायता फैला रहा है।

Continue Reading

featured

बलिया: भाजपा विधायक ने ऐसा क्या कर दिया कि आयोजकों ने स्मृति चिन्ह ही वापस ले लिया!

Published

on

बलिया जिले के बेल्थरारोड में भाजपा विधायक धनन्जय कन्नौजिया को दिया गया सम्मान वापस ले लिया गया। बेल्थरारोड के पूरा गांव में आयोजित एक राम कथा कार्यक्रम में विधायक धनन्जय कन्नौजिया को दिया गया स्मृति चिन्ह वापस ले लिया गया। धनन्जय कन्नौजिया ने राम कथा कार्यक्रम में ग्यारह हजार रुपए की सहयोग राशि देने का ऐलान किया था। लेकिन जब पैसा देने की बारी आई तो विधायक ने सिर्फ एक हजार रुपए ही दिए।

ग्यारह हजार का वादा कर एक हजार रुपया थमाने पर कार्यक्रम के आयोजक नाराज हो गए। आयोजकों ने विधायक धनन्जय कन्नौजिया को उनका एक हजार रुपया लौटा दिया। साथ ही कार्यक्रम में दिया गया स्मृति चिन्ह भी वापस ले लिया। आयोजकों ने इस बात की घोषणा बाकायदे मंच पर चढ़ कर दिया। आयोजकों द्वारा मंच से दी गई इस जानकारी का वीडियो सोशल मीडिया पर रायता फैला रहा है।

दिलचस्प बात यह है कि राम कथा कार्यक्रम का आयोजक खुद भारतीय जनता पार्टी का ही एक बूथ अध्यक्ष है। बेल्थरारोड के पूरा और पतोई गांव द्वारा हर साल नवरात्र के समय राम कथा कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। गांव के ही एक दुर्गा मंदिर पर इस साल भी यह आयोजन किया गया था। राम कथा कार्यक्रम में बेल्थरारोड से भाजपा विधायक धनन्जय कन्नौजिया को बतौर अतिथि बुलाया गया था। कार्यक्रम स्थल पर मंच से धनन्जय कन्नौजिया ने ग्यरह हजार की सहयोग राशि देने की घोषणा की। लेकिन बाद में पलट गए।

इस पूरे मामले पर आयोजन समीति के अध्यक्ष विनय गुप्ता ने बताया कि विधायक जी “चुनाव जीतने के बाद इस मंदिर पर आकर विवाह घर, सोलर लाइट और हैंडपंप देने की बात कह गए थे। लेकिन आज तक उन्हें अपनी बात याद नहीं आई। सिर्फ आश्वासन ही देते रहे हैं।” धनन्जय कन्नौजिया को लेकर क्षेत्र की जनता पहले ही नाराज चल रही है। अपने वादे से पलट जाने की आदत से धनन्जय कन्नौजिया ने बेल्थरारोड के लोगों को आतुर कर दिया है। उत्तर प्रदेश में जब विधानसभा का चुनाव नजदीक है तब ये कारनामे उन्हें भारी पड़ सकते हैं।

Continue Reading

बलिया

दौड़ते-दौड़ते अचानक पानी भरे गड्ढे में गिरा युवक, मौत

Published

on

बलिया में सड़कों किनारे पानी भरे गड्ढे लोगों की जिंदगियां छीन रहे हैं। इन पानी भरे गड्ढों में गिरने से कई लोगों की जान चली गई है। ताजा मामला सुखपुरा थाना क्षेत्र से सामने आया जहां एक युवक सड़क किनारे पानी भरे गड्ढे में गिर गया। मौके पर ही युवक की मौत हो गई। घटना से पूरे इलाके में कोहराम मच गया।

बताया जा रहा है कि सुखपुरा थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत शिवपुर के महुई गांव निवासी राजेन्द्र राजभर का इकलौता पुत्र 23 वर्षीय राकेश रोजाना की तरह मंगलवार की शाम करीब 5 बजे दौड़ने के लिए गया था। उसके कई साथी भी साथ में थे। वे दौड़ते हुए राकेश से आगे निकल गए।

तभी अचानक राकेश अचेत होकर पानी भरे गड्ढे में लुढ़क गया। थोड़ी देर बार जब साथ दौड़ते हुए वापस लौटेे तो उन्हें पानी में राकेश डूबा दिखाई दिए। आनन-फानन में साथियों ने राकेस को बाहर निकाला और पेट के बल लेटाकर पानी निकालने का प्रयास किया। राकेश के परिजनों को सूचना दी।

युवक को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। ग्रामीणों के अनुसार करीब 16 वर्ष पहले राजेन्द्र के एक अन्य बेटे की मौत सर्पदंश से हो गयी थी। दूसरे बेटे राकेश की भी मौत से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया है। परिवारवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!