Connect with us

featured

बलिया के किस विधायक पर कितने मुकदमे दर्ज, इन दो पर नहीं है कोई केस?

Published

on

बलिया। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने एक रिपोर्ट जारी की है। इन संस्थाओं ने प्रदेश के सभी वर्तमान विधायकों के आय से लेकर आपराधिक विवरणों तक का विश्लेषण किया है। इसमें बलिया जिले के भी सात विधायकों के नाम शामिल हैं। बलिया खबर ने एडीआर की रिपोर्ट के हवाले से जिले के विधायकों के आय पर रिपोर्ट की थी। अब बारी है अपराध का लेखाजोखा बताने की।

बलिया में सात विधानसभा सीटें हैं। बैरिया, फेफना, रसड़ा, बलिया सदर, सिकंदरपुर, बांसडीह। इन सात में से पांच सीटों पर सूबे की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के विधायक हैं। जबकि एक-एक सीट पर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के विधायक काबिज हैं। इन सात में से छह विधायकों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक बांसडीह से सपा के विधायक और उत्तर प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी पर एक भी मुकदमा दर्ज नहीं है। रिपोर्ट के अनुसार बेल्थरा रोड से भाजपा विधायक धनंजय कन्नौजिया के खिलाफ भी पुलिस के पास कोई मुकदमा दर्ज नहीं है।

ये भी पढ़ें-  उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा संपत्ति वाले टॉप-10 विधायकों में बलिया से कौन है शामिल?

सुरेंद्र सिंह– बैरिया सीट से भाजपा के सुरेंद्र सिंह विधायक हैं। सुरेंद्र सिंह के खिलाफ कुल आठ मुकदमे दर्ज हैं। इनमें आठ आईपीसी की गंभीर धाराओं में जबकि 15 अन्य धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। सभी मामले बैरिया पुलिस थाने में ही दर्ज किए गए हैं। सुरेंद्र सिंह पर दर्ज मुकदमे या तो पेंडिंग में हैं या फिर उच्च न्यायालय ने रोक लगा रखा है।

उपेंद्र तिवारी– फेफना विधानसभा सीट से उपेंद्र तिवारी भाजपा के विधायक हैं। उपेंद्र तिवारी के खिलाफ कुल छह मुकदमे दर्ज हैं। उनके खिलाफ 27 धाराएं लगाई गईं हैं। इनमें आईपीसी की गंभीर धाराएं हैं जबकि 21 अन्य धाराएं। उपेंद्र तिवारी के खिलाफ दो मामले फेफना पुलिस थाने में जबकि चार मामले इलाहाबाद के करनालगंज पुलिस थाने में दर्ज किए गए हैं।

उमा शंकर सिहं– बहुजन समाज पार्टी के उमा शंकर सिंह रसड़ा से विधायक हैं। उमा शंकर सिहं के खिलाफ आईपीसी की आठ धाराओं में एक मुकदमा दर्ज है। मामला भ्रष्टाचार से जुड़ा है। बलिया के कोतवाली नगर थाने में मुकदमा दर्ज है।

आनंद स्वरूप शुक्ला -बलिया सदर सीट से आनंद स्वरूप शुक्ला विधायक हैं। भाजपा विधायक आनंद स्वरूप शुक्ला के खिलाफ आईपीसी की दस धाराओं में दो मुकदमे दर्ज हैं। कोतवाली नगर थाना में दर्ज इन दोनों मामलों में तीन आईपीसी की गंभीर धाराएं लगाई गईं हैं। जबकि सात धाराएं अन्य हैं।

ये भी पढ़ें- सर्वे- बलिया के ये दो विधायक सबसे कम संपत्ति वाली लिस्ट में शामिल

संजय यादव– भाजपा के संजय यादव बलिया के सिकंदरपुर सीट से विधायक हैं। संजय यादव के खिलाफ आईपीसी की चार धाराओं में एक मुकदमा दर्ज है। सिकंदरपुर पुलिस थाने में दर्ज इस एक मुकदमे में संजय यादव पर कोई भी गंभीर धारा नहीं लगाई गई है।

