Connect with us

featured

विधानसभा’वार: फेफना में उपेंद्र तिवारी के पहली बार जीतने की कहानी जान लीजिए

Published

on

विधानसभा- फेफना
वर्ष- 2012
विधायक- उपेन्द्र तिवारी (भारतीय जनता पार्टी)

विधानसभा’वार में जिले की विधानसभा फेफना की चर्चा करेंगे। सीट संख्या है 360 । साल 2012 के आंकड़ों के मुताबिक विधानसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 3 लाख 05 हजार 631 रही, जिसमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 1 लाख 69 हजार 337  जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 1 लाख 36 हजार 279 है। इस सीट को भी 2008 में ही स्वीकृति मिली।16वीं विधानसभा चुनाव में बीजेपी के उपेंद्र तिवारी ने समाजवादी पार्टी के अंबिका चौधरी को हरा अपना परचम लहराया था। एसबीएसपी के संग्राम सिंह यादव तीसरे स्थान पर रहे थे। जबकि बहुजन समाज पार्टी के शिवानंद सिंह को चौथे स्थान पर। परिणाम के अनुसार भारतीय जनता पार्टी से उपेंद्र तिवारी को 51,151 वोट प्राप्त हुए और समाजवादी के कद्दावर नेता कहे जाने वाले अंबिका चौधरी को 43,764 वोट मिले।Upendra Tiwari Brother Wife Allegedly Illegal Appointment And Payment - योगी के मंत्री उपेन्द्र तिवारी की भाभी को अम्बिका चौधरी के भाई ने कोर्ट में घसीटा, लगाया गलत ...क्या रही है फेफना की राजनीतिक स्थिति

फेफना विधानसभा में सपा के उदय होने के बाद 1993 से लेकर 2012 तक 4 बार अंबिका चौधरी का कब्जा रहा। फेफना विधानसभा को पहले कोपाचीट के नाम से जाना जाता था. इस क्षेत्र से सबसे अधिक बार विधायक का पद अपने नाम करने का ख़िताब अम्बिका चौधरी को जाता रहा है परन्तु जब इस क्षेत्र के नाम को कोपाचीट से फेफना में परिवर्तित कर दिया गया तबसे क्षेत्र से लगातार चार बार से विजय प्राप्त कर रहे अम्बिका अपने गांव कपूरी फेफना के नाम पर ही निर्मित फेफना क्षेत्र से चुनाव में असफल हो गये। 

सीट के तत्कालीन धुरंधर का क्या है इतिहास

तत्कालीन विधायक उपेन्द्र तिवारी उच्च शिक्षा के पश्चात स्नातक करने पहुंचे शहर इलाहाबाद। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में इनका दाखिला हुआ। विश्वविद्यालय में पढ़ाई के दौरान ही इन्होंने राजनीति का ककहरा सीखा। उसी दौरान विश्वविद्यालय के छात्र संघ में इनकी उपस्थिती रही। डेलीहंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक छात्रों से जुड़े मुद्दों पर मुखर रहने वाले उपेंद्र तिवारी ने 1996 से 1999 तक का समय नैनी जेल(Naini Jail) इलाहाबाद में कैदी के रुप में काटा। जेल में उपेंद्र राजनीतिक बंदी थे। जहां इन्होंने अपने जीवन के तीन साल काट दिये। भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के सदस्य के रूप में इन्होंने कई साल तक मेहनत किया।

Samajwadi Party Comment on Upendra Tiwari BJP Yogi Sarkar | उपेंद्र तिवारी के खिलाफ अभद्र नारेबाजी करने वाले 5 सपा कार्यकर्ता गिरफ्तार | Hindi News, राष्ट्रइनकी मेहनत से प्रभावित पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने इन्हें 2007 के उत्तर प्रदेश विधानसभा के आम चुनाव में फेफना के विधानसभा से टिकट दे दिया। नतीजा इनके पक्ष में नहीं रहा और और तिवारी अपने क्षेत्र के सपा के प्रत्याशी और वरिष्ठ सपा नेता अंबिका चौधरी से चुनाव हार गये। भाजपा ने इस दौरान इन्हें बलिया जनपद का पार्टी का जिलाध्यक्ष बना दिया। जहां ये साल 2008 से 2011 तक इस पद पर बने रहे। फिर से अगले साल 2012 के विधानसभा के चुनाव आ गये। पार्टी ने फिर से उपेन्द्र को उम्मीदवार बना दिया। इस बार के बदले राजनीतिक समीकरण में राज्य में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी पर उपेंद्र ने विधानसभा के चुनाव में जीत का पताका लहरा दिया। 

