Connect with us

बांसडीह

बलिया में सुभासपा को झटका, पूर्व मंत्री के पौत्र पुनीत पाठक कांग्रेस में होंगे शामिल

Published

on

बलिया में इन दिनों सियासी उलटफेर का दौर चल रहा है। नेता एक पार्टी से दूसरी पार्टी का झंडा बदल रहे हैं। 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सभी नेताओं और राजनीतिक दलों की कवायद अपने हक में सियासी गोटी बैठाने की है। खबर है कि आने वाले दिनों में बलिया के बांसडीह से सुहेलदेव समाज पार्टी के नेता रहे पुनीत पाठक कांग्रेस में शामिल होने वाले हैं।

पुनीत पाठक ने बुधवार यानी आज सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के सभी पदों से त्यागपत्र दे दिया है। पुनीत पाठक ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है कि “सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के सभी पदों से तत्काल रूप से त्यागपत्र दे रहा हूं। पिछले सालों में पार्टी कार्यकर्ताओं और शीर्ष नेतृत्व श्री ओमप्रकाश राजभर, श्री अरविंद राजभर तथा अरुण राजभर द्वारा दिए गए सम्मान और प्रेम का आभारी रहूंगा।”

उन्होंने सुभासपा छोड़ने की वजह बताते हुए लिखा है कि “कुछ मुद्दों पर असहमति को देखते हुए अब आगे बढ़ने का समय आ गया है।” बलिया खबर के साथ बातचीत में पुनीत पाठक ने कहा कि “हम आने वाले 26 नवंबर को कांग्रेस ज्वाइन करेंगे। लखनऊ में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मौजूदगी में हम कांग्रेस में शामिल होंगे।”

पुनीत पाठक ने बताया कि लखनऊ में वो अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस का हाथ थामेंगे। कांग्रेस की ओर से क्या जिम्मेदारी मिलेगी इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस बारे में अभी कोई चर्चा नहीं हुई है। लेकिन जो भी जिम्मेदारी कांग्रेस पार्टी हमे सौंपेगी उसे निभाने के लिए तैयार हैं।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा का चुनाव मुहाने पर आ चुका है। कांग्रेस युवाओं को अपने साथ जोड़ने की कोशिश में लगी है। पुनीत पाठक उसी कोशिश के परिणाम हैं। बलिया में सात विधानसभा सीटें हैं। फिलहाल एक भी सीट पर कांग्रेस का विधायक नहीं है। जिले में पार्टी का संगठन खड़ा करने की जुगत चल रही है। देखना होगा कि पुनीत पाठक को बलिया में किस भूमिका में कांग्रेस सामने लाती है।

बता दें कि पुनीत पाठक दिग्गज कांग्रेसी नेता रहे बच्चा पाठक के पौत्र हैं। बच्चा पाठक वही कांग्रेसी नेता थे जो 1977 में कांग्रेस विरोधी लहर में भी बलिया से चुनाव जीत गए थे। बच्चा पाठक बांसडीह विधानसभा सीट से सात बार विधायक रह चुके थे। साथ उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार रहते हुए दो बार मंत्री भी बनाए गए थे। अब उनके पौत्र कांग्रेस में आ रहे हैं।

Advertisement src="https://kbuccket.sgp1.digitaloceanspaces.com/balliakhabar/2022/10/12114756/Mantan.jpg" alt="" width="1138" height="1280" class="alignnone size-full wp-image-50647" />  
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

featured

हृदय नारायण सिंह हत्याकांड: बलिया पुलिस के हाथ अब तक खाली, कॉल डिटेल से मिलेगा सुराग !