बता दें कि इलेक्शन वॉच और एडीआर का विश्लेषण उम्मीदवारों की ओर से 2017 और उसके बाद हुए उपचुनावों में निर्वाचन आयोग को दिए गए विवरण पर आधारित है। इस विश्लेषण में उत्तर प्रदेश के सभी विधायकों पर दर्ज मुकदमों का पूरा विवरण में दिया गया है। इलेक्शन वॉच और एडीआर जनप्रतिनिधियों पर इस प्रकार के विश्लेषण मतदाताओं को जागरूक करने के लिए करता है। ताकि अपना वोट देते हुए मतदाता अपने क्षेत्र के उम्मीदवारों के बारे में सूचनाओं के आधार पर निर्णय ले सकें।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

featured

बलिया में दर्दनाक सड़क हादसा, 4 की मौत

Published

on

बलिया में सड़कों पर हादसों में लगातार वृद्धि हो रही है। आज मंगलवार सुबह भी जिले के नगरा थाना क्षेत्र में ट्रैक्टर और बाइक टक्कर हो गई। शुरुआती जानकारी के मुताबिक हादसे में अबतक चार लोगों की मौत हो गई। वहीं  कुछ लोग गंभीर रूप से घायल भी बताए जा रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक नगरा थाना क्षेत्र के गोठाई तिलकारी गांव के पास सोमवार की देर रात ट्रैक्टर और बाइक की आमने सामने जोरदार टक्कर हो गई। जिसमें चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को उपचार हेतु जिला चिकित्सालय पहुंचाया। वहीं शवों को पोस्टमार्टम हाउस में रखवाया। उधर घटना की सूचना मिलते ही मृतक के घरों में कोहराम मच गया। मृतक होने वालों में  थाना नगरा में खनवर  के वहीं एक  थाना हलधरपुर जनपद मऊ का बताया जा रहा है वहीं एक अज्ञात जिसका शिनाख्त नहीं हो सका है। जबकि एक घायल था, जिसको उपचार कर छोड़ दिया गया।

Continue Reading

featured

बलिया में लैब टेक्नीशियन, कांस्टेबल समेत 14 गिरफ्तार, कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में की थी सेंधमारी की कोशिश

Published

on

उत्तर प्रदेश आरक्षी भर्ती परीक्षा को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए बलिया पुलिस लगातार सक्रिय है। पुलिस लगातार संदिग्धों पर नजर रखी है। पुलिस ने अब तक भर्ती परीक्षा संबंधी 3 गैंग के 11 गैंग सदस्यों और 3 फर्जी अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अभियुक्तों में एक स्वास्थ्य विभाग में तैनात लैब टेक्नीशियन तथा एक वन विभाग में कार्यरत कांस्टेबल है।

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा को नकल विहिन कराने को लेकर बलिया पुलिस चौकन्ना है और लगातार सूचना संकलित कर कार्रवाई कर रही है। इसी क्रम में गुरुवार की शाम रसड़ा पुलिस ने सलीम अन्सारी पुत्र नईमुद्दीन अन्सारी को गिरफ्तार किया था। इसके पास से पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा से संबंधित अभ्यर्थियों के 16 प्रवेश पत्र, 12 मूल शैक्षिक प्रमाण पत्र, 04 स्वयं के फर्जी आधार कार्ड, एक मोबाइल स्क्रीन टच आई. फोन 13 एप्पल तथा एक लेखबद्ध डायरी बरामद किया गया था।

पहले फर्जी अभ्यर्थी की गिरफ्तारी गुलाब देवी स्नातकोत्तर महाविद्यालय बलिया से हुई, जहां भर्ती परीक्षा की दूसरी पाली की परीक्षा के दौरान अभ्यर्थी उपेन्द्र यादव के स्थान पर फर्जी तरीके से परीक्षा दे रहे मनीष कुमार यादव पुत्र बैज नाथ यादव को कूट रचित दस्तावेज के साथ हिरासत में लिया गया।