क्या है मुख्य चुनावी मुद्दा

कभी शिक्षा क्षेत्र में पूरे प्रदेश में अपना अलग मुकाम रखने वाला यह विधानसभा क्षेत्र आज एक अदद कन्या इंका व डिग्री कालेज के लिए तरस कर रह गया है। क्षेत्र के दर्जनों गांवों में स्थापित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बदहाली के शिकार हैं। विधानसभा क्षेत्र में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बनाने की वर्षों की पुरानी मांग धीरे-धीरे धूमिल पड़ती जा रही है। गाँव में पानी निकास की समस्या सुरसा के मुंह के समान दिन प्रतिदिन विकराल बनती जा रही है। खस्ताहाल सड़कों व अतिक्रमण के चलते आवागमन में जनता बहुत परेशानी होती रही।


बलिया खबर के पाठकों, ये है हमारा नया कार्यक्रम विधानसभा’वार । इस कार्यक्रम में हम जिले की सभी विधानसभाओं पर  2007 से लेकर अब तक के सभी चुनावों पर विस्तृत रिपोर्ट करेंगे। इसके माध्यम से तत्कालीन चुनावी परिस्थितियों, स्थानीय मुद्दों और विजयी प्रत्याशी के राजनीतिक जीवन का ब्योरा देंगे। आप अपने सुझाव balliakhabar@gmail.com पर भेज सकते हैं।


 

featured

एक्शन में बलिया CDO, कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल की वार्डन की लगाई क्लास!

Published

on

बलिया में प्रशासन लगातार अलर्ट मोड पर नजर आ रहा है। जहां मुख्य विकास अधिकारी प्रवीण कुमार वर्मा ने सोमवार को सुखपुरा स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान स्कूल में छात्राओं की कम उपस्थिति और साफ-सफाई के साथ ही फाइलों के रख-रखाल को लेकर नाराजगी जताई।
उन्होंने वार्डन पुष्पा गुप्ता को जमकर फटकारा। इतना ही नहीं मुख्य विकास अधिकारी प्रवीण कुमार वर्मा ने फटकार लगाते हुए खंड शिक्षा अधिकारी से कारण बताओ नोटिस जारी करने को भी कहा। इसके अलावा सीडीओ ने पूर्व माध्यमिक स्कूल का भी निरीक्षण किया। हालांकि यहां बच्चों की उपस्थिति और साफ-सफाई को लेकर संतोष जताया।

मुख्य विकास अधिकारी सुखपुरा में बन रहे कूड़ा निस्तारण केंद्र पर भी गए। ग्राम पंचायत अधिकारी भरत सिंह को मानक के अनुसार कार्य करने का निर्देश दिया। इस दौरान जिला समन्यवक(निर्माण) सत्येंद्र राय, एसपीआरओ श्रवण कुमार आदि मौजूद रहे।

Continue Reading

featured

भरौली-बक्सर के बीच बन रहे पुल के दोनों छोर पर होगा पार्क और कार्मशियल प्वाइंट्स का निर्माण

Published

on

यूपी और बिहार को जोड़ने के लिए भरौली-बक्सर के बीच गंगा नदी पर पुल का निर्माण जारी है। अब कहा जा रहा है कि दोनों छोरों पर पार्क विकसित करने के साथ ही कामर्शियल प्वाइंट भी बनाए जाएंगे।

इसके लिए बिहार के बक्सर स्थित चौराहा पर काम शुरु हो गया है। वहीं भरौली में नए पार्क के किनारे कामर्शियल प्वाइंट्स का निर्माण होगा। दुकानों का निर्माण होने के बाद इनका आवंटन किया जाएगा। इधर बिहार और यूपी को सड़क से कनेक्ट करने की कवायद भी जारी है। गंगा नदी पर पुल बनने से बिहार ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे से जुड़ जाएगा। बिहार को फोरलेन लिंक रोड के जरिए भरौली होते हुए ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे के करीमुद्दीनपुर के उत्तमनगर स्थित इंटर एक्सचेंज से जोड़ा जाएगा।