Published

on

बलिया। बलिया के सुखपुरा थाना क्षेत्र के भलुही के पूर्व प्रधान और केंद्रीय उपभोक्ता भंडार के अध्यक्ष हृदय नारायण सिंह की हत्या की गुत्थी अब तक नहीं सुलझ पाई है। हत्याकांड का खुलासा करना पुलिस के लिए चुनौती बन गया है। एक ओर जहां 3 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं तो वहीं दूसरी ओर खुलासा करने का दबाव बन रहा है।

फोन खोलेगा राज! – मामले में पुलिस संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। साथ ही पूर्व प्रधान के मोबाइल की कॉल डिटेल का भी सहारा लिया जा रहा है। जांच के लिए कई टीमों को लगाया गया है और उन्हें टास्क भी दिए गए हैं। हत्याकांड की गंभीरता को देखते हुए एसपी राज करन नय्यर खुद निगरानी कर रहे हैं।पुलिस पर बढ़ा दबाव– सोमवार रात हुए हत्याकांड का खुलासा करने का पुलिस पर दबाव बढ़ रहा है। सांसद विधायक, पूर्व मंत्री आदि ने भी मौके पर पहुंचकर पुलिस अधिकारियों से बात कर जल्द खुलासे को कहा है। ऐसे में पुलिस पर दबाव भी है। यही कारण है कि पुलिस की कई टीमों को अलग-अलग टास्क देकर तहकीकात में लगाया गया है। पूरे मामले की मॉनिटरिंग पुलिस के आला अधिकारी कर रहे है।

गैरजनपद से बुलाए जवान – सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हत्याकांड की तह तक जाने के लिए पूर्व में सुखपुरा थाने पर तैनात रह चुके पुलिस के जवानों को भी गैरजनपद से बुलाया गया है। भलुहीं गांव में वर्ष 1992 और 2003 में हुई वारदातों को खंगालने के साथ ही पुलिस का जोर निष्पक्ष जांच कर असली दोषियों तक पहुंचाने पर है।

Continue Reading

featured

पूर्व प्रधान की हत्या मामले में ताबड़तोड़ दबिश, बलिया पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग!

Published

on

बलिया: सुखपुरा के भलुही ग्राम के पूर्व प्रधान हृदय नारायण सिंह की हत्या मामले में बलिया पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ दबिश दे रही है। साथ ही मामले में कई संदिग्धों से पूछताछ भी की जा रही है।

पुलिस का कहना है कि हर बिंदुओं की जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपित कानून के शिकंजे में होंगे। पूर्व प्रधान के बड़े पुत्र इंद्रपाल सिंह सोनू ने सुखपुरा पुलिस को तहरीर दी है। संदिग्धों में पूर्व प्रधान के करीबियों के साथ एक महिला भी शामिल है। गांव में एहतियातन पुलिस बल की तैनाती कर दी गई। है। एसओजी, सर्विलांस, फोरेंसिक सहित चार टीमें तफ्तीश में जुटी हैं।

गांव में बुधवार को सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर देर शाम तक थाने पर मौजूद रहकर जांच-पड़ताल करते रहे। एसपी ने कहा कि हर पहलू की जांच की जा रही है। पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। जल्द ही घटना का अनावरण किया जाएगा।

Continue Reading

बांसडीह

बलिया में पूर्व प्रधान की हत्या, मौके पहुंचे एसपी, जांच में जुटी पुलिस

Published

on

बलिया में मंगलवार को पूर्व प्रधान की हत्या कर दी गई। घटनास्थल पर पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर के अलावा बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद है।  जानकारी के मुताबिक सुखपुरा थाना क्षेत्र के भलुही गांव में बदमाशों ने पूर्व प्रधान हृदयनारायण सिंह (66) की हत्या कर दी है। पूर्व प्रधान बरामदे में सोये थे।

मंगलवार की सुबह उनकी हत्या की सूचना मिलते ही इलाके में हड़कम्प मच गया। लोगों की भारी भीड़ जुट गयी। घटनास्थल पर पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर के अलावा बड़ी संख्या में पुलिस बल पहुंच गया है। हर विन्दुओं पर जांच-पड़ताल में जारी है। फॉरेंसिक टीम भी पहुंची है।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!