दूसरी गिरफ्तारी में पुलिस ने अभय कुमार श्रीवास्तव, विनित कुमार, रुकुमकेश पाल को हिरासत में लिया। ये सभी पुलिस भर्ती में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को परीक्षा पास कराने का झाँसा देकर वसूली करने एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार कर धनार्जन कर रहे थे।

तीसरी गिरफ्तारी के दौरान अमृतपाली अण्डर पास से कुल 05 अभियुक्त अमित यादव, विशाल यादव, अंकित यादव, निखिल यादव, गिरजाशंकर को गिरफ्तार किया गया। इनके कब्जे से एक वाकी टाकी सेट, दो इलेक्ट्रानिक डिवाइस, एक ब्लूटूथ, दो डिवाइस बैट्री, दो सिम, एक आधार कार्ड, एक एटीएम कार्ड, एक डीएल सहित नकद 1,00,220 रूपये बरामद किया गया।

पुलिस ने तीन गैंग के 11 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। प्रथम गैंग के सरगना अभय कुमार श्रीवास्तव है, जो यूपी के ही सुल्तानपुर स्वास्थ्य विभाग में बतौर लैब टेक्नीशियन तैनात है। इसके साथ विनीत कुमार राम और रुकुमेश पाल को दबोचा गया है। वहीं, दूसरा गैंग फतेहबहादुर राजभर का है। फतेहबहादुर राजभर मध्यप्रदेश के कटनी में वन विभाग का कांस्टेबल है। इसके साथ अजीत यादव और वरुण कुमार यादव को पकड़ा गया है। जबकि तीसरा गैंग गिरिजाशंकर का है। इसके साथ अमित यादव, विशाल यादव, अंकित यादव व निखिल यादव को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि इन गैंग्स के संपर्क में रहने वाले सभी अभ्यर्थी परीक्षा केंद्रों में विशेष रूप चेक किए जायेंगे। पुलिस की विशेष निगरानी इन पर रहेगी। अग्रिम विवेचना कर ऐसे अभ्यर्थियों के खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी।

Continue Reading

featured

बलिया: युवाओं के पास अग्निवीर बनने का सुनहरा मौका, कल से करें आवेदन

Published

on

उत्तरप्रदेश के युवाओं के पास भारतीय सेना में अग्निवीर बनने का सुनहरा मौका है। भारतीय सेना ने कल यानी 13 फरवरी से अग्निवीर भर्ती के लिए पंजीकरण प्रक्रिया शुरू करेगी। उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से 22 मार्च तक आवेदन कर सकते हैं। पंजीकरण के लिए न्यूनतम आयु साढ़े 17 साल और अधिकतम आयु 21 साल है।

छावनी क्षेत्र स्थित सेना भर्ती कार्यालय के निदेशक कर्नल ऋषि दूबे ने बताया कि अग्निवीर जनरल ड्यूटी, टेक्निकल, ट्रेड्स मैन (8वीं व 10वीं), और अग्निवीर ऑफिस असिस्टेंट / स्टोर कोपर टेक्निकल सहित अन्य पदों के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। इसके लिए मऊ, बलिया, आजमगढ़, देवरिया, गोरखपुर, गाजीपुर, भदोही, सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, जौनपुर और वाराणसी के इच्छुक युवा आवेदन कर सकते हैं।

नई भर्ती प्रक्रिया के तहत उम्मीदवारों को रैली में भाग लेने के लिए सीईई मेरिट सूची में उत्तीर्ण होना और स्थान सुरक्षित करना होगा। पंजीकरण प्रक्रिया की रूपरेखा बताने वाला एक विस्तृत वीडियो जेआईए वेबसाइट पर उपलब्ध है। उम्मीदवार इसकी सहायता से आवेदन कर सकते हैं। कर्नल दुबे ने कहा कि अधिक जानकारी और पंजीकरण के लिए वेबसाइट पर क्लिक करें या फिर वाराणसी स्थित सेना भर्ती कार्यालय से संपर्क करें।

Continue Reading

TRENDING STORIES

error: Content is protected !!