पुल तक एप्रोच निर्माण का कार्य भी तेजी से चल रहा है। पूर्व के बने पुल तक की सड़क को तोड़ने व फोरलेन एप्रोच बनाने का कार्य भी शुरू हो चुका है। सीमावर्ती क्षेत्र में लिंक फोरलेन निर्माण के लिए जमीनों के अधिग्रहण की कार्रवाई शुरू है। इसके अलावा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे का निर्माण गाजीपुर के जंगीपुर से बिहार प्रांत स्थित छपरा के रिविलगंज तक होना है। कुल 177 किलोमीटर फोरलेन सड़क है।

करीब तीन माह पहले परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने भरौली-हैदरिया फोरलेन लिंक रोड निर्माण में संशोधन करते हुए बक्सर स्थित फोरलेन सड़क को भरौली स्थित गंगा पुल पार कर करीमुद्दीनपुर के उत्तमनगर में पहले से निर्धारित इंटरचेंज से जोड़ने की स्वीकृति दे दी। बक्सर एनएचएआई अभियंता एके तिवारी का कहना है कि पूर्व के बने पार्क के स्थान पर नया पार्क यूपी-बिहार के दोनों सिरे पर बनना है। पार्क के पास सड़क किनारे दुकानों का भी निर्माण होगा, जिसका आवंटन होगा। बक्सर में यह कार्य शुरू हो चुका है।

Continue Reading

featured

बलिया में राजस्व रक्षक से मारपीट मारपीट से गुस्साए कर्मचारी संघ ने कार्य बहिष्कार कर किया प्रदर्शन

Published

on

बलिया के कलेक्ट्रेट स्थित राजस्व अभिलेखागार के कर्मचारी रविशंकर श्रीवास्तव के साथ मारपीट को लेकर कर्मचारियों का आक्रोश फूट पड़ा। मिनिस्ट्रीयल कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ के आव्हान पर कर्मचारियों ने कार्य का बहिष्कार कर दिया और धरना प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने मारपीट करने वाले अधिवक्ताओं की गिरफ्तारी की मांग की।

जिलाधिकारी को पत्रक सौंपते हुए कर्मचारियों ने शिकायत करते हुए बताया कि राजस्व अभिलेख रक्षक रविशंकर श्रीवास्तव शुक्रवार को अपने पटल का कार्य सम्पादित कर रहे थे। तभी अधिवक्ता कृपाशंकर यादव आए और रविशंकर के साथ मारपीट करते हुए लहूलुहान कर दिया। जिसके बाद रविशंकर ने मामले की शिकायत की। जिस पर कर्मचारी नेताओं ने रविशंकर की प्राथमिकी दर्ज करने और आरोपी अधिवक्ता कृपाशंकर यादव को गिरफ्तार करने की मांग की।साथ ही कहा कि अधिवक्ता कृपाशंकर यादव का रजिस्ट्रेशन निरस्तीकरण की कार्यवाही के लिए बार कौंसिल आफ उत्तर प्रदेश इलाहाबाद को जिलाधिकारी की अनुशंसा से पत्र प्रेषित किया जाय। कृपाशंकर यादव शासकीय कार्य में बाधा डालने एवं कलेक्ट्रेट कार्यालयों में अपने साथियों के साथ भय का महौल पैदा करने के लिए उप्र गुंडा निवारण अधिनयम/ गिरोहबन्द अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाए। राजस्व अभिलेखागार, न्यायिक अभिलेखागार एवं कलेक्ट्रेट सहित तहसीलों में कार्यरत कर्मचारियों की सुरक्षा की समुचित व्यवस्था करायी जाय।

इस अवसर पर सत्या सिंह, वेदप्रकाश पाण्डेय, सुशील कुमार पांडेय कान्हजी, अखिलेश राय, विजेन्द्र सिंह, सुशील त्रिपाठी, अनिल सिंह, अवनीश चन्द्र पाण्डेय, भारत भूषण मिश्रा, विजयपाल सिंह, संजय सिंह, बृजेश श्रीवास्तव, बृजेश सिंह, अरविंद कुमार शुक्ला, प्रो. निशा राघव, निखिलेंद्र मिश्रा, राजमंगल यादव, राजेश सिंह, अजय पाण्डेय, मृगेन्द्र सिंह, मुकेश उपाध्याय, आदि थे। अध्यक्षता कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ के अध्यक्ष कौशल उपाध्याय व संचालन मंत्री संजय कुमार भारती ने किया।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!