बलिया के इस नौजवान नेता को कांग्रेस ने बनाया प्रदेश सचिव

0

लखनऊ डेस्क – यूपी कांग्रेस में बड़ा फेरबदल किया गया है. एक तरफ जहाँ स्टेट प्रेसिडेंट के पद से राज बब्बर को हटाकर कुशीनगर से विधायक अजय कुमार लल्लू को लाया गया है, वहीँ दूसरी तरफ रिहाई मंच से जुड़े शाहनवाज़ आलम को भी प्रदेश सचिव बनाया गया है. आपको बता दें की आलम शाहनवाज़ बलिया के गाँव बहेरी के रहने वाले हैं. उनके पिता होमेओपेथी के सीनियर डॉक्टर हैं.

शाहनवाज़ आलम इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र राजनीति के दौरान ही तमाम जनवादी मुद्दों को बेबाकी से उठाने के लिए जाने जाते थे और सत्ता में बैठे लोगों को लगातार कटघरे में खड़ा करते रहे हैं. रिहाई मंच से जुड़कर उन्होंने तमाम ऐसे बेगुनाह लोगों की आवाज़ उठाई, जिन्हें किसी वजह से गिरफ्तार किया था. आज इस मुकाम तक पहुँचने वाले शाहनवाज़ आलम का इतिहास संघर्ष भरा रहा है.

सामाजिक और राजनीतिक आंदोलनों कि अगुवाई करने को लेकर वह बीस बार जेल जा चुके हैं. इसके अलावा उनके ऊपर इस तरह के दर्जनों मुकदमें दर्ज हैं. पत्रकारिता की दुनिया से उन्होंने सियासत में कदम रखा और फिर मजलूमों की आवाज़ बनें. कांग्रेस में शामिल होने पर शाहनवाज़ आलम ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था की एक साल पहले उनके पास फोन आया था. कहा गया की राहुल गाँधी आपसे मिलना चाहते हैं. उन्होंने कहा की फोन पर कहा गया था कि राहुल गाँधी हमसे मिलकर ज़मीनी हालात को समझना चाहते हैं.

उन्होंने आगे कहा कि एक घंटे की मुलाकात के दौरान राहुल गाँधी से कई मुद्दों पर बात हुई. इसके बाद उसी दिन शाम में एक बार फिर हमें बुलाया गया है. इस दौरान राहुल ने हमारी बातें सुनीं. राहुल गाँधी ने कहा कि अगर आप कांग्रेस की आलोचना करना चाहते हैं तो पार्टी में शामिल होकर करिए. शाहनवाज़ आलम का कहना है कि राहुल यूपी पर काफी ध्यान दे रहे हैं और युवाओं को पार्टी का हिस्सा बनाना चाहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here