Connect with us

बलिया स्पेशल

पूर्व BJP नेता को प्रत्याशी बनाने पर बड़ी कारवाई, बलिया जिला अध्यक्ष निष्कासित, यूनिट भंग

Published

on

बलिया। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) पार्टी ने फेफना विधानसभा क्षेत्र से पूर्व बीजेपी नेता शमीम अंसारी उर्फ भोला को प्रत्याशी घोषित करने की वजह साफ कर दी है। AIMIM ने बलिया जिला अध्यक्ष अमानुल हक को जिम्मेदार ठहराया है। इतना ही नहीं अमानुल हक पर AIMIM ने कार्रवाई भी की है। अमानुल हक को पार्टी से 5 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है। साथ ही जनपद बलिया की जिला मुख्य ईकाई को भी तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है। अब जल्द ही नई कमेटी का गठन किया जाएगा।

बता दें AIMIM के प्रत्याशियों की जारी लिस्ट में फेफना विधानसभा क्षेत्र से पूर्व बीजेपी नेता शमीम अंसारी उर्फ भोला का नाम शामिल था। AIMIM से पूर्व बीजेपी नेता का नाम सामने आते ही सियासी पारा चढ़ गया तरह-तरह के सवाल उठने लगे। हालांकि माहौल गर्माता देख AIMIM ने एक घंटे के अंदर ही पूर्व बीजेपी नेता शमीम अंसारी उर्फ भोला का टिकट काट दिया गया। जिसके बाद बलिया खबर से बात करते हुए बलिया, गाजीपुर और मऊ के प्रभारी शमीम अहमद खान ने टिकट कटने की जानकारी तो दी लेकिन टिकट देने के सवाल पर चुप रहे।

वहीं अब AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने प्रेस नोट जारी कर वजह साफ कर दी है। जिसमें बताया गया कि जिला अध्यक्ष अमानुल हक की अज्ञानता की वजह से पूर्व बीजेपी नेता शमीम अंसारी उर्फ भोला का नाम उम्मीदवारों की लिस्ट में घोषित हो था। जिसे रद्द कर दिया गया है। साथ ही इतनी चूक के लिए अमानुल हक को पार्टी से 5 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। बलिया की जिला मुख्य ईकाई को भी तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया गया है। अब जल्द ही कई कमेटी का गठन किया जाएगा।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

बड़ी संख्या में अफसरों के ट्रांसफर, बलिया के नए मुख्य राजस्व अधिकारी होंगे अनिल अग्निहोत्री

Published

on

बलिया। यूपी में कई अधिकारियों को इधर से उधर किया गया है। ऐसे में बलिया के मुख्य राजस्व अधिकारी को भी बदला गया है। अब बलिया के नए मुख्य राजस्व अधिकारी अनिल कुमार अग्निहोत्री होंगे। अनिल कुमार इससे पहले जौनपुर में नगर मजिस्ट्रेट थे। जिन्हें अब बलिया की जिम्मेदारी दी गई है।

इसके अलावा वर्तमान मुख्य राजस्व अधिकारी विवेक कुमार श्रीवास्तव को लोक सेवा आयोग का उप सचिव बनाया गया है। बता दें प्रदेश में 59 अधिकारियों को बदला को गया है। बलिया में सिर्फ मुख्य राजस्व अधिकारी नहीं बदले गए बल्कि उपजिलाधिकारी राहुल कुमार यादव को भी हटाया गया है। उन्हें सहकारी चीनी मिल संघ/ निगम लखनऊ का प्रधान प्रबंधक बनाया गया है।

प्रदेश में कई विभागों में फेरबदल किया गया है। बलिया में अब नए मुख्य राजस्व अधिकारी अनिल कुमार अग्निहोत्री होंगे। जो कि बलिया से पहले जौनपुर में तैनात थे। अब बलिया संभालने वाले हैं।  वर्ष 2014 बैच के पीसीएस अधिकारी अनिल अग्निहोत्री मूल रुप से हरदोई के निवासी हैं। वह कानपुर नगर में अपर नगर मजिस्ट्रेट के पद तैनात थे। 

Continue Reading

बलिया स्पेशल

बलिया डीएम ने इस ब्लाक में गबन की धनराशि वसूलने का दिया आदेश

Published

on

बलिया: विकास खंड पंदह के सहुलाई में जांच के दौरान धन की अनियमितता साबित होने के बाद जिला मजिस्ट्रेट सौम्या अग्रवाल ने रिकवरी का आदेश दिया है। उन्होंने तत्कालीन ग्राम प्रधान देवेंद्र चौहान, तत्कालीन सचिव मृत्युंजय राय व तकनीकी सहायक वीरेंद्र यादव से बराबर-बराबर धनराशि की वसूली 15 दिन के अंदर करने को कहा है। ग्राम पंचायत के मनोज कुमार श्रीवास्तव व ईश्वरचन्द तिवारी आदि ने जुलाई, 2019 में ग्राम पंचायत में कराये गये विकास कार्यों में की गयी अनियमितता की शिकायत नोटरी शपथ पत्र पर देकर की थी।

तब तीन सदस्यीय टीम बनाकर जांच कराई गई थी। इसके बाद अन्तिम जांच इसी वर्ष अप्रैल में जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी से कराई गई। जांच में 9,932 रुपये की वित्तीय अनियमितता/गबन किया जाना पाया गया है। इसके बाद जिला मजिस्ट्रेट सौम्या अग्रवाल ने तीनों से इस धनराशि की वसूली करने का आदेश जारी किया।

Continue Reading

featured

बलिया DM ने किया कटानरोधी कार्यों का निरक्षण, कहा दो दिन में काम पूरा नहीं हुआ तो होगी FIR

Published

on

बलिया: जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने बुधवार को गंगा व टोंस नदी के किनारे हो रहे कटानरोधी कार्यों का निरीक्षण किया। रामपुर चिट में टोंस नदी किनारे हो रहे कार्य की रफ्तार काफी धीमी होने पर उन्होंने नाराजगी जताई। संबंधित ठेकेदार को चेतावनी दी कि अगर दो दिन के अंदर अपेक्षित कार्य पूरा नहीं हुआ तो 20 लाख रुपए का जुर्माना और मुकदमा दर्ज कराने की कार्रवाई होगी। दूबेछपरा में तीन परियोजनाओं का निरीक्षण कर कार्य में तेजी बनाए रखने के निर्देश दिए।जिलाधिकारी रामपुर चिट में टोंस नदी के किनारे हो रहे कटानरोधी कार्य की पूरी जानकारी ली। पाया कि कार्य की रफ्तार जो होनी चाहिए, वह नहीं है। ठेकेदार ने मैटेरियल की कमी बताई, जिस पर डीएम और नाराज हो गयीं। उन्होंने कहा कि नदी में पानी कभी भी बढ़ सकता है, ऐसे में इस समय कार्य में तेजी की सबसे अधिक आवश्यकता है। चेतावनी देते हुए कहा कि अगर दो दिन के अंदर अच्छी अपेक्षित कार्य नहीं दिखा तो 20 रुपए का जुर्माना लगेगा और मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

बाढ़ खण्ड के सम्बन्धित एई व जेई की भी क्लास लगाई। इसके बाद जिलाधिकारी दुबेछपरा पहुंची और वहां की तीन परियोजनाओं का निरीक्षण किया। प्रोजेक्ट की पूरी जानकारी ली और कार्य में तेजी बनाए रखने का निर्देश दिया।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!